सिजेरियन डिलीवरी के बाद ऐसे रखें अपने स्वाथ्य और खान पान का ध्यान

cijarian

सिजेरियन डिलीवरी के बाद ऐसे रखें अपने स्वाथ्य और खान पान का ध्यान:-

आज के समय में ज्यादातर डिलीवरी सिजेरियन ही होती है, कई महिलाएं डिलीवरी के समय दर्द न सहने के कारण सिजेरियन डिलीवरी का चुनाव करती हैं, तो कुछ महिलाओ को प्रेगनेंसी के समय होने वाली कॉम्प्लीकेशन्स के कारण भी सिजेरियन डिलीवरी करवानी पड़ती है। नार्मल डिलीवरी से ज्यादा उन महिलाओ को देखभाल की जरुरत होती है, जो सिजेरियन डिलीवरी की मदद से बच्चे को जन्म देती है, क्योंकि इसमें महिलाओ को टांके ज्यादा लगते है, और साथ ही कमजोरी भी ज्यादा होती है।

महिलाओ को अपने खान पान से लेकर अपने स्वास्थ्य का भी ज्यादा ध्यान रखना पड़ता है, जैसे की महिलाओ को अपने घावों और टांको की ड्रेसिंग का ध्यान और साथ ही उनकी साफ़ सफाई का भी ध्यान रखना पड़ता है, ताकि इन्फेक्शन जैसी कोई समस्या न हो। इसके आलावा डॉक्टर भी सिजेरियन डिलीवरी वाली महिला को कम से कम दो महीने का बेड रेस्ट बताते है, ताकि उनके अंदर आई शरीरिक कमजोरी को अच्छे से वापिस लाया जा सकें, और साथ ही वो पूरी तरह से स्वस्थ हो सकें।

सिजेरियन डिलीवरी के दौरान कई बार घाव में खुजली या दर्द की परेशानी होने पर आपको अपने डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए, बिना डॉक्टर की राय के खुद ही किसी भी दवाई का सेवन नहीं करना चाहिए, कच्चा या ठंडा दूध नहीं पीना चाहिए, इसके अलावा दूध में आपको थोड़ी सी चाय पत्ती को मिला लेना चाहिए, इसके अलावा बच्चे को स्तनपान कराते समय अपने उठने बैठने का भी अच्छे से ध्यान रखना चाहिए, अपनी कमर को अच्छे से सहारा लगाकर और गोद में सिरहाना रख कर उसपर आराम से बच्चे को लिटाकर स्तनपान करवाना चाहिए।

ऐसी ही कुछ छोटी छोटी बातें है जिनका ध्यान महिला को सिजेरियन डिलीवरी के बाद रखना चाहिए, महिलाओ को भारी सामान नहीं उठाना चाहिए, झुककर कोई काम नहीं करना चाहिए, ज्यादा तले भुने का सेवन नहीं करना चाहिए, पेट की थोड़े समय के लिए मसाज नहीं करनी चाहिए, व्यायाम से परहेज रखना चाहिए, बच्चे को स्तनपान जरूर करवाना चाहिए, आइये और भी अन्य टिप्स हम आपको विस्तार से बताते है, जो सिजेरियन डिलीवरी के होने पर महिलाओ के लिए लाभदायक सिद्ध हो सकते है।

सिजेरियन डिलीवरी के बाद महिलाएं ऐसे रखें अपने खान पान और स्वास्थ्य का ध्यान:-

घावों का रखें ध्यान:-

सिजेरियन डिलीवरी के बाद महिलाओ के घाव ताजे होते है, इसीलिए उनकी ड्रेसिंग का महिला को ध्यान रखना चाहिए, उस दौरान यदि उनका ध्यान न रखा जाएँ, तो इन्फेक्शन की समस्या हो सकती है, इसके अलावा हो सकें तो महिलाओ को कुछ दिन तक नहाने से भी परहेज रखना चाहिए, महिलाओ को ज्यादा टाइट, रेशमी और चुभने वाले कपडे नहीं पहनने चाहिए। महिलाएं सूती कपडे पहन कर आराम से रह सकती है, और महिलाओ को डॉक्टरी की सलाह के अनुसार ड्रेसिंग भी करनी चाहिए।

उठने बैठने का रखें ध्यान:-

महिलाओ को सिजेरियन डिलीवरी के बाद उठने बैठने का भी ध्यान रखना चाहिए। महिलाओ को एक दम से उठ कर नहीं बैठना चाहिए, इनसे उनके घावों पर असर पड़ सकता है, महिलाओ को पहले लेटे लेटे हलके से करवट लेनी चाहिए, और फिर बैठना चाहिए। महिलाओ को जितना हो सकें ज्यादा देर के लिए नहीं बैठना चाहिए, सिर्फ स्तनपान कराते समय ही बैठना चाहिए, और सहारा लेकर बैठना चाहिए। और महिलाओ को एक दम से चलना भी नहीं चाहिए बल्कि धीरे धीरे और थोड़ा थोड़ा करके चलने की शुरुआत करनी चाहिए।

आहार का रखें ध्यान:-

शुरूआती दिनों में महिलाओ को बिना घी तेल का स्वास्थवर्धक और हल्का आहार लेना चाहिए। ज्यादा भारी और कार्बोनेट वाला खाना आपके लिए हानिकारक हो सकता है, और साथ ही इसका असर बच्चे के स्वास्थ्य पर भी पड़ सकता है। महिला को विटामिन सी से भरपूर आहार लेने चाहिए जैसे ब्रोकली, पालक, साग, हरी मटर, संतरा, पीच, बेर, आदि में खूब सारा विटामिन सी पाया जाता है, परंतु ज्यादा मसालो और भारी खाने से कम से कम एक महीने तक दूर रहना चाहिए, और आपको संतुलित आहार लेना चाहिए ये आपको जल्दी रिकवर करने में मदद करता है।

स्तनपान से न करें परहेज:-

कई महिलाएं स्तनपान से परहेज रखती है, परंतु ये बच्चे के साथ महिला के लिए भी बहुत से फायदे पहुचता है, यदि महिला डिलीवरी के बाद रोजाना बच्चे को स्तनपान करवाती है तो, गर्भाशय को वापिस सही स्थिति में आने में मदद मिलती है, और कई बार महिलाएं नहीं जानती है की स्तनपान कैसे करवाया जाएँ तो आइए में वो नर्स की मदद या अपने घर में से किसी बड़े की राय ले सकती है, और स्तनपान बच्चे को हर बीमारी से दूर रखने के साथ बच्चे के विकास में भी बहुत अहम रोल निभाता है, इसीलिए आपको स्तनपान जरूर करवाना चाहिए।

ज्यादा तले भुने आहार से रखें परहेज:-

सिजेरियन के बाद जरुरी होता है की महिलाएं जितना हो सकें, संतुलित आहार लें, ज्यादा मसाले, घी, व् तले हुए भोजन से परहेज रखें, क्योंकि इसके सेवन से टांको को नुक्सान हो सकता है, और साथ ही उन्हें ठीक होने में समय लगने के साथ उनके पकने की आशंका हो जाती है, साथ ही महिलाओ को कभी भी दूध का सेवन ऐसे नहीं करना चाहिए बल्कि इस समय महिलाओ को दूध में थोड़ा पत्ती डाल कर पीना चाहिए, इससे स्तनपान करने वाली महिला के दूध में भी वृद्धि होती है।

ज्यादा भारी सामान नहीं उठाना चाहिए:-

महिलाओ को सिजेरियन डिलीवरी के थोड़े समय तक भारी सामान उठाने से परहेज करना चाहिए, साथ ही सीढिया भी नहीं चढ़नी चाहिए, ऐसा करने से टांको पर खिंचाव पड़ता हैं जिसके कारण पेट में दर्द जैसी परेशानिया उत्त्पन्न हो जाती हैं, और साथ ही ब्लीडिंग बढ़ जाती है, पेट में दर्द जैसी परेशानी होने लगती है, इसीलिए ऐसा नहीं करना चाहिए, साथ ही आपको जितना हो सकें रेस्ट करना चाहिए, ताकि आपको शारीरिक रूप से आराम मिल सकें।

सेक्स सम्बन्ध से रखें परहेज:-

सिजेरियन डिलीवरी के बाद जितना हो सकें सेक्स से भी परहेज रखना चाहिए, डॉक्टर्स के अनुसार कम से कम तीन से चार माह तक सिजेरियन डिलीवरी के बाद सेक्स नहीं करना चाहिए, क्योंकि इससे पेट पर दबाव पड़ने के साथ गर्भाशय पर चोट लगने का भी खतरा रहता है, इस समय पर महिला की स्थिति बहुत नाजुक होती है, साथ ही महिला को डिलीवरी के बाद नार्मल डिलीवरी के मुकाबले ज्यादा ब्लीडिंग भी होती है, इसीलिए सिजेरियन डिलीवरी के बाद सेक्स करने से पहले हो सकें तो डॉक्टर की राय आवश्य लेनी चाहिए।

तनाव न लें:-

सिजेरियन डिलीवरी के बाद महिलाओ को उठने बैठने में होने वली दिक्कत और साथ ही खान पान का ध्यान, बच्चे को स्तन पान करवाना, इन सबके एक साथ होने के कारण महिलाएं कई बार तनाव में आ जाती है, ऐसे में महिलाओ को तनाव में नहीं आना चाहिए, बल्कि इस बारे में अपने डॉक्टर से राय लेनी चाहिए, और विचार विमर्श करना चाहिए, ताकि आपके तनाव का इलाज़ हो सकें, और साथ ही आपको यदि सेक्स से सम्बंधित भी कोई बात करनी हो तो शर्माना नहीं चाहिए बल्कि खुलकर इस पर विचार करना चाहिए।

सिजेरियन डिलीवरी के बाद ध्यान देने योग्य अन्य बातें:-

  • सिजेरियन डिलीवरी के बाद आराम से उठने बैठने के लिए महिलाओ को सिजेरियन बेल्ट का इस्तेमाल करना चाहिए।
  • महिलाओ को जितना हो सकें तनाव से दूर रहना चाहिए।
  • जंक फ़ूड से परहेज रखना चाहिए।
  • पैरो के बल झुककर कोई काम नहीं करना चाहिए।
  • भारी सामान या किसी भी तरह का वजन उठाने से परहेज रखना चाहिए।
  • महिलाओ को शुरूआती दिनों में एक्सरसाइज या किसी भी तरह का डाइट प्लान नहीं बनाना चाहिए।
  • सिजेरियन केबाद किसी भी तरह का हल्का फुल्का दर्द होने पर बिना डॉक्टर की सलाह के दवाइओ का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • ज्यादा सीढ़िया नहीं चढ़नी चाहिए, इससे दर्द या ब्लीडिंग की समस्या बढ़ सकती है।
  • जितना हो सकें सूती कपडे ही पहनने चाहिए।
  • बुखार, खांसी आदि से बच कर रहें, क्योंकि तेज कहानी की समस्या होने पर टांको पर झटका लग सकता है, और साथ ही टांको पर जोर पड़ने के साथ टांको के टूटने की समस्या भी हो जाती है।
  • ज्यादा देर तक नहाना भी नहीं चाहिए।

सिजेरियन डिलीवरी के बाद महिलाएं स्वास्थ्य और खान पान का ऐसे रखें ध्यान, सिजेरियन डिलीवरी के लिए टिप्स, सिजेरियन डिलीवरी के बाद ऐसे रखें खान पान का ध्यान, सिजेरियन डिलीवरी के बाद ध्यान देने योग्य बातें, सिजेरियन डिलीवरी के बाद क्या खाएं, cijarian delivery ke baad mahilayen aise rakhen khan paan or swasthy ka dhyan, cijarian delivery ke baad ke liye tips, tips after cijarian delivery

[Total: 2    Average: 4.5/5]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *