Home Health बच्चों की परवरिश प्रेगनेंसी में इन चीजों को खाएं! बच्चा हष्ट पुष्ट और बुद्धिमान होगा

प्रेगनेंसी में इन चीजों को खाएं! बच्चा हष्ट पुष्ट और बुद्धिमान होगा

0
0
3
pregnant women diet

बच्चे के आने की ख़ुशी केवल माँ के लिए ही नहीं बल्कि पूरे परिवार के लिए ख़ुशी का समय होता है, ऐसे में महिला केवल प्रेगनेंसी में ही नहीं बल्कि शिशु के जन्म के बाद भी उसे हर तरह से सुरक्षित रखना चाहती है, ताकि वो स्वस्थ हष्ट पुष्ट व् बुद्दिमान बने, आज कल आपने देखा ही होगा की बच्चे कितने स्मार्ट होते है, ऐसे में महिला को जब बच्चा गर्भ में होता है तभी से उसके बुद्धिमान बनने की तैयारी शुरू कर देनी चाहिए और साथ ही वो स्वस्थ से ही बिलकुल फिट हो, इसके लिए आपको बहुत सी चीजों का ध्यान रखना पड़ता है, सबसे पहले तो प्रेगनेंसी के बाद महिला को अपनी केयर को दुगुना कर देना चाहिए, क्योंकि अब वो अकेली नहीं होती है, उसके गर्भ में एक नन्ही सी जान होती है।

इन्हें भी पढ़ें:- गर्भवती महिलाओ को मातृत्व का अहसास ऐसे होने लगता है!

pregnancy diet

उसके बाद कई बार महिलाएं अपने खान पान, सोने, दिनचर्या आदि को सही नहीं रखती है और न ही उसकी और ज्यादा ध्यान देती है, लेकिन प्रेगनेंसी में आपको समय से खाना, सोना चाहिए साथ ही अपनी शारीरिक गतिविधियों पर भी अच्छे से ध्यान देना चाहिए, जिससे प्रेगनेंसी में और उसके बाद भी महिला शिशु को स्वस्थ रहने में मदद मिल सकें, तो आइये आज हम प्रेग्नेंट महिला जो महिलाएं चाहती है की उनका शिशु स्वस्थ, हष्ट पुष्ट और बुद्धिमान हो उसके लिए कुछ टिप्स बताने जा रहे है, तो यदि आप प्रेगनेंसी में इन टिप्स को अपनी दिनचर्या में नियमित रूप से शामिल करती हैं तो आपके बच्चे को स्वस्थ व् बुद्धिमान होने में मदद मिलती है।

दूध में केसर व् बादाम डालकर उसका सेवन करें:-

प्रेगनेंसी में दूध व् दूध से बने पदार्थो का सेवन भरपूर करना चाहिए क्योंकि इससे आपको कैल्शियम, प्रोटीन जैसे खनिज भरपूर मात्रा में मिलते है, इसके अलावा यदि आप चाहते हैं, की आपका बच्चा हष्ट पुष्ट और बुद्दिमान हो तो आपको बादाम दूध या केसर दूध का सेवन करना चाहिए, इससे बच्चा स्वस्थ रहता है, गोरा पैदा होता है, और साथ ही बुद्धिमान होता है, इसके अलावा यह गर्भवती महिला के लिए भी बहुत लाभदायक होता है।

स्वस्थ व् संतुलित आहार का सेवन करें:-

स्वस्थ व् संतुलित आहार के सेवन से सभी को स्वस्थ रहने में मदद मिलती है, लेकिन प्रेगनेंसी में महिला को इसे भरपूर लेना चाहिए, जैसे सलाद, ताजे फल, हरी सब्जियां, इनको अपने आहार में सम्मिलित करना चाहिए, फलों व् सलाद का सेवन भी दिन में दो से तीन बार करना चाहिए, क्योंकि इनमे मौजूद विटामिन कैल्शियम व् अन्य खनिज बच्चे के स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभदायक होते हैं, साथ ही इससे बच्चे के दिमाग को भी तेजी से विकसित होने में मदद मिलती है।

अनार के जूस का सेवन करें:-

pomegranate juice

अनार में आयरन की मात्रा भरपूर होती है, जिसे प्रेगनेंसी के दौरान महिला के शरीर में खून की कमी को पूरा करने व् रक्त संचार को बेहतर बनाने में मदद मिलती है, इसके अलावा इससे बच्चे में भी रक्त की मात्रा पर्याप्त होती है, जिससे वो स्वस्थ रहता है, उसका रंग निखरता है, और उसके मस्तिष्क पर भी अच्छा प्रभाव पड़ता है, जिससे बच्चा बुद्धिमान होता है, इसी के साथ आप गाजर व् चुकंदर के रस का सेवन भी कर सकते है, उनसे भी आपको और गर्भ में पल रहे शिशु को फायदा होता है।

इन्हें भी पढ़ें:- गर्भावस्था में उल्टी और गैस की समस्या से निजात पाने के टिप्स

स्वास्थ्यवर्धक तेलों का ही इस्तेमाल करना चाहिए:-

गर्भावस्था के दौरान अपने खान पान के लिए इस्तेमाल किये जाने वाले तेलों का भी आपको बहुत ध्यान देना चाहिए, बच्चे के शारीरिक व् मानसिक रूप से विकास के लिए जरुरी होता है की आप स्वास्थ्यवर्धक तेलों का ही इस्तेमाल करें, साथ ही महिलाओ को अपने आहार में फैट युक्त आहार जैसे की अखरोट, हेज़लनट आदि का सेवन करना चाहिए, इनके सेवन से प्रतिरक्षा प्रणाली, रक्त संचार, बच्चे के दिमागी विकास को होने में मदद मिलती है।

दूध व् दूध से बने आहार का सेवन करें:-

dairy-products

हष्ट पुष्ट व् बुद्धिमान बच्चे की चाह रखने वाली महिलाओ को दूध व् दूध से बने प्रोडक्ट्स का खूब सेवन करना चाहिए दिन में तीन से चार बार दूध का सेवन करना चाहिए, इससे बच्चे का शारीरिक विक्सा जैसे की हड्डियों को मजबूती, व् दिमाग से भी तेजी से विकसित होने में मदद मिलती है, गर्भ में ये और जन्म के बाद स्तनपान दोनों यदि किसी बच्चे को मिलते है तो उसका शारीरिक और मानसिक दोनों ही तरह से विकास बहुत अच्छे से होता है।

कैल्शियम व् अन्य मिनरल्स का सेवन भरपूर मात्रा में करें:-

प्रेगनेंसी के दौरान कैल्शियम का सेवन भरपूर मात्रा में करने से आपको न केवल ग्रह में पल रहे शिशु का शारीरिक विकास करने में बल्कि मानसिक रूप से भी उसे बुद्धिमान बनाने में मदद मिलती है, इसके अलावा, आयरन, फोलिक एसिड, विटामिन c और फाइबर आदि को भी भरौर मात्रा में लेना चाहिए और इसके लिए आपको बादाम, अंजीर, किशमिश, सालमन मछली, पालक और ब्रोकोली आदि का सेवन करना चाहिए, ऐसा करने से आपको बच्चे और माँ दोनों को ही स्वस्थ रखने में मदद मिलती है।

ताजे फलों व् सब्जियों का सेवन करना चाहिए:-

vegetables

प्रेगनेंसी के दौरान महिला को ताजे फलों व् सब्जियों का ही सेवन करना चाहिए क्योंकि इसमें मौजूद मिनरल्स शिशु को स्वस्थ रखने व् उसके दिमाग के विकास को तेजी से करने में मदद करते है, और आपको कभी भी बासी या ठन्डे भोजन का सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि इससे आपको और शिशु दोनों को परेशानी हो सकती है, साथ ही आपको दोनों हमेशा तजा खाना या फल खाने चाहिए देर तक कटे पड़े फलों का सेवन भी आपको नहीं करना चाहिए।

हष्ट पुष्ट व् बुद्धिमान बच्चा पाने के लिए अन्य उपाय:-

  • प्रेगनेंसी में महिला को तनाव बिलकुल नहीं लेना चाहिए हमेशा खुश रहना चाहिए, क्योंकि यदि आप मानसिक रूप से परेशान रहती हैं, तो इससे बच्चे पर बहुत बुरा असर पड़ता है।
  • गुस्सा नहीं करना चाहिए, योगासन आदि करके अपने मन को शांत व् खुश रखना चाहिए इससे शिशु पर अच्छा प्रभाव पड़ता है।
  • नारियल पानी, नारियल के साथ मिश्री का सेवन करने से भी बच्चा स्वस्थ व् सूंदर पैदा होता है।
  • जब बच्चा गर्भ में होता है, तब भी उससे बातें करनी चाहिए, क्योंकि बच्चा आपकी बातों को सुनता है, साथ ही आपको आराम देने वाले संगीत को भी सुनना चाहिए इससे भी गर्भ में पल रहे शिशु पर अच्छा असर पड़ता है।
  • दिन में कम से दो से तीन बार फलों को फलों के रस का सेवन करना चाहिए, इससे बच्चे को सभी मिनरल्स मिलते है जिससे बच्चे का शारीरिक व् मानसिक विकास होने में मदद मिलती है।
  • नशीले पदार्थो का सेवन नहीं करना चाहिए, और यहां तक की नशीले पदार्थो का सेवन कर रहे लोगो के साथ बैठना भी नहीं चाहिए।
  • प्रेगनेंसी के दौरान महिला को अपने वजन को सही रखना चाहिए, क्योंकि यदि महिला का वजन अधिक बढ़ता है, तो इसके कारण शिशु की मानसिक क्षमता पर असर पड़ता है।
  • महिला को अपने दांतों और मुँह की सफाई का ध्यान रखना चाहिए क्योंकि मुँह की गंदगी आपके लिए आहार के साथ शिशु तक पहुँचती है जिससे शिशु पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है।
  • गर्भ में पल रहे शिशु को पौराणिक कहानियां सुनानी चाहिए इससे बच्चे को दिमागी रूप से विकसित होने में मदद मिलती है।
  • ओमेगा 3, ओमेगा 6 युक्त आहार जैसे मछली, समुंद्री खाद्य पदार्थो का सेवन करना चाहिए इससे बच्चे को मानसिक रूप से और स्वस्थ होने में बहुत मदद मिलती है।

तो ये कुछ टिप्स है जिनका इस्तेमाल करके आपको स्वस्थ, व् बुद्धिमान शिशु को पाने में मदद मिलती है, इसके अलावा आपको नियम से अपनी जांच डॉक्टर से करवानी चाहिए ताकि आपको पता चल सकें की गर्भ में पल रहा शिशु स्वस्थ है, और यदि कोई परेशानी हो तो समय से डॉक्टर से जांच करवानी चाहिए ताकि कोई बड़ी समस्या न हो, और माँ और शिशु दोनों को ही स्वस्थ रहने में मदद मिल सकें।

इन्हें भी पढ़ें:- प्रेगनेंसी के बाद आपका पेट बड़ा नहीं होगा! अगर अपनाएंगे ये तरीके

[Total: 2    Average: 1.5/5]
Load More Related Articles
Load More By Suruchi Chawala
Load More In बच्चों की परवरिश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

बच्चों को मालिश करने के तरीके

शिशु के जन्म के बाद हर माँ चाहती है की वो अपने शिशु को एक अच्छी केयर दे सकें जिससे उसे हमे…