अक्षय तृतीया शुभ मुहूर्त 2018, पूजा विधि और आखा तीज 2018 का महत्व

0 8,167

अक्षय तृतीया शुभ मुहूर्त 2018, आखा तीज 2018 का महत्व, Akshaya Tritiya 2018, Akha teej 2018 Shubh muhurat, Akshaya tritiya 18 april 2018 Puja, Akshaya Tritiya muhurat, आखातीज का महत्व, अक्षय तृतीया क्यों मनाई जाती है, अक्षय तृतीया पर क्या करें, अक्षय तृतीया २०१८ पूजा मुहूर्त और सोना खरीदने का शुभ मुहूर्त, अक्षय तृतीया २०१८, अक्षय तृतीया 2018 शुभ मुहूर्त, आखा तीज का महत्व

अक्षय तृतीया जिसे आखा तीज भी कहा जाता है हिन्दू धर्म में मनाये जाने वाले महत्वपूर्ण त्योहारों में से एक है। जिसे वैशाख माह के शुक्ल पक्ष की तृतीया को मनाया जाता है। माना जाता है इस दिन किया जाने वाला प्रत्येक काम शुभ और अच्छा फल प्रदान करता है। इसी कारण अक्षय तृतीया के दिन बहुत से शुभ कार्य किये जाते है। यूँ तो साल के सभी बारह महीनों के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को शुभ माना जाता है परन्तु उन सभी में वैशाख माह के शुक्ल पक्ष की तृतीया को सबसे अधिक लाभकारी और पुण्यकारी माना जाता है।

अक्षय तृतीया का पर्व :

हिन्दू धर्म के अनुसार इस दिन को सर्व सिद्धि मुहूर्त के रूप में भी जाना जाता है। मान्यता है की इस दिन बिना कोई मुहूर्त और पंचांग देखे घर में किसी भी प्रकार के शुभ कार्य किये जा सकते है। शास्त्रों के अनुसार इस दिन पित्रों का तर्पण, पिंडदान और हर प्रकार का दान करने से शुभ फल प्राप्त होता है। अक्षय तृतीया के दिन गंगा स्नान करने से सभी पाप भी नष्ट हो जाते है।

इन्हें भी पढ़ें :
1 of 41

कहते है, यदि अक्षय तृतीया सोमवार के दिन रोहिणी नक्षत्र में आए तो इस दिन किये गए सभी दान-पुण्य के कामों का फल और भी अधिक बढ़ जाता है। अक्षय तृतीया के दिन भगवान् विष्णु और देवी लक्ष्मी के पूजन का खास विधान है।

अक्षय तृतीया की परंपराए :

हिन्दू पंचांग के अनुसार अक्षय तृतीया को बहुत शुभ माना जाता है। क्योंकि इस दिन किसी भी कार्य को करने के लिए कोई मुहूर्त देखने की आवश्यकता नहीं होती। वैसे तो यह पर्व सभी के लिए समान लाभकारी होता है लेकिन इसे हर कोई अपने रीती रिवाजों के अनुसार मनाता है। यहाँ हम आपको अक्षय तृतीया के दिन की जाने वाली परंपराओं की सूची दे रहे है।

  • अक्षय तृतीया के दिन भगवान् विष्णु के श्री लक्ष्मी नारायण स्वरुप का पूजन किया जाता है।
  • इस दिन भगवान विष्णु के लिए उपवास रखा जाता है।
  • अक्षय तृतीया पर सोना खरीदना अत्यंत शुभ माना जाता है।
  • गृह-प्रवेश और शादी विवाह आदि के लिए इस दिन बहुत अच्छा माना जाता है।
  • गंगा व् अन्य पवित्र नदियों में स्नान करना शुभ होता है।
  • इस दिन वाहन खरीदना बहुत अच्छा होता है।
  • आखा तीज पर पित्रों का तर्पण करने से शुभ फल प्राप्त होता है।
  • इस दिन ब्राह्मणों और जरुरतमंदों को दान करने से पुण्य फल की प्राप्ति होती है।

अक्षय तृतीया 2018 शुभ मुहूर्त

2018 में अक्षय तृतीया 18 अप्रैल 2018, बुधवार के दिन मनाई जाएगी।

अक्षय तृतीया में लक्ष्मीनारायण पूजन का शुभ समय

पूजन का शुभ मुहूर्त = 05:56 से 12:20 तक।
मुहूर्त की अवधि = 6 घंटा 23 मिनट

तृतीया तिथि का प्रारंभ 18 अप्रैल 2018, बुधवार प्रातः 03:45 पर होगा। जिसका समापन 19 अप्रैल, गुरुवार मध्यरात्रि 01:29 पर होगा।

अक्षय तृतीया में सोना खरीदने का शुभ समय

17 अप्रैल 2018, मंगलवार = 27:45+ से 29:56+ तक
18 अप्रैल 2018, बुधवार = 05:56 से 25:29+ तक

05:56 से 25:29+ तक के मध्य चौघड़िया मुहूर्त

प्रातः मुहूर्त (लाभ, अमृत) = 05:57 – 09:09
प्रातः मुहूर्त (शुभ) = 10:45 – 12:21
दोपहर मुहूर्त (चर, लाभ) = 15:33 – 18:45
सायं मुहूर्त (शुभ, अमृत, चर) = 20:08 – 24:20+

(नोट : यहाँ समय IST 24 hrs. के हिसाब से लिखा गया है।)