महाराष्ट्र का अम्बोली हिल स्टेशन

0

अम्बोली दक्षिण महाराष्ट्र का हिल स्टेशन है. जो 690 m की ऊँचाई पर स्थित है. ये गोवा के तटीय हाइलैंड्स के पहले आने वाला आखिरी हिल स्टेशन है.
अम्बोली दक्षिण भारत के सहयाद्रि पहाड़ियों में स्थित है, जो विश्व के “Eco Hot Spots” में से एक है. जिस कारण यह बहुत असामान्य वनस्पतियों और जीवो की किस्मों से भरा पड़ा है.

ब्रिटिश शासन के दौरान अंबोली शहर का उपयोग एक ऊँची पोस्ट के रुप में किया जाता था जहाँ से मध्य व दक्षिण भारत में सैनिकों के लिए चौकियाँ बनाई जाती थीं। 1880 में अंबोली को एक हिल स्टेशन घोषित कर दिया गया। सावंतवाड़ी के स्थानीय लोगों ने अंग्रेज़ों से पहले ही इस जगह की खूबसूरती को खोज लिया था। मानसून में महाराष्ट्र का सबसे अधिक बारिश वाला स्थान होने के कारण अंग्रेज़ों ने मेथरन को गर्मियों में अपना पसंदीदा स्थल बना लिया। परिणामस्वरुप एक लंबे समय तक महाराष्‍ट्र के नक्‍शे पर अंबोली एक महत्‍वपूर्ण स्थान बना रहा।

अम्बोली गांव की पहाड़ियों में हिरण्यकेशी नदी के स्त्रोत्र मौजूद है. जिस गुफा के पास ये पानी आकर मिलता है वहां शिव जी का प्राचीन मंदिर है जिसे हिरण्यकेश्वर मंदिर के नाम से जाना जाता है. यहां आने वाले पर्यटकों का प्रमुख आकर्षण आश्चार्यजनक उच्च वर्षा (7m प्रतिवर्ष) और कई झरने और मानसून के दौरान दिखाई देने वाली धुंध है. किवदंतियों का कहना है की अम्बोली में और उसके आस पास 108 शिवा मंदिर है, जिनमे से केवल कुछ ही जानकारी प्राप्त हुई है. यहाँ देखने और करने जैसा कुछ नहीं है परन्तु ये एक शांत, प्रदूषणरहित और प्राकृतिक स्थान है जहां आकार आपको अच्छा महसूस होगा.

आवागमन :

अम्बोली सड़क मार्ग द्वारा अपने आस पास के शहरों (कोल्हापुर 129 km, बेलगावी 68 km, पंजिम (गोवा) 90 km) से अच्छी तरह जुड़ा हुआ है. यहाँ का निकटतम एयरपोर्ट बेलगावी है जहां तक पहुंचने में ड्राइव करके 1.5 घंटे का समय लगता है. यहाँ की सभी सड़के अच्छी स्थिति में है. यहाँ गोवा अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट भी है जिससे यात्रा करने में मात्र 1 घंटे का समय लगता है.

मुंबई से अम्बोली के लिए ड्राइविंग डायरेक्शन : सावंतवाडी तक राष्ट्रिय राजमार्ग NH 17 पर चलने के बाद पूर्व की ओर 29km जाए.
पुणे, कोल्हापुर से अम्बोली के लिए ड्राइविंग डायरेक्शन : संकेश्वर तक NH 4 पर चलने के पश्चात गधिंग्लाज-अजारा-अम्बोली की ओर जाए.

स्थानीय परिवहन :

यहाँ के स्थानीय परिवहन में केवल तिपहिया रिक्शा और निजी टैक्सियों को चलने के अनुमति दी गयी है. मुख्य बस स्टैंड के निकट ये आपको दिख जायेंगे.

पर्यटक आकर्षण :

यहाँ देखने योग्य ज्यादा स्थान तो नहीं है पर कुछ आकर्षक स्थान है जो आपको पसंद आएंगे, यदि आपके पास अपना निजी वहां न हो तो इन स्थानों को देखने के लिए तिपहिया रिक्शा का प्रयोग किया जा सकता है.

निकटतम शहर :

सावंतवाडी – 29 km
कोल्हापुर – 129 km Gadhinglaj-Sankeshwar मुख्य सड़क द्वारा
सांगली – 152 km Gadhinglaj-Chikodi-Miraj
बेलगाउम – 68 km
पेरनेम – 58 km
गधिंग्लाज – 55 km
संकेश्वर NH 4 – 70 km
अजारा – 32 km
चंदगड – 29 km
गारगोटी -79.0 Km Uttur-Ajra के द्वारा
गोकक – 148 km
चिक्कोडी – 80 km

निकटतम रेलवे स्टेशन :

सावंतवाडी रेलवे स्टेशन रोड – 28 km
पेरनेम रेलवे स्टेशन – 58 km
बेलगाउम रेलवे स्टेशन – 70 km
कोल्हापुर रेलवे स्टेशन – 110 km
मिराज रेलवे स्टेशन -140 km
मडगांव रेलवे स्टेशन -140 km

मुंबई, दिल्ली, गोवा से आने वाले पर्यटक और कोंकण रेलवे से आने वाली विभिन्न ट्रेनें सावंतवाडी रेलवे स्टेशन द्वारा अम्बोली पहुंच सकते है. कर्नाटक राज्य सड़क परिवहन निगम और महाराष्ट्र राज्य सड़क परिवहन निगम द्वारा बेलगावी और सावंतवाडी के बीच चलाई जाने वाली बसों के द्वारा अम्बोली मात्र 24 रूपए में पंहुचा जा सकता है. सावंतवाडी रेलवे स्टेशन से अम्बोली के लिए निजी कारे भी उपलब्ध है. अम्बोली तक सांगली और कोल्हापुर रेलवे स्टेशंस द्वारा बस लेकर भी पंहुचा जा सकता है. इस मार्ग में आपको लोकप्रिय पर्यटक स्थल सांगली का गणेश मंदिर और कोल्हापुर का महालक्ष्मी मंदिर दिखाई देगा. बेलगावी, कर्नाटक से आने वाले पर्यटकों और भारत के अन्य दक्षिणी हिस्सों से आने वाले पर्यटकों का उपयोगी रेलवे स्टेशन है.

निकटतम रेलवे स्टेशन : मडगांव – 124km

मुंबई, पुणे से आने वाले पर्यटक अम्बोली तक मिराज रेलवे स्टेशन द्वारा पहुंच सकते है जबकि बेंगलुरु, मैसुरु, हुब्बल्ली, चेन्नई, हैदराबाद आदि से आने वाले पर्यटक बेलगावी रेलवे स्टेशन का प्रयोग कर सकते है. मंगलुरु, करवर, केरल आदि से आने वाले पर्यटक अम्बोली तक जाने के लिए मडगांव रेलवे स्टेशन का प्रयोग कर सकते है. मिराज और बेलगावी रेलवे स्टेशन से अम्बोली के लिए निजी कारे उपलब्ध है.

Title : Amboli Tourist Place and Travel Guide, Best Place to Visit