अरुणाचल प्रदेश का गाँव : पूरा गाँव बना करोडपति 

बोमजा गाँव जो की अरुणाचल प्रदेश में है, गाँव में 31 घर है, और हाल ही में सभी करोडपति बन गए है, पूरा गाँव करोडपति हो ऐसा पहली वार ही सुनने को मिला है, पूरी कहानी करोडपति बन्ने की, एशिया के सबसे धनी गांवों की सूची में शामिल हो गया है

0 1,582

अरुणाचल प्रदेश : पूर्वोत्तर राज्य अरुणाचल प्रदेश के तवांग जिले के बोमजा गांव के सभी परिवार करोड़पति हो गए हैं। जी हां!  आप सही पढ़ रहे हैं, यह  गांव चीन और भूटान की सीमा पर स्थित है। हाल ही में भारतीय सेना ने यहां बेस विकसित करने के लिए गांव की 200 एकड़ जमीन का अधिग्रहण किया था। रक्षा मंत्रालय ने इसके एवज में ग्रामीणों के लिए 40.80 करोड़ रुपये से भी ज्यादा का मुआवजा जारी किया। इस गाँव की आबादी ज्यादा नहीं है और सिर्फ 31 घर ही है, ऐसे में हर परिवार को एक करोड़ रुपये से ज्यादा का मुआवजा मिला। आपको ये जानकार हैरत होगा की एक परिवार को तो सबसे ज्यादा 6.73 करोड़ रुपये का मुआवजा मिला है। अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने ग्रामीणों को मुआवजा वितरित किया। इसके साथ ही बोमजा एशिया के सबसे धनी गांवों की सूची में शामिल हो गया है। वैसे गुजरात के कच्छ जिले के माढ़ापुर गांव को भारत का सबसे धनी गांव माना जाता है। सीमाई इलाकों में चीन की बढ़ती गतिविधियों को देखते हुए भारत ने भी क्षेत्र में विकास की परियोजनाएं शुरू कर दी हैं।

अरुणाचल प्रदेश के बोमजा गांव 31 परिवारों में  से 29 को 1.09 करोड़ रुपये का मुआवजा दिया गया। एक परिवार को सबसे ज्यादा 6.73 कारोड़ रुपये  मुआवजा मिला है। प्रदेश के मुख्यमंत्री ने बताया की इस तरह से और भी मुआवजे मिलेंगे क्यों की आजकल चीन से लगे सीमा पर रेल, एयर सड़क मार्ग विकसित करने पर काफी जोर दिया जा रहा है, ऐसे में प्रदेश की और वह के लोगों की दशा सुधरेगी और भारत की सीमा भी सुरक्षति रहेगी।