अंगूठा क्यों चूसते हैं बच्चे

अंगूठा क्यों चूसते हैं बच्चे, बच्चे के अंगूठा चूसने के कारण, बच्चे की अंगूठा चूसने की आदत कैसे छुड़वाएं, क्या आप जानते हैं की बच्चे अंगूठा क्यों चूसते हैं

बच्चे की हर हरकत माँ बाप को हमेशा ख़ुशी महसूस करवाती है। लेकिन कुछ आदतें भी होती है जिनके कारण माँ बाप परेशान भी हो सकते हैं जैसे की अंगूठा चूसने की आदत। यह एक सामान्य आदत है जो बहुत से बच्चों में देखने को मिलती है। लेकिन कई बार इसके कारण लोग बच्चों का मज़ाक भी उड़ाते हैं, और इसके कारण शिशु के मुँह के जरिये बॉडी में गंदगी जाने का भी डर रहता है। जिसके कारण उसे पेट सम्बन्धी समस्या का सामना भी करना पड़ सकता है। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है की बच्चे ऐसा क्यों करते हैं? यदि नहीं तो आइये आज हम आपको कुछ ऐसे कारण बताते हैं जिनकी वजह से बच्चे अंगूठा चूसते हैं।

भूख लगने के कारण

बचपन से ही शिशु को जब भी भूख लगती है तो या तो वो रोने लगता है, या अपनी उँगलियों को चूसता हैं। और यदि हमेशा वो ऐसा करता है तो धीरे धीरे उंगलिया चूसने या अंगूठा चूसने की उसकी आदत बन जाती है। और उसके बाद जब भी उसे भूख लगती है वो ऐसा करना शुरू कर देता हैं।

अटेंशन के लिए

बच्चे अपनी बात को कह नहीं पाते लेकिन कई बार वो ऐसे लक्षण दीखाते हैं जिनसे आपको पता चलता है वो क्या चाहते हैं। और ऐसे ही यदि माँ बाप यदि शिशु को खिलौने देकर खुद अपने काम में लग जाते हैं, या बहुत देर तक बच्चों को बुलाते नहीं हैं, तो शिशु उनका ध्यान अपनी और करने के लिए कई बार ऐसी हरकत शुरू कर देते हैं।

तनाव होने के कारण

स्ट्रेस की समस्या केवल बड़ो में ही नहीं बल्कि बच्चों को भी होती है, और जब बच्चों को दूध समय पर न मिले, नींद पूरी न हो, या उनकी इच्छानुसार उन्हें कुछ न मिले। तो शिशु तनाव के कारण भी ऐसा करना शुरू कर देते हैं।

दांत निकलने पर

जब बच्चे के दांत निकलने लगते हैं तो उसके जबड़े में खारिश होती है। और इस खारिश के साथ दर्द भी होता है, इसीलिए बच्चे जब भी किसी भी चीज को लेकर मुँह में दबाते हैं तो उन्हें आराम मिलता है। और अंगूठा चूसने पर भी उन्हें यह आराम महसूस होता है इसीलिए दांत निकलने के दौरान भी बच्चे को यह आदत पड़ सकती है।

आराम मिलता है

अंगूठे में एंडोफिन्स नाम का द्रव होता है ऐसे में जब शिशु जा अंगूठा चूसता है तो उसे आराम मिलता है, उसका दिमाग शांत होता है, साथ ही नींद भी अच्छी आती है, इसी कारण शिशु को अंगूठा चूसना अच्छा लगता है, और धीरे धीरे उसे इसकी आदत हो जाती है।

बोतल में दूध पीने के कारण

जो बच्चे बोतल में दूध पीते हैं उनमे यह आदत देखने को मिलती है, क्योंकि जब बोतल में दूध खत्म हो जाता है। और बच्चे को अभी भी भूख होती है तो वो अपनी भूख को शांत करने के लिए अंगूठा चूसना शुरू कर देते हैं।।

बच्चे का अंगूठा छुड़ाने के लिए टिप्स

  • बच्चे के साथ समय बिताएं, उसके साथ खेले, ताकि वो एन्जॉय करे और मुँह में अंगूठा न डाले।
  • थोड़े थोड़े समय के बाद बच्चे को कुछ न कुछ खाने के लिए देते रहें।
  • उसके थंब पर कपडा या साफ़ पट्टी आदि या थंब गार्ड लाकर लगा दें।
  • निम्बू का रस लगाएं या नीम का रस लगाएं इसके कारण बच्चे खट्टा और कड़वा महसूस करेंगे और मुँह में अंगूठा नहीं डालेंगे।
  • प्यार से डील करें, यदि शिशु बार बार मुँह में अंगूठा डाल रहा है तो आप भी प्यार से निकाल दें, यदि आप उसे बार बार प्यार से बोलेंगी तो धीरे धीरे उसकी यह आदत छूट जाएगी।
  • बच्चे का ध्यान कहीं न कहीं लगाकर रखें।

तो यह हैं कुछ कारण जिनकी वजह से बच्चे अंगूठा चूसते हैं। और आप इन टिप्स का इस्तेमाल करके बच्चे की यह आदत छुड़वा भी सकते हैं। लेकिन बच्चे के सामने गुस्से से न पेश आएं, बचपन में ही उसकी यह आदत छुड़वा दें। क्योंकि इसके कारण शिशु के दांतों पर भी बुरा असर पड़ता है और दांत ऊँचे व् बाहर की तरफ आने लगते हैं।