Mom Pregnancy Health Lifestyle

बच्चे के पेट में कीड़े होने के कारण, लक्षण और उपाय

बच्चों के पेट में कीड़े होने के कारण
0

बच्चे के पेट में कीड़े, पेट में कीड़े के लक्षण, बच्चे के पेट में कीड़े के कारण, बच्चे के पेट में कीड़े के उपचार, पेट में संक्रमण, बच्चे के पेट में दर्द

बच्चों के पेट में कीड़े होने की समस्या आम बात होती है, लेकिन इसके होने के कारण बच्चों के शारीरिक विकास पर बहुत असर पड़ता है। क्योंकि जो आहार बच्चा खाता है वो बच्चे को कम और पेट में कीड़े ज्यादा खाते हैं। यह एक तरह के परजीवी होते हैं जिन्हे पिनवर्म या थ्रेडवर्म भी कहा जाता है, जो की आंतों में रहते हैं। पेट में कीड़े की समस्या बहुत से बच्चों में देखने को मिलती है। इसका सीधा असर बच्चे की पाचन क्रिया पर पड़ता है, और कई बार बच्चे को पेट में अधिक दर्द की समस्या होती है। ऐसे में आपको डॉक्टर से जांच करवाने के बाद पता चलता है की बच्चे के पेट में कीड़े हैं। लेकिन आपको इससे परेशान होने की जरुरत नहीं होती है। क्योंकि आप आसानी से इस समस्या का समाधान कर सकते हैं। तो आइये अब जानते हैं बच्चे के पेट में कीड़े होने के कारण, लक्षण और उपाय क्या हैं।

बच्चे के पेट में कीड़े होने के कारण

  • बच्चे के लिए साफ़ सफाई का ध्यान न रखने के कारण।
  • अधपका भोजन खाने के कारण भी बच्चे के पेट में कीड़े होने की समस्या हो सकती है।
  • संक्रमित पानी पीने के कारण।
  • जो बच्चे मिट्टी खाते हैं उनमे यह समस्या आम देखने को मिलती है।
  • यदि बच्चे के खिलौने आदि अच्छे से साफ़ नहीं होते हैं तो वह कीटाणु बच्चे के हाथ में लगने लगते है और बच्चा जब हाथों को मुँह में लेता है, तो बच्चेके पेट में संक्रमण हो सकता है।
  • हाथों को बार बार मुँह में डालने के कारण, क्योंकि इससे हाथ में लगे कीटाणु पेट में जाते हैं।
  • ज्यादा मीठा खाने के कारण भी बच्चों को पेट में कीड़े की समस्या हो सकती है।

बच्चे के पेट में कीड़े होने के लक्षण

  • बार बार बच्चे को पेट में दर्द की समस्या होना।
  • यदि बच्चे को भरपूर भोजन खिलाने के बाद भी शिशु का शारीरिक विकास बेहतर नहीं होता है तो यह भी बच्चे के पेट में कीड़े होने का लक्षण होता है।
  • जीभ का सफ़ेद रहना पेट में कीड़े होने का लक्षण है।
  • आँखों का लाल होना।
  • उल्टी व् दस्त की समस्या से परेशान रहना।
  • खुजली की समस्या अधिक होना।
  • यदि आपका बच्चा रात को सोते समय दांत पीसता है तो यह भी पेट में कीड़े होने का लक्षण होता है।
  • बच्चे के मुँह से बदबू आना।
  • बच्चों को भूख न लगना।
  • शरीर में खून की कमी का होना।
  • वजन कम होना।
  • बच्चे का अधिक चिड़चिड़ा होना।
  • गालों पर धब्बे पड़ना।

बच्चे के पेट में कीड़े की समस्या से बचने के उपचार

बच्चे के पेट में कीड़े की समस्या होना आम बात होती है, लेकिन इस समस्या का आपको समय से उपचार करना चाहिए। ताकि इसके कारण शिशु के विकास पर किसी भी तरह का बुरा असर न पड़े। तो आइये आज हम आपको इस समस्या से बचने के कुछ आसान उपचार बताने जा रहें है।

तुलसी

आयुर्वेदिक औषधि की तरह इस्तेमाल की जाने वाली तुलसी बच्चे के पेट में कीड़े की समस्या से आपको बहुत जल्दी राहत दिलाने में मदद करती है। इसके लिए आप नियमित दिन में दो बार सुबह और शाम बच्चे को दो चम्मच तुलसी का रस पिलाएं।

छाछ

यह देसी तरीका भी बच्चों के पेट के कीड़ो को खत्म करने में आपकी मदद करता है, इसके लिए आप नियमित बच्चे को एक गिलास छाछ में काला नमक और काली मिर्च पीसकर पिलाएं, इससे बच्चे की पाचन क्रिया को भी बेहतर बनाने में मदद मिलती है।

करेले का रस

कड़वा होने के कारण हो सकता है की बच्चा आसानी से न पीए, लेकिन इस उपाय से आपको बहुत जल्दी इस परेशानी से निजात पाने में मदद मिलती है। इस उपाय को करने के लिए आप एक गिलास गुनगुने पानी में केवल एक चम्मच करेले का रस मिलाएं, और उसे नियमित कुछ दिनों तक बच्चे को पिलाएं। इससे बच्चे के शरीर को बीमारियों से बचाव करने में भी मदद मिलेगी।

आंवले का रस

एक हफ्ता नियमित सुबह बच्चे को आधा चम्मच आंवले का जूस पिलाएं, ऐसा करने से भी बच्चे को पेट में कीड़े की समस्या से बचाव करने में मदद मिलती है।

अनार

यदि आप नियमित बच्चे को एक अनार या एक गिलास अनार का जूस पिलाते हैं तो भी आपको बच्चे के पेट में होने वाले कीड़े की समस्या से बचाव करने में मदद मिलती है।

हींग

हींग को अच्छे से पीस कर चूर्ण तैयार करें उसके बाद उस चूर्ण को चुटकी भर लें, और एक गिलास गुनगुने पानी में अच्छे से मिक्स करके बच्चे को पीने के लिए दें। ऐसा सुबह नियमित करें आपको बच्चे के पेट से जुडी हर परेशानी से निजात पाने में मदद मिलेगी।

दही और शहद

आधा कटोरी दही लें, और उसमे आधा चम्मच ही शहद का मिलाएं। उसके बाद इसे अच्छे से मिक्स करके नियमित बच्चे को कम से कम एक हफ्ते के लिए जरूर खिलाएं। इसे बच्चे से आसानी से खा भी लेते हैं, और बच्चे को इस परेशानी से बचाव करने में भी मदद मिलती है।

टमाटर

बच्चे को टमाटर की स्लाइसेस को काटकर उन पर सेंधा नमक लगाकर नियमित बच्चों को खाने के लिए दें। वैसे भी टमाटर स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है और यदि बच्चे इसका सेवन करते हैं तो ऐसा करने से उन्हें इस परेशानी से भी निजात पाने में मदद मिलती है।

अजवाइन

सबसे पहले अजवाइन को पीसकर चूर्ण तैयार करें, उसके बाद दिन में कम से कम तीन बार इसे बच्चे को उसके खाने में मिलाकर, छाछ के साथ, या पानी के साथ बच्चे को दें। ऐसा करने से भी आपको इस परेशानी से जल्दी राहत मिलने में मदद मिलती है।

गाजर

बच्चों को गाजर खिलाने व् इसके जूस को नियमित पिलाने से भी आपको बच्चों के पेट में होने वाली कीड़े की समस्या से हमेशा के लिए राहत पाने में मदद मिलती है।

बच्चे को पेट के कीड़े की समस्या से बचाने के लिए अन्य टिप्स

  • बच्चे के लिए साफ़ सफाई का अच्छे से ध्यान रखें।
  • बच्चों को मिट्टी में न खेलने दें।
  • अधपके, और बिना धोएं फल और सब्जियां बच्चे को न खाने के लिए दें।
  • जंक फ़ूड बच्चे को अधिक मात्रा में न खिलाएं खासकर गली के किनारों पर मिलने वाला भोजन न खिलाएं।
  • ज्यादा मीठा बच्चों को खाने के लिए न दें।
  • अधिक देर तक काटकर रखें हुए फल भी बच्चों को खाने के लिए न दें।
  • यदि आपके बच्चे को अधिक पेट में दर्द आदि की समस्या रहती है तो इसे अनदेखा न करते हुए समय से बच्चे की जांच करवाएं।
  • दिन में दो से तीन बार आप मूली या फिर प्याज का रस निकालकर आधा चम्मच बच्चे को पीने के लिए दें इस उपाय को नियमित एक हफ्ते तक करने से ही जरूर फायदा मिलेगा।

तो यह हैं कुछ लक्षण जिन्हे देखकर आप आसानी से पहचान सकते हैं की बच्चे के पेट में कीड़े हैं। और यदि आपको ऐसा कुछ लगता है तो आपको डॉक्टर से जांच तुरंत करवानी चाहिए। और जल्द से जल्द इस समस्या का समाधान करना चाहिए, ताकि इससे बच्चे के विकास पर किसी भी तरह का बुरा असर न पड़े। इसके अलावा आप इस समस्या से बचने के लिए ऊपर दिए गए टिप्स का इस्तेमाल भी कर सकते हैं।