बच्चे को गोरा करने के उपाय

बच्चे को गोरा करने के उपाय, बच्चे को गोरा करने के टिप्स, ऐसे लाएं शिशु की स्किन में निखार, शिशु को गोरा करने के तरीके, सांवले रंग के बच्चों को गोरा करने के टिप्स, Skin whitening tips for baby

वैसे तो सभी बच्चे बहुत ही प्यारे होते हैं क्योंकि उनकी एक मुस्कुराहट को देखकर हर कोई खुश हो जाता है। लेकिन हर माँ यही चाहती है उसका बचा बहुत सूंदर और रंगत में गोरा हो। और जन्म के बाद कुछ बच्चे तो गोरे ही होते हैं लेकिन कुछ का रंग डार्क या सांवला होता है। यह माँ बाप पर भी निर्भर करता है उनका रंग कैसा हैं। लेकिन फिर भी यदि बच्चे का रंग गोरा नहीं है तो ऐसे में जन्म के बाद से ही महिला कोई न कोई तरीका अपनाती रहती है जिससे बच्चे का रंग निखर जाए। और ऐसा केवल जन्म के बाद ही नहीं बल्कि बच्चे के थोड़ा बड़े होने के बाद भी यदि बच्चे का रंग काला पड़ने लगता है तो भी माँ उसके रंग को गोरा करने की कोशिश करती है। क्योंकि बच्चे के काले होने के कारण माँ को यह भी डर लगता है की बड़ा होकर कहीं उनका बच्चा अपने आप को किसी से कम न समझें।

बच्चे का रंग गोरा करने के टिप्स

बाजार में उपलब्ध कई बेबी क्रीम का इस्तेमाल महिलाएं अपने बच्चों की रंगत को निखारने की कोशिश करती है। लेकिन महंगी होने के साथ वो उतनी असरदार भी नहीं होती है। तो आइये आज हम आपको कुछ ऐसे खास टिप्स देने जा रहें हैं जिनके इस्तेमाल से आप अपने बच्चे का रंग शिशु के जन्म के बाद से लेकर बड़े होने तक निखार सकती है।

कच्चा दूध

आप किसी भी समय बच्चे के लिए कच्चे दूध का नियमित इस्तेमाल करके बच्चे की स्किन पर इसका असर देख सकते हैं। इसके इस्तेमाल के लिए आप रुई की मदद से शिशु की स्किन पर अच्छे से कच्चा दूध लगाएं और सूखने के बाद चेहरे को साफ कर दें, ऐसा दिन में तीन से चार बार नियमित करें आपको इसका असर साफ दिखाई देगा। न केवल यह स्किन को गोरा बनाता है बल्कि स्किन पर मॉइस्चराइजर की तरह काम करके स्किन को कोमल बनाएं रखने में भी मदद करता है।

केसर

केसर के पांच छह रेशे लेकर एक चम्मच दूध में डालकर ऊँगली से अच्छे से मिक्स कर लें, उसके बाद उसे स्किन पर लगाकर सूखने के लिए छोड़ दें। सूखने के बाद साफ़ पानी से चेहरे को धो दें, नियमित इस तरीके का इस्तेमाल करने से भी स्किन में निखार आने लगता है।

चन्दन

चन्दन से बच्चों को न केवल ठंडक पहुंचाई जा सकती है बल्कि इससे शिशु की स्किन को गोरा बनाने में भी मदद मिलती है। इसके लिए आप एक चम्मच चन्दन पाउडर में थोड़ा कच्चा दूध और थोड़ा पानी मिलाकर एक पेस्ट बनाएं और इसे आँखों और होंठों से बचाकर मास्क की तरह शिशु के चेहरे पर लगाएं और सूखने के लिए छोड़ दें। हो सके तो बच्चे के सोने के बाद ऐसा करें ताकि मास्क अच्छे से सूख जाएँ, सूख जाने के बाद पानी से चेहरे को धो लें।

मालिश करें

मालिश करने से न केवल शिशु की बॉडी को मजबूत बनाने और रक्त संचार को बेहतर रखने में मदद मिलती है। बल्कि मालिश करने से आप शिशु की रंगत को भी निखार सकते है इसके लिए आप बादाम तेल या ओलिव ऑयल का इस्तेमाल करें यह स्किन के कालेपन को धीरे धीरे कम करके स्किन को गोरा बनाने में मदद मिलती है। और हो सके तो मालिश के लिए हलके गुनगुने तेल का इस्तेमाल करें यह ज्यादा असरदार होता है।

हल्दी

हल्दी एक एंटीबायोटिक होती है जो न केवल स्किन को गोरा बनाने में मदद मिलती है, बल्कि इससे स्किन को इन्फेक्शन से बचाव करने में भी मदद मिलती है। इसके लिए आप चुटकी भर हल्दी, आधा चम्मच चन्दन, और कच्चे दूध को मिक्स करके एक लेप तैयार करें और बच्चे के नहाने से थोड़ी देर पहले उसे लगाएं। ऐसा हफ्ते में दो से तीन बार करने पर ही आपको इसका फायदा साफ़ दिखने लगेगा।

पेय पदार्थ

जब शिशु थोड़ा बड़ा हो जाता है तो उसे पानी दिया जा सकता है, और यदि आप अपने बच्चे को पानी व् अन्य पेय पदार्थ जैसे की जूस आदि का सेवन भरपूर मात्रा में करवाते हैं तो इससे आपके शिशु को हाइड्रेट रहने में मदद मिलती है और उनकी त्वचा को भी पोषण मिलता है। जिससे उनकी त्वचा में निखार आता है।

केमिकल युक्त चीजों का इस्तेमाल न करें

शिशु की स्किन बहुत ही कोमल होती है और ऐसे में आपको शिशु की स्किन के लिए ज्यादा केमिकल का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए, क्योंकि इसके कारण शिशु की स्किन की कोमलता कम होने लगती है, और वो अपनी प्राकृतिक चमक भी खो देती है। ऐसे में आपको होते बच्चे के चेहरे पर खासकर साबुन या फेस वाश आदि का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

तो यह हैं कुछ खास टिप्स जिनका इस्तेमाल करने से आप अपने बच्चे की रंगत को निखार सकते हैं। और साथ ही इससे आपके बच्चे की ख़ूबसूरती बढ़ेगी और स्किन को कोमल बनाने में भी मदद मिलती है।