मक्खन खाने के क्या फायदे होते हैं?

मक्खन खाने के फायदे
0

Makkhan Khane ke kya fayde hote hain,मक्खन खाने के क्या फायदे होते हैं? Butter khane ke fayde, Makhan ke fayde, मक्खन (बटर) के फायदे, Benefits of Butter, मक्खन खाने के फायदे, Makkhan Khane Ke Labh, Benefits of Makhan, Makhan ke fayde


मक्खन (बटर) खाने के क्या फायदे होते हैं?

पुराने जमाने से लेकर वर्तमान की आधुनिक जीवनशैली तक, सभी मक्कन को नाश्ते के रूप में खाना पसंद करते हैं। पहले के समय में लोग सुबह के नाश्ते में परांठे के साथ ढेर सारा मक्खन खाया करते थे। आज भी लोग ब्रेड के साथ बटर खाना पसंद करते हैं। लेकिन अधिक वसा होने के कारण कुछ इसे खाने से परहेज करते हैं। जबकि मक्खन स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होता है। आज हम आपको मक्खन खाने के फायदे बता रहे हैं।

मक्खन में मौजूद पोषक तत्व

ताज़ी दही या दूध को मथकर मक्खन तैयार किया जाता है कुछ लोग इसे माखन भी कहते हैं। मक्खन में कई तरह के मिनरल्स जैसे मैंगनीज, क्रोमियम, आयोडीन, जस्ता, तांबा और सेलेनियम पाए जाते हैं। इसमें कई तरह के विटामिन जैसे विटामिन ए, विटामिन डी, विटामिन ई और विटामिन K पाया जाता है। मक्खन में कुछ फैट भी होते है जो शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं।

मक्खन खाने के फायदे

मक्खन स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होता है। मक्खन खाने से शरीर को कई तरह के फायदे मिलते हैं। यहाँ हम उन्ही के बारे में बता रहे हैं –

इम्यून सिस्टम के लिए

मक्खन में कैरोटीन होता है। जो शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होता है। शरीर में जाने के बाद कैरोटीन या तो एंटी-ऑक्सीडेंट में परिवर्तित हो जाता है या विटामिन ए में। मक्खन के एंटी ऑक्सडेंट गुण शरीर को संक्रामक रोगों से बचाने में मदद करते है और इम्यून सिस्टम को मजबूत करते हैं। विटामिन ए त्वचा, आंखों, मुंह, गले, यूरिन सिस्टम और पाचन तंत्र के लिए फायदेमंद होता है।

पाचन के लिए

मक्कन खाने से पाचन संबंधी समस्यायों की संभावना नहीं रहती। इसमें विशेष प्रकार का फैटी एसिड होता है पेट और आंतों की रक्षा करता है। यह पेट और पाचन तंत्र को स्वस्थ रखने में मदद करता है।

कैंसर से बचाव

मक्खन में विटामिन ए और बीटा कैरोटीन होता है, जो कैंसर से बचाने में मदद करते हैं। शोध के अनुसार, ये दोनों की तत्व शरीर में कैंसर कोशिकाओं के विकास को अवरोधित करते हैं। जिससे कैंसर कोशिकाओं विकसित होने से पूर्व ही समाप्त हो जाती है और इसका खतरा नहीं रहता। मक्खन खाने से कैंसर के बढ़ने की संभावना भी कम हो जाती है।

थाइराइड के लिए

अधिकतर लोगों को थाइराइड की समस्या शरीर में विटामिन ए की कमी से होती है और मक्खन में विटामिन ए अधिक मात्रा में होता है। मक्खन खाने से थाइराइड को रोकने में मदद मिलती है और अगर किसी को थाइराइड की समस्या है तो ठीक करता है। इसलिए थाइराइड से ग्रसित लोगों को बटर जरूर खाना चाहिए।

हार्ट के लिए

मक्खन में HDL कोलेस्ट्रॉल होता है, जो हृदय के लिए बहुत अच्छा होता है। बटर में ओमेगा 3 फैटी एसिड होता है जो बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करने का काम करता है। शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ने से वह धमनियों में जमने लगता है जिससे हार्ट स्ट्रोक और अन्य हार्ट डिजीज होने का खतरा बना रहता है। मक्खन खाने से इन सभी समस्यायों से बचाव में मदद मिलती है।

आँखों के लिए

बटर में मौजूद बीटा कैरोटीन आँखों के लिए बहुत फायदेमंद होता है। यह आँखों को स्वस्थ रखने में मदद करता है और आंखों में होने वाली बिमारियों के खतरे को कम करता है। मक्खन खाने से आँखों की रौशनी भी सही रहती है।

मेटाबॉलिज्म के लिए

मक्खन में कई विटामिन्स पाए जाते हैं जो स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होती हैं। ये विटामिन्स शरीर में आसानी से घुल जाते हैं जिससे शरीर उन नुट्रिएंट्स को मेटाबॉलिज्म की प्रक्रिया के दौरान आसानी से अवशोषित कर पाता है। इसमें मौजूद विटामिन ए और विटामिन डी दिमाग और तंत्रिका तंत्र के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं।

अर्थराइटिस के लिए

मक्खन में एक विशेष तत्व होता है जो केवल मक्खन और क्रीम में पाया जाता है। यह तत्व जोड़ों में कैल्शियम को जमने से रोकता है, जिससे गठिया की समस्या होने का डर नहीं रहता। अर्थराइटिस से पीड़ित लोग अगर मक्खन का सेवन करते हैं तो इस समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है।

हड्डियों के लिए

मक्खन में मैंगनीज, क्रोमियम, आयोडीन, जस्ता, तांबा और सेलेनियम पाए जाते हैं जो हड्डियों को स्वस्थ रखने के साथ-साथ उन्हें रिपेयर करने के लिए बहुत जरुरी होते हैं। शरीर में इन तत्वों की कमी के कारण हड्डियों से संबंधित समस्याएं होने की संभावना रहती है। इसलिए मक्खन जरूर खाना चाहिए। यह शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होता है।

ये थे मक्खन खाने के फायदे। अगर आप भी अपनी डाइट में मक्खन को शामिल करेंगे तो ऊपर गयी समस्यायों से बच सकते हैं। लेकिन ध्यान रहे किसी भी चीज को सीमित मात्रा में खाना ही फायदेमंद होता है, जरूरत से ज्यादा खाने से परेशानी आपको ही होगी। इसलिए लिमिट में खाएं।