Ultimate magazine theme for WordPress.

जिलाधिकारी ने बुजुर्ग महिला का “वारिस” बन किया अंतिम संस्कार 

0

जिलाधिकारी ने बुजुर्ग महिला का वारिस बन किया अंतिम संस्कार, अनिल कुमार पाठक, फैजाबाद जिलाधिकारी, लावारिस बुजुर्ग महिला का अंतिम संस्कार, जिलाधिकारी अनिल कुमार पाठक, डीएम ने किया अंतिम संस्कार, लावारिस बुजुर्ग महिला का अंतिम संस्कार, DM Anil Kumar Pathak News

ये घटना कोई टीवी सीरियल की कहानी नहीं है। ये एक सच्ची घटना है जिसमे एक बूढ़ी महिला सड़क के किनारे दर्द से कराह रही थी। एक इंसान उधर से गुजरता है। उसे उस बुजुर्ग महिला को देखकर दया आ जाती है और वो इंसान उस बुजुर्ग महिला को हॉस्पिटल ले जाता है। दोनों एक दूसरे को जानते नहीं थे फिर भी महीनों तक बुजुर्ग महिला हॉस्पिटल में रही और ये इंसान रोजाना उससे मिलने जाया करते थे। जिलाधिकारी ने किया अंतिम संस्कार

उस समय में उन दोनों के बीच माँ बेटे जैसा इमोशनल रिश्ता बन गया पर वो बुजुर्ग महिला बच ना सकी और उनका देहांत हो गया।

वो इंसान कोई और नहीं बल्कि फैजाबाद के जिलाधिकारी अनिल कुमार पाठक हैं। अनिल कुमार पाठक ने हिन्दू रीती रिवाजों के अनुसार उस महिला का दाह संस्कार किया, क्रियाक्रम करवाएं और अस्थियां भी बाद में गंगा में विसर्जित करवायीं।जिलाधिकारी अनिल कुमार पाठक

अनिल कुमार पाठक जौनपुर के रहने वाले किसान परिवार से हैं। उन्होंने दर्शन शास्त्र से पीएचडी की है। 1994 बैच के PCS अफसर अनिल कुमार पाठक ने सितंबर 2017 में जिले के जिलाधिकारी पद की शपथ ली थी। पाठक ने बताया, ‘एक इंसान के तौर पर यह सब मेरी जिम्मेदारी थी। वह एक महीने तक हॉस्पिटल में रहीं लेकिन ना ही कोई उनसे मिलने आया और ना ही किसी ने पुलिस में उनकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई।