गर्भ में शिशु को नुकसान पहुंचाते हैं यह फ़ूड

0

गर्भ में शिशु को नुकसान पहुंचाते हैं यह फ़ूड, भ्रूण के लिए नुकसानदायक हैं यह आहार, गर्भवती महिला न करे इन चीजों का सेवन, प्रेगनेंसी के दौरान महिला को यह नहीं खाना चाहिए

प्रेगनेंसी किसी भी महिला के लिए बहुत ही खास समय होता हैऔर इस दौरान की गई थोड़ी सी भी लापरवाही परेशानी का कारण बन सकती है। ऐसे में महिला को अपनी दुगुनी केयर करनी चाहिए, क्योंकि महिला द्वारा की गई किसी भी लापरवाही का असर गर्भ में पल रहे शिशु पर भी पड़ सकता है। तो आज हम आपको कुछ ऐसे फ़ूड बताने जा रहे हैं जिनका सेवन प्रेगनेंसी के दौरान आपको बिल्कुल नहीं करना चाहिए। क्योंकि इसका बुरा असर गर्भ में पल रहे शिशु पर मानसिक व् शारीरिक रूप से पड़ सकता है।

कच्चा पपीता

कच्चे पपीते में बहुत अधिक मात्रा में लेटेक्स पाए जाते हैं, जो भ्रूण के लिए बहुत नुकसानदायक होते हैं। प्रेगनेंसी के शुरुआत में तो यह गर्भ को भी गिरा सकते हैं, ऐसे में प्रेगनेंसी के दौरान कच्चे पपीते का सेवन नहीं करना चाहिए।

अनानास

अनानास में विटामिन सी की अधिकता होती है, इसके कारण महिला को गले से जुडी समस्या हो सकती है। साथ ही यह शिशु के शारीरिक विकास पर भी असर डालता है, और कई बार तो अनानास का अधिक सेवन गर्भपात का कारण भी बन जाता है।

जंक फ़ूड

प्रेगनेंसी के दौरान जंक फ़ूड, ज्यादा मसाले वाला खाना, डीप फ्राइड फ़ूड, आदि का अधिक सेवन करने से शरीर में पोषक तत्वों की कमी हो जाती है। जिसके कारण शिशु को पोषक तत्व नहीं मिलते हैं और शिशु शारीरिक रूप से बेहतर विकसित नहीं हो पाता है।

सी फ़ूड और मछली

सी फ़ूड और मछली में मर्करी की मात्रा बहुत अधिक होती है, जो की शिशु के शारीरिक के साथ मानसिक विकास पर भी असर डाल सकती है। ऐसे में प्रेगनेंसी के दौरान आपको इनका सेवन बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए।

कैफीन व् कोल्ड ड्रिंक का भी अधिक सेवन न करें

कैफीन की तासीर गर्म होती है जिसके कारण इसका अधिक सेवन शिशु पर नकारात्मक असर डाल सकता है। साथ ही कोल्ड ड्रिंक व् अन्य फ्लेवर्ड ड्रिंक भी प्रेगनेंसी के दौरान भ्रूण पर बुरा असर डालते हैं। इसीलिए आपको इनका सेवन नहीं करना चाहिए।

कच्चा पनीर व् कच्चा दूध

प्रेगनेंसी के दौरान कच्चा दूध व् उससे बने पनीर या कच्चे पनीर का सेवन भी नहीं करना चाहिए। क्योंकि इसका असर शिशु को मानसिक रूप से बुरी तरह प्रभावित करता है और उसका मानसिक विकास बेहतर तरीके से नहीं हो पाता है।

कच्चे आहार और अंकुरित आहार

कच्ची सब्जियों, अंकुरित आहार का सेवन भी प्रेगनेंसी के दौरान आपको नहीं करना चाहिए। क्योंकि इसमें मौजूद हानिकारक बैक्टेरिया व् कीटाणु बॉडी में जाकर शिशु के शारीरिक विकास में रोक लगा सकते हैं। और बाकी सब्जियों व् फलों का सेवन भी अच्छे से धोने के बाद ही करना चाहिए।

अल्कोहल

गर्भवती महिला को शराब का सेवन भी नहीं करना चाहिए, क्योंकि यह गर्भनाल के रास्ते शिशु तक पहुंचकर शिशु पर बहुत बुरा प्रभाव डालती है। और इसका असर शिशु पर नकारात्मक रूप से पड़ता है, जिसके कारण उसके मानसिक विकास में कमी आ सकती है।

कच्चा मांस

कच्चे मांस का सेवन आपको टॉक्सोपलॉस्मोसिस से संक्रमित कर सकता है, जिसके कारण महिला का गर्भपात भी हो सकता है, और शिशु के विकास में भी कमी आ सकती है।

तो यह हैं कुछ आहार जिनका सेवन आपको प्रेगनेंसी के दौरान नहीं करना चाहिए क्योंकि इसके कारण गर्भ में पल रहे शिशु के मानसिक और शारीरिक रूप से विकास में कमी आती है। और गर्भवती महिला को भी परेशानी का अनुभव हो सकता है।

[Total: 1    Average: 1/5]