प्रेग्नेंट होने के लिए एग की क़्वालिटी ऐसे सुधारें

प्रेगनेंसी के लिए जितना जरुरी पुरुष के शुक्राणु की गुणवत्ता का बेहतर होना होता है उतना ही महिला की एग क़्वालिटी का बेहतर होना भी जरुरी होता है। क्योंकि एग क़्वालिटी यदि अच्छी नहीं होगी तो इसके कारण महिला को प्रेग्नेंट होने में परेशानी होगी। और यदि महिला गर्भधारण कर भी लेती है तो मिसकैरिज होने के चांस अधिक होते हैं या प्रेगनेंसी में बहुत सी दिक्कतों का सामना करना पडता है। इसके अलावा एग क़्वालिटी अच्छी न होने के कारण शिशु के विकास में भी समस्या हो सकती है जिसके कारण शिशु के अंगो के विकसित न होने जैसी परेशानी होती है। ऐसे में महिला को प्रेगनेंसी में कोई दिक्कत न हो बच्चे के जन्म के समय कोई दिक्कत न हो इसके लिए महिला को एग क़्वालिटी को बेहतर करने की कोशिश करनी चाहिए।

एग क़्वालिटी अच्छी न होने के कारण

उम्र: एग क़्वालिटी उम्र पर निर्भर करती है जैसे जैसे महिला की उम्र बढ़ती है वैसे वैसे एग क़्वालिटी में कमी आती रहती है।

नशे की लत: यदि कोई महिला शराब, धूम्रपान जैसी लत की शिकार होती है तो कम उम्र होने पर भी महिला की एग क़्वालिटी कम हो जाती है।

तनाव: मानसिक रूप से ज्यादा परेशान होने का असर सीधा एग की गुणवत्ता पर पड़ता है। ऐसे में यदि कोई महिला तनाव से पीड़ित होती है तो महिला के अंडे की गुणवत्ता में कमी आ सकती है।

वजन: वजन का बहुत ज्यादा कम होना और बहुत ज्यादा होना दोनों के कारण ही महिला की एग क़्वालिटी पर नकारात्मक असर पड़ता है।

मासिक धर्म में अनियमितता: पीरियड्स से जुडी समस्या जैसे की बहुत ज्यादा ब्लीडिंग होना, ज्यादा दिनों के लिए ब्लीडिंग होना, पीरियड्स आने का अंतराल ज्यादा होना तो यह सब ओवुलेशन पीरियड और अंडे की गुणवत्ता पर गलत असर डालते हैं।

गलत खान पान: हर कोई बाहर के खाने के शौकीन होता है लेकिन कोई महिला यदि हमेशा ही बहुत ज्यादा फैटी फ़ूड, मसाले वाले फ़ूड का सेवन करती है, तो इसके कारण भी महिला की एग क़्वालिटी खराब होने लगती है।

एग क़्वालिटी को बेहतर करने के टिप्स

यदि किसी महिला को गर्भधारण करने में दिक्कत हो रही है तो इसका एक कारण महिला के एग की क़्वालिटी का बेहतर न होना होता है। ऐसे में एग क़्वालिटी को बेहतर करने के लिए महिला को कुछ बातों का ध्यान जरूर रखना चाहिए। ताकि महिला को प्रेग्नेंट होने में किसी भी तरह की परेशानी का सामना न करना पड़े। तो आइये अब जानते हैं वो टिप्स कौन से हैं।

वजन

सबसे पहले तो महिला को आपने वजन को सही रखना चाहिए आपकी उम्र, लम्बाई के हिसाब से आपका वजन न तो जरुरत से ज्यादा होना चाहिए और न ही जरुरत से कम होना चाहिए।

खान पान

महिला को बाहर के खाने, जंक फ़ूड को छोड़कर हैल्थी और पोषक तत्वों से भरपूर आहार को अपनी डाइट का हिस्सा बनाना चाहिए। साथ ही जिन फूड्स को खाने से एग क़्वालिटी बेहतर होती है उनका सेवन जरूर करना चाहिए। जैसे की एवोकाडो, दालें, बीन्स, सूखे मेवें, हरी सब्जियां, अदरक, दालचीनी, हल्दी, विटामिन सी से भरपूर फल, आदि।

तनाव से दूरी

महिला को इस बात का खास ध्यान रखना चाहिए की वो मानसिक रूप से रिलैक्स रहें यदि आप वर्किंग है तो आपको आपने आप को खुश करने के लिए थोड़ा समय निकालना चाहिए। इसके अलावा तनाव को दूर करने के लिए महिला को वो काम करने चाहिए जिनसे महिला को ख़ुशी मिलती है। यदि महिला स्ट्रेस फ्री रहती है तो इससे भी एग क़्वालिटी को बेहतर होने में मदद मिलती है।

मासिक धर्म से जुडी परेशानी का इलाज करें

यदि आपको पीरियड्स से जुडी परेशानी है तो आपको उस परेशानी का इलाज करना चाहिए। ताकि आपका ओवुलेशन पीरियड सही हो सके और आपके एग की क़्वालिटी को भी बेहतर होने में मदद मिल सके।

लाइफ स्टाइल सुधारें

एग क़्वालिटी को बेहतर करने के लिए आपको आपने लाइफ स्टाइल और रूटीन का भी अच्छे से ध्यान रखना चाहिए। जैसे की किसी तरह का नशा नहीं करना चाहिए, व्यायाम योगासन मैडिटेशन करना चाहिए, नींद पूरी लेनी चाहिए, हाइड्रेटेड रहना चाहिए, आदि। जितना आपका लाइफ स्टाइल सही होगा उतना ही आपके एग की क़्वालिटी को बेहतर करने में मदद मिलेगी।

सप्प्लिमेंट्स लें

खान पान के अलावा महिला को डॉक्टर से राय लेने के बाद सप्प्लिमेंट्स भी लेने चाहिए। ताकि शरीर में विटामिन्स, आयरन, कैल्शियम आदि की कमी न हो, और महिला की एग क़्वालिटी को सही रहने में मदद मिल सके।

तो यह हैं कुछ टिप्स जिनका ध्यान रखने से महिला एग की क़्वालिटी को बेहतर कर सकती है। और जितना अच्छे से महिला इन टिप्स का ध्यान रखती है उतना ही महिला की एग क़्वालिटी में सुधार होता है और महिला को जल्दी प्रेग्नेंट होने में मदद मिलती है।