इज्जत पाने के तरीके

respect

इज्जत पाने के तरीके:-

इज्जत या सम्मान कोई ऐसी चीज नहीं हैं जिसे आप कही बाजार से खरीद ले, या किसी से खोस लें| इज्जत वो हैं जिसे पाने के लिए आपको उसे हासिल करना पड़ता हैं| और इसके लिए सबसे जरुरी हैं की आपका व्यक्तित्व कैसा हैं| इज्जत का होना न होना व्यक्ति के व्यव्हार पर भी निर्भर करता हैं| उसकी सोच कैसी ही इस बात का भी अहम रोल होता हैं| यदि व्यक्ति का चेहरा तो अच्छा हैं, परंतु उसकी सोच शर्मिंदा करने वाली हैं तो ऐसे व्यक्ति को समाज में इज्जत नहीं दी जाती हैं|

एक अच्छे समाज में रहने के लिए जरुरी हैं की आपके पास इज्जत हो और आप दुसरो को भी वही इज्जत दें| घमंड, अहंकार क्रोध भी आपको कभी भी समाज में इज्जत नहीं पाने देते हैं| आप खुद सोचिये यदि आप किसी से प्यार व् सम्मान से बात करते हैं तभी तो सामने वाला भी आपसे प्यार और इज्जत से बात करता हैं| यदि आप सामने वाले के साथ गुस्से से और उसे नीचा दिखाकर बात करते हैं तो क्या वो आप से बात करता हैं| ये आपकी आम जिंदगी का हिस्सा हैं|

इज्जत पाने के लिए सबसे जरुरी होता हैं की आप पहले दुसरो के साथ इज्जत से पेश आये, उन्हें नीचा दिखाने की कभी कोशिश न करें, किसी को उसके काम को लेकर कभी शर्मिंदा न करे, हमेशा प्यार से सबसे साथ रहें, घमंड व् अहंकार न करें, अच्छी सोच रखें, दुसरो के प्रति मदद की भावना रखें, आदि| ये सब कुछ छोटी-छोटी बातें हैं जिनका इज्जत पाने में एक अहम भूमिका होती हैं| और यदि आप दुसरो से इच्छा रखते हैं की वो आपको सम्मान दे, तो इसके लिए ये भी जरुरी हैं की आप भी उन्हें इज्जत दें|

आइये आज हम आपको कुछ ऐसे टिप्स देते हैं जिनकी मदद से आपको इज्जत का क्या मतलब होता हैं, और किस प्रकार किसी से इज्जत की अपेक्षा की जाती हैं| इस विषय में आपको बताते हैं| इज्जत करना और इज्जत लेना दोनों ही बातें अलग मतलब रखती हैं| तो आइये जानते हैं की वो कौन सी बातें हैं जिनके कारण आप दुसरो से इज्जत की छह रख सकते हैं, और इसे पाने के लिए किन-किन चीजो का होना जरुरी होता हैं|

इज्जत पाने के लिए कुछ टिप्स:-

दुसरो को सम्मान दें:-

इज्जत पाने का सबसे पहले असूल होता हैं की सबसे पहले आप दुसरो को सम्मान दें| यदि आप दुसरो की उपेक्षा करते हैं| तो आप कैसे दुसरो से सम्मान पाने की चाह रख सकते हैं| आप खुद ही सोचिये यदि आप किसी के घर में आने पर उससे इज्जत से बात नहीं करते हैं, तो आप कैसे सोच सकते हैं की आप किसी के घर जायेंगे तो वो आपका आदर भाव करेगा| यदि आप ऐसा सोचते हैं तो ये बिलकुल गलत हैं वो आपको कभी आमन्त्रित ही नहीं करेगा| इसीलिए पहले दुसरो को सम्मान देना सीखें|

प्रेम भाव रखें:-

यदि आप किसी से कटु भाव रखते हैं, और हमेशे उखड़े से जवाब देते हैं| कभी भी प्यार से बात नहीं करते हैं| ऐसा करने पर आप कभी भी इज्जत पाने का पात्र नहीं बनते हैं| इज्जत व् सम्मान पाने के लिए जरुरी हैं की आप प्रेम भाव रखें ताकि आप दुसरो से भी उसी प्रेम भाव की अपेक्षा रख सकें| प्रेम भाव से रहने पर आपके संबंधों में मधुरता और मिठास भी बढ़ती हैं| और यदि आप चाहते हैं की आप दूसरे आपको इज्जत व् प्यार दें, तो आप भी उनके साथ वैसा ही व्यव्हार रखें|

क्रोध व् अहंकार न करें:-

जहाँ क्रोध व् अहंकार के लिए स्थान होता हैं, वह सिर्फ कलह और दुसरो की निंदा ही होती हैं| वह सम्मान के लिए कोई जगह नहीं होती हैं| यदि आप चाहते हैं की आपकी जिंदगी में भी वो इज्जत और सम्मान हो| तो जरुरी हैं की आप क्रोध और अहंकार न करें| क्योकि इससे सिर्फ इज्जत जाती ही हैं, आप खुद ही सोचिये यदि आपके घर में रोजाना लड़ाई होती हैं तो आपके बच्चे क्या कभी आपकी इज्जत कर पाएंगे, नहीं ऐसे होने से सिर्फ रिश्ते टूटते हैं और इज्जत जाती हैं, इसीलिए इन चीजो से दुरी बनाएं रखनी चाहियें|

दुसरो की मदद की भावना रखें:-

इज्जत पाने के लिए ये भी जरुरी हैं की आप हमेशा अपने आप में ही न रहें, बल्कि आपको हमेशा दुसरो की भलाई में भी उनका साथ देना चाहिए, समाज में इज्जत पाने के लिए दुसरो की मदद के लिए हमेशा तैयार रहना चाहिए| यदि आप चाहते हैं की समाज में आपको वो इज्जत और प्यार मिलें| तो सही समय पर व्यक्ति का साथ देना चाहिए| न की डर से कदम को पीछे हटा लेना चाहिए| क्योंकि ऐसा करने पर कोई आपको इज्जत का पात्र नहीं देता हैं, इसीलिए दुसरो की मदद की भावना को अपने दिल में रखें|

किसी को भी नीचा दिखाने की कोशिश न करें;-

जो व्यक्ति हमेशा दुसरो को अपने आप से कम समझता हैं| और हमेशा दुसरो को नीचा दिखाने का प्रयत्न करता हैं| ऐसे व्यक्ति के साथ न तो कोई बोलना पसंद करता हैं| और न ही समाज में उसे इज्जत मिलती हैं| किसी भी कारण किसी व्यक्ति को नीचा समझना और उसे सम्मान न देना, इससे उस पर नहीं आपकी इज्जत पर फ़र्क़ पड़ता हैं| इसीलिए सम्मान पाने के लिए सबसे जरुरी हैं की आप दुसरो को कभी भी नीचा न दिखाएं, सबको सामान नज़रो से देखें|

अपनी सोच को अच्छा रखें:-

सोच किसी भी व्यक्ति के व्यक्तित्व को जाहिर करने के लिए काफी होती हैं| आप खुद सोचिये यदि आप किसी को सही राय देते हैं तो वो आपके साथ कैसे व्यव्हार करता हैं| और यदि आप हर काम के लिए अपनी सोच को हमेशा दुसरो पर नकारात्मक ही जाहिर करते हैं, और आपको केवल न और नहीं शब्द आते हैं| तो आपको कभी भी कोई नहीं पूछता हैं| यदि आप हर एक बात को हर पहलु से समझ कर लोगो पर अपनी सोच को जाहिर करते हैं| तो लोग आपको इज्जत देते हैं|

किसी भी काम को छोटा न समझे:-

व्यक्ति की सोच किसी काम को लेकर भी जाहिर होती हैं| कई लोग लोगो के काम को देखकर उनसे बात करते हैं, उनकी अमीरी या गरीबी को जानने के बाद उनसे बात करते हैं| ऐसा नहीं करना चाहिए| क्योंकि भगवान् की बनाई इस दुनिया में सिर्फ काम बटे हुए हैं इंसान नहीं| इसीलिए दुसरो के व्यक्तित्व को जाने के लिए सिर्फ उसके काम पर ही उन्हें न आजमाएं| क्योंकि ऐसा व्यक्ति जो किसी ही हैसियत के हिसाब से बात करता हैं| ऐसे लोग कभी भी इज्जत नहीं प्राप्त नहीं कर पाते हैं|

गलत को गलत और सही को सही कहने की क्षमता रखें:-

किसी भी व्यक्ति की असली पहचान तब हो जाती हैं यदि उसमे गलत को गलत और सही को सही कहने की क्षमता हो| यदि कोई व्यक्ति गलत में भी हां मिला देता हैं| तो वह इज्जत के योग्य नहीं होता हैं| इससे व्यक्ति अपने ही व्यक्तित्व को भी धोखा देता हैं| और साथ ही लोग उस व्यक्ति की उपेक्षा भी करने लगते हैं| इसीलिए हर एक व्यक्ति के अंदर गलत को गलत और सही को सही कहने की क्षमता होनी चाहिए, तभी वो अपनी नज़रो में भी इज्जत को पा सकता हैं|

किसी को छोटे या बड़े को भी प्रोत्साहित करने में पीछे न हटें:-

इज्जत पाने के लिए आपको कभी भी किसी को उसके अच्छे काम को प्रत्साहित करने से पीछे नहीं हटना चाहिए| क्योंकि यदि आप उसे प्रोत्साहित करते हैं तो इसे आपका बड़ापन खा जाता हैं| यदि कोई छोटा आपसे अच्छा काम करता हैं तो जरुरी हैं की उसके काम की आप तारीफ़ करें, और उसे आगे बढ़ने के लिए प्ररित करें, न की उससे जलन व् ईर्ष्या करने लगें| इससे उसके खुश होने के साथ सभी के सामने आप भी इज्जत के हकदार बनते हैं, परंतु ये तारीफ़ आपके दिल से होनी चाहिए|

इज्जत पाने के लिए अन्य टिप्स:-

  • हमेशा दुसरो के साथ इज्जत व् सम्मान से पेश आएं|
  • दुसरो के साथ प्रेम भाव रखें|
  • किसी का दिल न तो दुखाएं, और न ही उसके लिए कोशिश करें|
  • दुसरो की मदद के लिए सदा तैयार रहें|
  • गलत को गलत और सही को सही कहने की क्षमता रखें|
  • किसी के प्रति गलत भाव को अपने मन में पनपने न दें|
  • क्रोध व् अहंकार को अपने जीवन में स्थान न दें|
  • अपनी सोच को हमेशा सकारत्मक रखें|
  • दुसरो के सुख दुःख में उनके साथ दें, जो आपसे चाहते हैं|
  • किसी से किसी भी तरह की अपेक्षा न रखें|

इज्जत पाने के लिए टिप्स, इज्जत पाने के उपाय, इज्जत कैसे पायी जाती हैं, इज्जत पाने के लिए कुछ तरीके, tips for take respect from others, ijjat paane ke trike,

[Total: 2    Average: 3/5]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *