Ultimate magazine theme for WordPress.

JEE Advance 2018 : आईआईटी जेईई एडवांस्ड का दुबारा रिजल्ट? इमरजेंसी बैठक

0

देश के सबसे प्रतिष्ठित कॉलेज आईआईटी में नामांकन के लिए जेईई एडवांस्ड 2018 का रिजल्ट फिर से आ सकता हैं। कारण यह है की ज्वाइंट एडमिशन बोर्ड (जैब) की तरफ से आईआईटीम में दाखिले के लिए हाई कटऑफ लागू करने से क्वालिफाई हुए छात्रों की संख्या 8 साल में सबसे कम होने के चलते इस बार देश के विभिन्न आईटीटी कॉलेज में सीटें खाली रह जाने का खतरा पैदा हो गया है। इसी समस्या का समाधान के लिए जैब की एक इमरजेंसी बैठक जेईई एडवांस्ड-2018 की आयोजक आईआईटी कानपुर की अध्यक्षता में बुधवार को बुलाई गई है, जिसमें दोबारा रिजल्ट पर फैसला होगा।

आईआईटी से जुड़े वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक आज के बैठक में ये निर्णय लिया जा सकता है की कम कटऑफ के जरिए दोबारा रिजल्ट जारी कर क्वालिफाई छात्रों की संख्या बढ़ाई जाए या नहीं। अगर ऐसा होता है और कुछ बात बैठक से निकल कर आती है तब  छात्रों के लिए खुशखबरी होगी, जिनके मार्क्स कम थे और  जो हाई कटऑफ के कारण क्वालीफाई नहीं हो पाए थे। पर कुछ लोग इससे पसोपेश में है क्यों की दुबारा रिजल्ट निकलना आईआईटी के क्रेडिबिलिटी पर असर पड़ सकता है। क्यों की आईटी की अपनी एक साख है विश्व में.

प्रो. शलभ जो की जेईई चेयरमैन हैं,  उनके अनुसार  इमरजेंसी बैठक में रिजल्ट जारी होने की पूरी जानकारी दी जाएगी। जहां तक कम छात्रों के क्वालीफाई होने की बात है तो यह संभव नहीं है। इस बार जी एडवांस 2018  के लिए  सामान्य वर्ग 10 मार्क्स क्वालीफाइंग रखे गए थे। जबकि ओबीसी के लिए 9 व अन्य आरक्षित वर्ग के लिए पांच अंक थे। जितने छात्रों ने क्वालीफाइंग अंक या इससे अधिक हासिल किया है उन्हें आईआईटी के लिए क्वालीफाई कर दिया गया है। प्रो. शलभ के ने कहा जो परीक्षार्थी दस नंबर भी नहीं पाए हैं उन्हें क्वालीफाई कराने का कोई मतलब नहीं है।

इस साल से लड़कियों के लिए अलग से कोटा

केंद्र सरकार के तरफ से गर्ल्स सुपर न्यूमेरी कोटे के तहत अतिरिक्त आठ सौ सीट दिए जाना भी बना है। लड़कियों को आईआईटी कॉलेज में नामांकन के लिए विशेष सुविधा दी जा रही है. जेईई एडवांस्ड की कठिन परीक्षा पास करने वाली छात्राओं ने आईआईटी की अपने घर के आसपास के इंजीनियरिंग कॉलेज में नामांकन ले रही है। ऐसे में ये सीटें भी पूरी भर जाएं, इस आईआईटी अपने-अपने जोन में क्वालिफाई होने वाली व अन्य छात्राओं को ऑरिएंटेशन प्रोग्राम के तहत अपना कैंपस आकर देखने पास के आईआईटी कॉलेज में नामांकन लेने के लिए प्रेरित करेगा।

जेईई एडवांस 2018 रिजल्ट का ये है आंकड़ा
18138 छात्र ही क्वालिफाई हुए हैं
11279 सीट हैं देश की 23 आईआईटी में
800 अतिरिक्त सीटें भी जोड़नी हैं इन सीटों में तो 12
12 हजार से ज्यादा सीट हो जाती हैं इस तरह प्रवेश के लिए