Ultimate magazine theme for WordPress.

शादी से पहले और शादी के बाद लड़कियों में क्या बदलाव आतें है

0

शादी से पहले और शादी के बाद लड़कियों में क्या बदलाव आतें है:-

शादी के बाद हो या पहले औरत का यदि दूसरा नाम रखा जाएँ तो आप उसे बदलाव कह सकते है, इस दुनिया में औरत ही सबसे ज्यादा बदलाव का अनुभव लेती है, फिर चाहे वो माँ बनने का अनुभव हो, या फिर शादी के बाद बचपन से जिस घर में रही हो, वहाँ से किसी दूसरे घर जा कर वहाँ के लोगो को अपना बनाने का बदलाव हो, शादी से पहले महिला के अंदर बहुत से शारीरिक बदलाव आते है, जैसे की उनके शरीर के अंगो का विकास जैसे की स्तनों का बढ़ना, और फिर मासिक धर्म की समस्या होना, गुप्तांगो में बालों की समस्या होना, आदि।

शादी के बाद सेक्स के कारण हॉर्मोन्स में बदलाव आना, दुसरो के अनुसार अपने आप को ढालना, अपनी मर्ज़ी से ज्यादातर काम न कर पाना, शारीरिक रूप से विकास का होना, मानसिक रूप से बदलाव का होना, समाजिक रूप से बदलाव आना, जैसे की समाज में किस तरह से रहना, बड़ो और छोटो के साथ किस तरह का व्यव्हार करना है, किस तरह से आप हर बात को सोच समझ कर उसके बाद जाहिर करते है, और किस तरह से आप हर एक बात को करने से पहले सोचते है, ऐसे कुछ बदलाव शादी के बाद भी आते है।

शादी के बाद आपको बहुत ही सोच समझ कर अपने जीवन को व्यतीत करना पड़ता है, और शादी से पहले आप लड़कपन में यदि कोई गलती भी करते है तो आपके माँ बाप को प्यार से समझा कर या हल्की सी डांट लगाकर भी चल जाता है परंतु शादी के बाद ऐसा नहीं चलता है, शादी के बाद कोई भी काम करने से पहले सोचना पड़ता है, की इस काम को करने का क्या असर होगा, और इस काम को करना सही भी है या नहीं, तो आइये अब विस्तार से जानते है की शादी से पहले और शादी के बाद लड़कियों में क्या क्या बदलाव आते है।

शादी से पहले आने वाले बदलाव:-

लड़कियों को आने लगता है मासिक धर्म:-

शादी से पहले उम्र का सबसे बड़ा बदलाव महिला में तब आता है, जब उन्हें मासिक धर्म शुरू होता है, मासिक धर्म लड़कियों को आठ से सत्रह वर्ष तक कभी भी हो सकती है, इस समय में लड़कियों की योनि से खून का प्रवाह होता है, और साथ ही पेट व् पीठ में दर्द आदि की समस्या होती है, और ये लड़कियों को तीन से पांच दिन तक होती है, और यदि लड़कियों को मासिक धर्म नहीं होता है, तो उनके माँ बनने की कोई सम्भावना नहीं होती है, और एक उम्र के बाद महिलाओ को ये आणि बंद भी हो जाती है।

लड़कियों में स्तनों और बाकी अंगो का विकास होता है:-

शादी से पहले लड़कियों का शारीरिक रूप से विकास होता है, जैसा की लड़कियों के स्तन का आकार बढ़ जाता है, लड़कियों की लंबाई बढ़ती है, लड़कियों के बट का आकार भी बढ़ जाता है, और ऐसा नहीं है की एक दम ही ऐसा होता है, बल्कि थोड़े थोड़े समय के बाद ये बदलाव आना शुरू हो जाता है, और समय समय पर बढ़ता रहता है, और साथ ही महिलाओ के अंदर हॉर्मोन्स में भी विकास होता है, जो लड़कियों की सोच में भी परिवर्तन लाता है।

गुप्तांगो में बालो का आना:-

लड़कियों के साथ लड़को में भी ये बदलाव आता है, जैसे की लड़कियों की योनि, अंडरआर्म्स में बाल आ जाते है, हाथो और पैरो में भी हलके फुल्के बाल आते है, और ऐसा नहीं है की जैसा की से के बाल तेजी से बढ़ते है वैसे ही इनमे भी वृद्धि होती है, बल्कि गुप्तांगो में बाल कम तेजी से बढ़ती है, परंतु अपनी साफ़ सफाई का ध्यान रखना चाहिए, क्योंकि यदि ऐसे में साफ़ सफाई न की जाएँ तो इन्फेक्शन होने का खतरा रहता है।

शादी के बाद आने वाले बदलाव:-

शारीरिक बदलाव आते है:-

लड़कियों को शादी के बाद बहुत से शारीरिक बदलाव आते है, जैसे की लड़कियों के अंदर सेक्स हॉर्मोन्स में वृद्धि होती है, स्तनों का आकार भी बढ़ जाता है, और साथ ही उत्तको का विकास होता है, और भी बहुत से शारीरिक बदलाव है जो महिलाओ के अंदर आते है, और ये बदलाव शादी से पहले शुरू हो जाते है, परंतु शरीर के सभी अंगो का पूर्ण विकास शादी के बाद ही होता है।

मानसिक बदलाव आते है:-

शादी के बाद महिलाओ में मानसिक रूप से बहुत बदलाव आते है, क्योंकि लड़कियों की हर बात को लेकर सोच बदल जाती है, और साथ ही हर किसी काम को करने से पहले बहुत सोचना पड़ता है, क्योंकि उस समय पर आप अकेले पर ही बहुत सी जिम्मेवारियां आ जाती है, और हर एक जिम्मेवारी को बखूभी निभाने के लिए जरुरी है की आप अपने अंदर मानसिक बदलाव लाएं ताकि आपको कभी भी शादी के बाद किसी भी तनाव से न गुजरना पढ़ें, और तनाव होने पर भी आसानी से उसका समाधान कर सकें।

समाजिक बदलाव आते है:-

शादी से पहले लड़की की जिम्मेवारी उसके माँ बाप की होती है, और शादी के बाद एक नहीं बल्कि कई रिश्ते उसके साथ जुड़ जाते है, इसके लिए जरुरी होता है, की आप हर चीज को माप तोल कर उसके बाद उसपे कदम रखें, साथ ही समाज के प्रति आपकी बहुत सी जिम्मेवारियां हो जाती है, इसके साथ आपको अपने परिवार को और समाज में आने वाले बदलाव को एक साथ रख सकते है, तो इन्हें लेकर भी बहुत से बदलाव लड़कियों को अपने अंदर लाने पड़ते है, और उनके हिसाब से ही चलना पड़ता है।

सोच में बदलाव आता है:-

शादी के बाद लड़कियों की सोच में भी बहुत बदलाव आता है पहले लडकिया अपने एन्जॉय के बारे में सोचती है, परंतु बाद में लड़कियों के लिए जरुरी है की, वो अपने परिवार को साथ लेकर चलती है, उनके बारे में सोचती है, पति को आगे रखती है, सास ससुर को साथ लेकर चलती है, समाज को साथ लेकर चलती है, बच्चों के बारे में पहले सोचती है, और शादी से पहले लड़की पर ऐसी कोई जिम्मेवारी नहीं होती है, बल्कि ये सभी काम उनके माँ बाप के होते है, इसीलिए आप कह सकते है की शादी के बाद लड़कियों में सोच को लेकर भी बदलाव आता है।

शादी के बाद याद रखने योग्य बातें:-

शादी के शरूरात के दिनों को लोग ऐसे समझते है की बस जो कुछ है उस पर खर्च कर दें, परंतु उन दिनों के बाद जो दिन आने वाले है उस बारे में कोई विचार नहीं करता है, ऐसा नहीं करना चाहिए, शादी की गाडी दो पटरी पर चलती है, इसीलिए दोनों को एक साथ और सभी बातों को ध्यान में रख कर चला चाहिए, हम आपको ये नहीं कह रहे है की आप शादी के बाद अपने खास लम्हो को न जीएं, बल्कि आपको उन लम्हो को यादगार बनाना चाहिए, और उन्हें जीवा चाहिए।

शादी के बाद लड़के भी खुले दिल से कही उनकी पत्नी को ये न लगे की उनका पति कुछ कमाता नहीं है ऐसा न लगें, और पत्निया भी सोचती है जो कुछ मिलें वो ले लो, ऐसी सोच में आपको परिवर्तन लाना चाहिए, आपके लिए जरुरी होता है की आप दोनों एक दूसरे के साथ बिलकुल पारदर्शी रहें आपको दिखावा करने की जरुरत नही होती है, क्योंकि आपने हमेशा एक साथ ही रहना है तो आपका हुनर एक दूसरे को पता चल जाता है, तो ऐसे में दिखावा क्यों? तो इन बदलाव को भी महिला और पुरुष दोनों को ही समझना चाहिए।

शादी के पहले और बाद में लड़कियों में आने वाले बदलाव, शादी से पहले लड़कियों में क्या बदलाव आते है, शादी के बाद लड़कियों में क्या बदलाव आते है, शादी के बाद आने वाले बदलाव, शादी के पहले आने वाले बदलाव, शादी के बाद आते है लड़कियों में ये बदलाव, shadi ke baad ladkiyo me aane vale badlaav, shadi ke pehle ladkiyo me aane vale badlaav, changes in girls before and after marriage, Girls Changes