Ultimate magazine theme for WordPress.

मिरिक : एक लोकप्रिय पहाड़ी क्षेत्र

0

बहुत कम लोग होंगे जो इस स्थान के बारे में जानते होंगे लेकिन ये भारत के उन चुनिंदा पहाड़ी क्षेत्रों में से एक है जहां अक्सर भारतीय अपनी छुट्टिया व्यतीत करने का स्वप्न देखते है. ऐसा ही एक स्थान है मिरिक, जो शानदार पर्यटक स्थल है. ये पश्चिम बंगाल के दार्जिलिंग जिले की पहाड़ियों में स्थित है. मिरिक का नाम लेपचा शब्द Mir-Yok से बना है जिसका अर्थ है “आग से जला स्थान”.

मिरिक अपनी जलवायु, प्रकृति सुंदरता और आसानी से पहुंच के कारण लोकप्रिय गंतव्य स्थान है. यहाँ का केंद्रीय आकर्षण सुमेंदु झील है. जिसके एक ओर हरा भरा उद्यान और दूसरी ओर देवदार के वृक्ष है. इसके साथ ही ये एक फुटब्रिज से भी जुड़ा हुआ है जिसे इन्द्राणी पुल कहा जाता है. इस झील के चारो ओर एक 3.5-km-लम्बी रोड बनी हुई है जिसका प्रयोग झील के आस पास घूमने के लिए और कंजनजुंगा का नज़ारा देखने के लिए किया जाता है.
यहाँ विचित्र शिकारा पर बोटिंग और पोनी यात्रा की सुविधा उपलब्ध है.

मिरिक समुद्रतल से 1,495 m की ऊँचाई पर स्थित है. यहाँ का सबसे ऊंचा स्थान बोकर मठ है जिसकी ऊँचाई 1,768 m है. मिरिक झील 1,494 m की ऊँचाई पर स्थित है जो यहाँ का सबसे निचला स्थान है. मिरिक, सिलीगुड़ी शहर के उत्तरपश्चिम से 52 km (32 mi) और दार्जिलिंग नगर के दक्षिण-दक्षिणपश्चिम से 49 km (30 mi) की दुरी पर स्थित है.

कैसी है जलवायु :

यहाँ की जलवायु पुरे वर्ष सुखद और आनंदायक रहती है. यहाँ गर्मियों में अधिकतम तापमान 30 °C और सर्दियों में न्यूनतम तापमान 1 °C रहता है.

कैसे पहुंचे मिरिक :

मिरिक का निकटतम एयरपोर्ट बागडोगरा (IATA airport code IXB) है जो मिरिक के दक्षिण से 52 km (32 mi) की दुरी पर स्थित है. यहाँ का निकटतम रेलवे स्टेशन नयी जलपाईगुड़ी रेलवे स्टेशन है जो सिलीगुड़ी के सामने स्थित है.

कुछ बसें मिरिक से सिलीगुड़ी व् दार्जिलिंग के लिए संचालित की जाती है जिनका किराया 70 रूपए है. मिरिक से सिलीगुड़ी, दार्जिलिंग, कुर्सियांग, ककरवित्ता (नेपाल), सोनादा और कलिम्पोंग के लिए शेयर्ड टैक्सियाँ संचालित की जाती है. मिरिक से सिलीगुड़ी, कुर्सियांग और दार्जिलिंग का किराया Rs. 100, ककरवित्ता और सोनादा का किराया Rs 120 रूपए प्रति व्यक्ति है. सिलीगुड़ी, दार्जिलिंग, कुर्सियांग और ककरवित्ता (नेपाल) से निजी टैक्सी करने का किराया Rs. 1200 से 1600 रूपए है. मिरिक से शेयर्ड टैक्सियाँ Mirik Tours & Travels (कृष्णानगर) द्वारा संचालित की जाती है. मिरिक के भीतर यात्रा करने के लिए भी टैक्सियों की सुविधा उपलब्ध है जिनका लाभ निर्धारित शुल्क देके उठाया जा सकता है.

क्या देखें :

सुमेंदु झील :- इसे मिरिक का हृदय कहा जाता है. इस झील के ऊपर एक 80-ft (24-m) लम्बा फुटब्रिज है. यहाँ पर्यटक झील के भीतर बोटिंग और झील के आस पास गुडसवारी का आनंद उठा सकते है.

रामीतय दारा :- शहर के निकट स्थित एक विेवपॉइंट जहां से आस पास के पहाड़ों और नीचे स्थित विशाल मैदानों को देखा जा सकता है.

बोकर मठ :- ये रामीतय दारा की ओर जाते हुए मार्ग में स्थित है. ये स्थान लोकप्रिय बौद्ध ध्यान केंद्र है.

राय धाप :- ये मिरिक नगर का जल स्त्रोत्र है और एक लोकप्रिय पिकनिक स्थल भी.

देवीस्थान :- सुमेंदु झील के निकट की एक चट्टान पर स्थित हिन्दू देवी का मंदिर.

टिंगलिंग व्यू पॉइंट :- यहाँ से चाय बगनो का पैनोरमिक व्यू देखा जा सकता है.

चाय बागान :- यहाँ कई चाय बागान है जिनमे प्रसिद्ध दार्जिलिंग चाय का उत्पादन किया जाता है. आपको ये चाय मिरिक और उसके आस पास के क्षेत्रों में आसानी से मिल जाएगी.

संतरे के बाग़ :- मिरिक, यहाँ पाये जाने वाले उच्च-गुणवत्ता वाले संतरो के लिए प्रसिद्ध है. इन्हे मिरिक बस्ती, मुर्माह और सौरेनी बस्ती में उगाया जाता है.

Orchids :- मिरिक की जलवायु, एक दुर्लभ Orchid जिसक नाम Cymbidium orchids है के लिए उपयुक्त जलवायु में से एक है. विश्व फूल बाजार में इस फूल की कीमत सबसे ऊंची कीमत वाले फूलों में से एक है. Cymbidium orchid गार्डन में से एक “Darjeeling Gardens Pvt. Ltd.” है जो मिरिक में राटो मेट में स्थित है.

यहाँ भी जाये :

बुंकुलुंग (जयन्ती नगर) :- यहाँ पर्यावरण पर्यटन को बढ़ावा दिया जाता है. इस स्थान पर home stay की सुविधा उपलब्ध है.

पशुपतिनगर :- ये सीमा बाजार है जो नेपाल से जुड़ा हुआ है. ये कपडे, इलेक्ट्रॉनिक्स और घरेलु सामान का वाणिज्य केंद्र है.

Don Bosco चर्च, मिरिक :- ये चर्च Don Bosco स्कूल के निकट स्थित है. ये दार्जिलिंग जिले के सबसे सुन्दर और सबसे बड़े कैथोलिक चर्चो में से एक है.

Swiss कॉटेज (जिसे Motel के नाम से भी जाना जाता है) :- मिरिक के सबसे ऊंचे स्थान पर स्थित एक exotic lodging.

सूर्योदय पॉइंट :- इस स्थान के पूर्व से सूर्योदय का मनोरम दृश्य और उत्तर में मौजूद कंचनजुंगा पे पड़ी उसकी छवि देखने का आनंद लिया जा सकता है. उत्तर बंगाल के मैदानों को यहाँ से देखा जा सकता है.

Title : Mirik Tourism, Mirik Travel Guide and Best Hill Station to Visit