हिंदी में जानकारी

ये छोटी-छोटी टिप्स से नाखूनों में लाएं जान

0

Nail Care Tips In Hindi

नाखूनों को स्वस्थ बनाने के तरीके, नेल्स में नई जान लाने के उपाय, Tips for nails care in hindi, Nail Care, नाखूनों की सही देखभाल, नाखूनों को सुन्दर बनाने के उपाय

अच्छे और सुन्दर नाख़ून पाना हर महिला / लड़की की चाह होती है और वे इसके लिए बहुत मेहनत भी करती है। परन्तु कई बार समय के अभाव में वे अपने नाखूनों की ठीक प्रकार से देखभाल नहीं कर पाती जिसके परिणामस्वरूप उनके अच्छे खासे नाख़ून भी टूटने लगते है। जी हां, पैरों की नाखूनों को तो आप काफी हद तक टूटने से बचा लेती है लेकिन हर काम में प्रयोग होने वाले हाथों के नाखूनों को बिना देखभाल के बचा पाना काफी मुश्किल है।

वैसे भी आज के समय में हर कोई इतनी व्यस्त दिनचर्या जीता है जिसमे खुद के लिए समय निकाल पाना भी मुश्किल हो जाता है ऐसे में नाखूनों के लिए समय तो भूल ही जाए। परन्तु ये भी सच है की लड़कियों को अपने नाख़ून बहुत पसंद होते है और उनके लिए वे समय निकाल ही लेती है।

तो अगर आप भी अपने नाखूनों को स्वस्थ और सुन्दर बनाकर उनमे जान लाना चाहती है तो आज हम आपको नाखूनों को स्वस्थ बनाने और उनमे नई जान लाने के कुछ टिप्स बता रहे है ज्जिनकी मदद से आप अपने नाखूनों की देखभाल भी कर पायेंगी और उन्हें सुन्दर भी बना पाएंगी।

नाखूनों में नई जान लाने के लिए क्या करें?

1. घरेलू नुस्खे :

नाखूनों को स्वस्थ बनाने के लिए उन्हें भीतर और बाहर दोनों ओर से पोषण देना होगा। बाहरी देखभाल के लिए आप नेल पोलिश और कोटिंग का इस्तेमाल कर सकती है जबकि भीतरी देखभाल के लिए घरेलू नुस्खे सबसे बेस्ट उपाय है। यह आपके नाखूनों को मजबूत करके उन्हें टूटने से बचाते है और उन्हें मजबूती भी प्रदान करते है। नाखूनों की देखभाल के घरेलू नुस्खों के बारे में जानने के लिए नीचे क्लिक करें –

Read More : नाखूनों की देखभाल करने के तरीके

2. क्यूटिकल्स को नमी :

अधिकतर महिलाओं के नाखूनों के साथ टूटने और उखड़ने की समस्या होती है जिसका सीधा प्रभाव क्यूटिकल्स पर पड़ता है। इसके विपरीत कई बार क्यूटिकल्स के कमजोर होने का सीधा प्रभाव नाखूनों की सेहत पर पड़ता है। इसलिए अपने क्यूटिकल्स की भी सही देखभाल करें। उसे समय समय पर मॉइस्चराइज़ करते रहे ताकि उनमे रूखापन न आये।

3. ग्लव्स :

ग्लव्स एक मात्र ऐसा सुरक्षा कवच है तो आपके नाखूनों को टूटने, खुरचने या उखड़ने से बचाता है। बर्तन धोना, बगीचे की सफाई और घर की सफाई कुछ ऐसे कार्य है जिनमे नाखूनों को टूटना लाजमी है अगर आप अपने नाखूनों को बचाना चाहती है तो जब भी इन कामों को करें तो दस्ताने पहन लें। ये आपके नाखूनों के साथ साथ आपके हाथों को भी सुरक्षा प्रदान करेगा।

4. ऑफिस का काम :

ऑफिस में जब भी आप कीबोर्ड पर टाइप करें तो नाखूनों की जगह पर उंगिलों ककी सतह का प्रयोग करें। साथ ही पेपर आदि के कार्यों में भी नाखूनों की जगह उँगलियों का इस्तेमाल करें।

5. मॉइस्चराइज़िंग :

कई बार नाखूनों में आई नमी की कमी के कारण वे टूटने लगते है ऐसे में उनकी देखभाल कर पाना काफी मुश्किल होता है। इसीलिए जब भी हाथ धोएं या कुछ और पानी का काम करे तो उसके बाद अपने हाथों और क्यूटिकल्स पर अच्छे से मॉइस्चराइज़र लगाएं।

6. सनस्क्रीन :

सूरज की UV रेज़ भी आपके नाखूनों को नुकसान पहुंचा सकती है। इसलिए जब भी घर से बाहर निकले तो सनस्क्रीन अवश्य लगा लें। हाथ धोने के बाद भी दोबारा सनस्क्रीन का प्रयोग करें।

7. सही इंस्ट्रूमेंट्स :नेल फाइलिंग

नाखूनों को काटने या उन्हें सही शेप देने के लिए हमेशा सही और साफ़ औजार का इस्तेमाल करें। जंग लगे औजारों के इस्तेमाल से बचें क्योंकि इससे नाखूनों में इन्फेक्शन हो सकता है। साथ ही इन्हे इस्तेमाल करने से पूर्व अच्छे से साफ़ कर लें।

8. उपचार :

अगर आपके नाख़ून के आस पास की त्वचा या क्यूटिकल कट या छिल गया है तो सबसे पहले इसे ठीक करें तो इससे फंगल इन्फेक्शन होना की संभावना रहती है। उपचार के लिए सही ओइंमेंट या दवाई का इस्तेमाल करें। लेकिन डॉक्टरी सलाह के बाद।

क्या न करें?

1. इनसे परहेज करें :

नाखूनों को टूटने और खराब होने से बचाने के लिए फॉर्मल्डीहाइड या टॉलूईन से बने उत्पादों का इस्तेमाल न करें। ये आपके नेल्स के साथ साथ आपके शरीर पर भी नकारात्मक प्रभाव दे सकते है।

2. ढक्कन :

घर में अक्सर डिब्बे कसकर बंद हो जाते है जिन्हे खोलने के लिए आप नाखूनों का इस्तेमाल करती है। अगर आप वाकई अपने नाखुनो को सेफ रखना चाहती है तो हमारी सलाह यही होगी की आप इसके लिए नाखूनों का इस्तेमाल न करें।

3. क्यूटिकल्स की जलन :

अगर आपके क्यूटिकल्स या नाखूनों के आस पास जलन हो रही है तो हो सकता है उनमे बैक्टीरिया या फंगल की समस्या हो ऐसे में उनपर ध्यान नहीं देना आपके लिए नुकसानदेह हो सकता है। इसीलिए अगर नाखुनो की त्वचा के आस पास जरा भी प्रभाव आता है तो सबसे पहले डॉक्टर से मिले।

4. नेल पोलिश रिमूवर :

नेल पोलिश रिमूवर का इस्तेमाल कभी भी अपने क्यूटिकल्स और बाहर की त्वचा पर न करें। इससे प्रभाव आपकी स्किन पर पड़ेगा।

5. पानी :

नाखूनों को सेफ करने के लिए आपको उन्हें लम्बे समय तक पानी के संपर्क में आने से रोकना होगा। क्योंकि ज्यादा देर तक पानी में रहने से नाख़ून खराब हो जाते है और क्यूटिकल्स की त्वचा मुलायम हो जाती है जिससे नाखूनों की जड़ों पर भी प्रभाव पड़ता है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!