नवरात्रि में शारीरिक संबंध बनाना चाहिए या नहीं?

0

नवरात्रि के दौरान शारीरिक संबंध, Navratri me Sambandh, नवरात्र में शारीरिक संबंध बनाना, नवरात्रि में क्या करें क्या नहीं, नवरात्र में संबंध बनाने से परहेज करना चाहिए, नवरात्री में शारीरिक संबंध क्यों नहीं बनाना चाहिए?


नवरात्रि में माँ दुर्गा और शक्ति की उपासना की जाती है। इस दौरान अधिकतर घरों में नवरात्रि पूजा होती है और नौ दिनों का व्रत रखा जाता है। नवरात्रि व्रत का उत्साह हरेक घरों में होता है। और अधिकतर हिन्दू घरों में पति-पत्नी दोनों ही नवरात्रि का व्रत रखते हैं। हिन्दुओं में नवरात्रि ही एकमात्र ऐसा पर्व हैं जिसमे इतने लम्बे समय तक उपवास रखा जाता है। ऐसे में अधिकतर दम्पतियों के मन में यह प्रश्न रहता है की नवरात्रि के दौरान संबंध बनाएं या नहीं? आज हम आपको इसी के बारे में बता रहे हैं।

नवरात्रि में संबंध बनाए या नहीं?

दोस्तों, इस प्रश्न का उत्तर जानने के लिए पहले आपको ये जानना होगा की व्रत क्यों करते हैं?

नवरात्रि व्रत में माँ आदिशक्ति के नौ स्वरूपों की पूजा आराधना की जाती है और नौ देवियों का आवाहन किया जाता है। नवरात्रि व्रत करने का मकसद अपने शरीर को शुद्ध करना होता है। जिसमे व्यक्ति को काम, क्रोध, मोह, लोभ, ईर्ष्या आदि का त्याग करना होता है और मन को पवित्र करना होता है।

नौ दिन के पाठ और व्रत में आपका शरीर ऐसा हो जाता है, जिससे आपके अंदर की नेगेटिव ऊर्जा अपने आप निकल जाती है। लेकिन वासना से दूर रहने के लिए, आपको मन पे काबू रखना पड़ेगा। कुछ क्षण के आनंद के लिए अपनी प्रतिज्ञा को खंडित करना ठीक नहीं। शास्त्रों में भी वर्णित है, की नवरात्रि के दौरान वासना यानी संबंध बनाने से दूर रहना चाहिए।

क्योंकि संबंध बनाते समय या संबंध बनाने के बाद शरीर में हार्मोन्स का निष्कर्षण होता है। इससे नकारात्मक शक्तियां आपको अपने चपेट में ले लेती हैं। जिससे मन शुद्ध नहीं हो पाता। इसलिए नवरात्रि के दौरान, आपको शारीरिक संबंध बनाने से दूर रहना चाहिए। और वही करना चाहिए जिससे आपका मन और हृदय शांत हो।

नवरात्रि में संबंध नहीं बनाने के फायदे भी हैं

इस बात में कोई दोराहे नहीं है की दूरियां एक-दूसरे को और नजदीक लाती हैं। ऐसे में अगर आप अपने पार्टनर से दस दिन की दूरी बनाते हैं और आध्यात्मिकता में लीन रहते हैं तो आपको एक नयी ऊर्जा मिलेगी और आपका प्रेम प्रगाढ़ होगा। इस दूरी से आप दोनों के बीच प्रेम और लगाव भी बढ़ जाएगा।

इसीलिए दोस्तों, दिमाग और शरीर को शांत करने के लिए जो भी करें श्रद्धा भाव से करें, कोई जोर जबरदस्ती नहीं है। अक्सर एक बात कही जाती है, की एक इंसान का दिमाग जिस काम में जितना शांत रहे वही काम करना चाहिए। नवरात्रि में फ़ास्ट और सात्विक भोजन भी इसीलिए करते हैं ताकि हम पवित्र और शांत रहें। तो आप खुद समझिये इन दस दिनों में आपको क्या करना है? शारीरिक संबंध बनाने हैं या नहीं?

विडिओ नवरात्रि में शारीरिक संबंध बनाना चाहिए या नहीं?

[Total: 5    Average: 3/5]