Ultimate magazine theme for WordPress.

पिकनिक मनाने के लिए खूबसूरत स्पॉट्स दिल्ली के नजदीक

One day or weekends picnic tour near Delhi and NCR, Best place to visit near Delhi, Picnic Sport in Delhi, Most popular place for weekend gateway near Delhi for Picnic or one day outing

0

आजकल भागदौड़ की जिंदगी से दूर सभी लोग एक ऐसे डेस्टिनेशन की तलाश में होते हैं जहाँ पर थोड़ा शुकून के पल अपने परिवार या मित्रों के साथ बिता सके। और अपने थकान को दूर कर सके। आज हम आपको कुछ ऐसे ही पिकनिक स्पॉट के बारे में बताने जा रहे हैं जहा पर आप एन्जॉय कर सकें। दिल्ली के आस पास भी बहूत से ऐसे जगह है जहा आप एक दिन के लिए भी जा सकते हैं और अपनी छुट्टियाँ या वीकेंड का मजा ले सकते हैं। ये जगह मनोरम के साथ साथ आपके बजट के अनुसार होगा।

यहाँ हम 10 ऐसे डेस्टिनेशन की पहचान किये है जहा आप वीकेंड पिकनिक / गेटवे के लिए जा सकते हैं चाहे आप दिल्ली में रहते हो या एन सी आर में, आपके लिए ये परफेक्ट होगा।

1. Damdama Lake / दमदमा लेक

बहूत ही सुन्दर और रमणीय स्थान है दमदमा लेक जो अरावली पहाड़ी के अन्दर आता है। आप यहाँ की छटा को देखकर शहर के टेंशन / काम का बोझ भूल जायंगे। और आप के लिए ये यादगार स्पॉट होगा, आप अपने परिवार और बच्चों या अपने दोस्तों या अपने ऑफिस के स्टाफ के साथ खूब मजे कर सकते हैं। और प्रकृति की खूबसूरती को अपनें दिल में उतार सकते हैं। आप दमदमा लेक में रॉक कलईम्बिंग, एडवेंचर एक्टिविटी, हॉट बैलून, परा सेलिंग, ट्रेकिंग, मोटर बोटिंग के साथ साथ प्रकृति का आनंद ले सकते हैं। तो देर किस बात का कर लीजिये प्लानिंग।

कहाँ है दमदमा लेक?
दमदमा लेक दिल्ली से मात्र 50 किलीमीटर के दुरी पर स्थित है, और सिर्फ एक से डेढ़ घंटे के अन्दर आप पहुच सकते हैं। ये दिल्ली अलवर हाईवे पर स्थित है।

2. Sariska / सरिस्का

यह राजस्थान के राज्य के अलवर जिले में स्थित है। सरिस्का जयपुर से 107 किमी और दिल्ली से 200 किमी दूरी पर् है। सरिस्का बाघ अभयारण्य में बाघ, चित्ता, तेंदुआ, जंगली बिल्ली, कैरकल, धारीदार बिज्जू, सियार स्वर्ण, चीतल, साभर, नीलगाय, चिंकारा, चार सींग शामिल ‘मृग’ chousingha, जंगली सुअर, खरगोश, लंगूर और पक्षी प्रजातियों और सरीसृप के बहुत सारे वन्य जीव मिलते है। अगर आप पिकनिक के शौक़ीन है तो आपके लिए बहूत ही खुबसूरत स्पॉट है।आप वह पर सिलीसेढ़ झील का मजा ले सकता हैं जो सरिस्का का प्राकृतिक झील है।

कहाँ है सरिस्का?

सरिस्का दिल्ली से लगभग 200 किलोमीटर दुरी पर है ये अलवर में पड़ता है आप तीन से चार घंटे की ड्राइव पर सरिस्का स्पॉट पर पहुच सकते हैं।

3. Asola Bhatti Wildlife Sanctuary : असोला भाटी वाइल्डलाइफ

दिल्ली के बहूत नजदीक हैअसोला भाटी वाइल्डलाइफ, ये परफेक्ट प्लेस है वीकेंड गेटवे के लिए, अगर आप वीकेंड पर मौज मस्ती चाहते हैं तो आप यहाँ जा सकते है और यहाँ की खूबसूरती का नजारा ले सकते हैं. ये एरिया काफी हरा भरा है और प्रकृति का नजारा आपको खूब मिलेगा, आप वन्य जीवों और पक्षियों के बिच आप खूब आनंद उठाएंगे.

दिल्ली से दुरी : 41 किलोमीटर

4. Sultanpur Bird sanctuary : सुल्तानपुर बर्ड संच्चुरी

जैसा की नाम है, आप खुबसूरत पक्षियों की कोलाहल को महसूस कर सके हैं, यहाँ पर करीब 250 किस्म की पक्षियों का ले अकते हैं खुबसूरत नजारा आपको सुलतान में मिलेगा, ये गुरुग्राम जिले में पड़ता है, आप दिल्ली से आराम से दो घंटे के अन्दर पहुच सकते हैं, अगर आप यहाँ पर सर्दियों के मौसम में जायेंगे तो आपको विदेशी पक्षियों का दीदार होगा, यहाँ यूरोप से, सईवेरिया से और एशिया के कई देश के पक्षी यहाँ पर आते हैं. तो हैं ना घुमने का खुबसूरत जगह.

दिल्ली से दुरी : 42 किलोमीटर, मार्च से सितम्बर के बिच बहूत अच्छा नजारा मिलेगा आपको

5. Neemrana – नीमराना

राजस्थान प्रदेश के अलवर जिले का एक प्राचीन ऐतिहासिक शहर है, नीमराना परफेक्ट प्लेस है वीकेंड के लिए।  यह दिल्ली से ज्यादा दूर भी नहीं है, अगर आप चाहते हैं वीकेंड पर लॉन्ग ड्राइव भी हो और अपने इतिहास के बारे में भी जानकारी लें तो बहूत खुबसूरत होगा नीमराना आपके लिए।  यह किला दुर्लभ, काले हार्नस्टोन ब्रेकिया पत्थरों पर स्थित है और इसके प्राचीर से हरे-भरे खेतों के आकर्षक दृश्य दिखते हैं, जो 50-65 मीटर ऊंचा है। केसरोली किले का मूल पीछे की ओर छठी सदी में खोजा जा सकता है। यह भगवान कृष्ण के वंशज यादवों द्वारा निर्मित होने के कारण प्रसिद्ध है, नीमराना का स्वामित्व मात्र 16 साल की उम्र के कुट्टू के पास है, जो इसके अंतिम शासक है और उन्होंने प्रीवी पर्स के उन्मूलन के बाद किले के रखरखाव में असमर्थ होने के कारण इसे नीमराना होटल्स नामक एक समूह को बेच दिया, जिसे इसने एक हेरिटेज (विरासत) होटल में बदल दिया. नीमराना से कुछ दूरी पर अलवर जिले में एक दूसरा किला केसरोली है, जो सबसे पुराने विरासत स्थलों में से एक है।

दिल्ली से 122 किलोमीटर की दुरी पर जयपुर – दिल्ली हाईवे पर स्थित है।

6. Mathura Vrindavan : मथुरा – वृन्दावन

मथुरा  उत्तरप्रदेश प्रान्त का एक जिला है। मथुरा एक ऐतिहासिक एवं धार्मिक पर्यटन स्थल के रूप में प्रसिद्ध है। लंबे समय सेमथुरा प्राचीन भारतीय संस्कृति एवं सभ्यता का केंद्र रहा है। भारतीय धर्म,दर्शन कला एवं साहित्य के निर्माण तथा विकास मेंमथुरा का महत्त्वपूर्ण योगदान सदा से रहा है। आज भी महाकवि सूरदास, संगीत के आचार्य स्वामी हरिदास, स्वामी दयानंद के गुरु स्वामी विरजानंद, कवि रसखान आदि महान आत्माओं से इस नगरी का नाम जुड़ा हुआ है।अगर आप लॉन्ग ड्राइव के साथ साथ थोड़ा भक्ति और इतिहास का भी मजा लेना चाहते है तो मथुरा और वृन्दावन आपके लिए बहूत ही बेहतरीन स्पॉट है, वृन्दावन जहा मंदिरों का शहर कहा जाता है, और राधा कृष्ण की नगरी जो आपको वह की छटा और भक्ति भाव आपका मन मोह लेगा, इतिहास और ग्रन्थ में वर्णित विभिन्न कृष्ण लीला के जगह को आप देख सकेंगे. मथुरा में जहा आप कृष्ण की जन्मभूमि देख सकेंगे वही आसपास आप गोवर्धन पर्वत आदि को भी करीब से निहारने का मौक़ा मिलेगा।

7. Rishikesh- Haridwar ऋषिकेश – हरिद्वार

उत्तराखंड को देव नगरी भी कहा जाता है, आप खुबसूरत ऋषिकेश और मथुरा का आनंद ले सकते है ये दिल्ली से मात्र 220 किलोमीटर की दुरी पर है, अगर आप प्रकृति के साथ साथ, भक्ति और एडवेंचर का मजा लेना चाहते हैं तो हरिद्वार और ऋषिकेश आपके लिए बहूत ही खुबसूरत प्लेस होगा, आप जहा रिभर राफ्टिंग का मजा लेंगे वही आपको भक्ति और भाव का भी आनंद होगा, ये दोनों जगह प्रकृति की गोद में बसा हुआ है। आपके लिए बहूत ही खुबसूरत जगह होगा आपके वीकेंड के लिए, आप एक दिन में ही दिल्ली से आ जा सकते हैं और अगर आपने एक दिन स्टे किया तो और भी बढ़िया होगा।