Ultimate magazine theme for WordPress.

सर्दियों में पुराने दर्द शुरू हो जाते हैं? ये है उपाय

0

Why do old injuries hurt more in cold weather? Chronic Pain

सर्दियों में पुराने दर्द शुरू हो जाते हैं, Why old injuries hurt more in cold weather, Chronic Pain in winters, Thand me purane dard, सर्दियों में दर्द 

सर्दियों का मौसम शुरू होते ही बहुत सी स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं भी दस्तक देना शुरू कर देती है। जुखाम, खांसी से लेकर बुखार तक सभी समस्याएं इसी मौसम में सबको अपना शिकार बनाती है। वहीं दूसरी तरफ ये बहुत से लोगों के लिए परेशानी का कारण बन कर आती है। इन छोटी मोटी बिमारियों को तो सभी झेल लेते है। लेकिन इस दौरान उठने वाले पुराने दर्द को सहन कर पाना वाकई काफी मुश्किल हो जाता है।x

ठंड के मौसम में अक्सर पुराने समय में लगी चोट, ठोकर या गिरने का दर्द एक बार फिर उभरकर आ जाता है। हालांकि जब यह चोट लगी होती है तो उतना दर्द नहीं होता लेकिन सर्दियों में उठने वाला दर्द वाकई असहनीय होता है। कई बार बचपन की लगी चोट भी बड़े होने पर दर्द देने लगती है। जिसका कारण होता है चोट का पूरी तरह से ठीक नहीं होना।

जब चोट पूरी तरह ठीक नहीं हो पाती तो वह शरीर के भीतर रह जाती है और जब सर्दियाँ आती है तो इस चोट में दोबारा दर्द होने लगता है। इस स्थिति में अक्सर लोग पैन किलर या किसी पैन रिलीफ स्प्रे या जेल का इस्तेमाल करने लगते है। जो कुछ समय के लिए तो आपको इस समस्या से छुटकारा दिला देते है लेकिन उसका प्रभाव खत्म होते ही उनके दर्द वापस शुरू हो जाते है।

जोड़ों का दर्द भी है एक समस्या :जोड़ो के दर्द का इलाज

सर्दियों के दिनों में केवल पुरानी चोट ही नहीं अपितु जोड़ो और कमर का दर्द भी काफी लोगों को परेशान करता है। विशेषकर अधिक उम्र के लोगो को। क्योंकि उनके शरीर के सभी पोषक तत्व धीरे धीरे समाप्त होने लगते है जिसके कारण उनकी हड्डियां और मांसपेशियां कमजोर हो जाती है ऐसे में दर्द उठना तो स्वभाविक है। वैसे तो इन समस्यायों के लिए आप किसी अच्छे डॉक्टर के पास जाकर सलाह ले सकते है। अगर नहीं तो कुछ उपाय और आयुर्वेदिक इलाज है जिनकी मदद से इन दर्द से राहत पाई जा सकती है। तो आइये जानते है क्या है वे इलाज?

सर्दियों में उठने वाले पुराने दर्द का इलाज :-

ठंड के दिनों में उठने वाले दर्द?

सर्दियों में उठने वाले दर्द विशेष रूप से दो तरह के होते है। चोट के अतिरिक्त शरीर की थकान और कमजोरी की वजह से भी इन दिनों दर्द होने लगता है। इसके अलावा पुराने दिनों में लगी कोई चोट, या चोट पर दोबारा चोट लग जाना, कार दुर्घटना, हड्डियों से जुडी कोई भी injury होने पर इन दिनों उनमे दोबारा दर्द होने लगता है। इसके अतिरिक्त डायबिटीज, गठिया और कैंसर भी इन समस्यायों का एक कारण हो सकते है।

5 उपचार देंगे पुराने दर्द से राहत :-

  • मसाज थेरेपी :

यह एक तरह का मसाज ट्रीटमेंट होता है जिसे जोड़ों आदि के दर्द के निवारण के लिए प्रयोग में लाया जाता है। इस थेरेपी से दर्द में बहुत जल्द राहत मिलती है। इसकी मदद से रक्त के संचार में सुधार आता है और जोड़ों की सूजन भी कम हो जाती है। इसे आप स्वयं घर पर भी कर सकते है। लेकिन थोड़ा ध्यान से।

  • आइस थेरेपी :

जोड़ों के दर्द से राहत पाने के लिए आइस थेरेपी का भी इस्तेमाल किया जाता है। इसके लिए एक दिन में 15 से 20 मिनट के लिए दर्द वाली जगह पर बर्फ का इस्तेमाल करें।

  • हीट थेरेपी :

हड्डियों और कमर आदि के दर्द को दूर करने के लिए इस थेरेपी का इस्तेमाल किया जाता है। यह केवल 3 मिनट में व्यक्ति के दर्द में राहत देने का काम करती है। इसकी मदद से सूजन में भी काफी आराम मिलता है। इसके लिए आप इलेक्ट्रिकल मशीन या गर्म तौलिया की मदद ले सकते है।

  • दवाएं :

अगर दर्द कुछ ज्यादा ही परेशान कर रहा है तो आप इसके लिए दवाओं की मदद भी ले सकते है। लेकिन ध्यान रहे दवाएं केवल डॉक्टर की सलाह के अनुसार ही इस्तेमाल करें। इसके साथ ही सरसों, जैतून और नारियल के तेल से भी अपने जोड़ों की मसाज करें आराम मिलेगा।

  • आराम :

इस तरह के दर्द होने पर सलाह यही डी जाती है की आप केवल आराम करें। लेकिन सभी के लिए आराम करना संभव नहीं। ऐसे में समस्या और बढ़ सकती है। इसीलिए ज्यादा नहीं तो कुछ घंटों का आराम जरूर लें। रात में पूरी नींद लें और सोने से पहले हीट थेरेपी ले लें इससे नींद अच्छी आएगी।

ठंड में उठने वाले पुराने दर्द का आयुर्वेदिक इलाज :-

इस दवा की मदद से भी आप अपने पुराने दर्द को हमेशा के लिए छू मंतर कर सकते है, जानिये कैसे?

सामग्री –

  • सफ़ेद नामक : 10 चम्मच
  • जैतून या सूरजमुखी का कच्चा तेल : 20 चम्मच

कैसे बनायें?सर्दियों में पुराने दर्द

  • सबसे पहले एक कांच के बर्तन में तेल और नामक डालकर अच्छी तरह से मिक्स कर लें।
  • अब इसे किसी बर्तन में बंद करके 2 दिनों के लिए कहीं रख दे।
  • उसके बाद आपकी औषधि प्रयोग के लिए तैयार हो जाएगी।

फायदे :

  • इस उपाय का इस्तेमाल करने से ब्लड सर्कुलेशन में वृद्धि होती है।
  • यह मांसपेशियों को मजबूत करके तंत्रिकाप्रणाली और हड्डियों को मजबूत करने में मदद करता है।
  • यह औषधि जोड़ों और कमर आदि के दर्द के लिए बहुत लाभकारी होती है।
  • इस इलाज का नियमित प्रयोग करने से दर्द की समस्या हमेशा के लिए दूर हो जाती है।

तो ये थे कुछ आयुर्वेदिक इलाज जिनकी मदद से आप सर्दियों के दिनों में उठने वाले दर्द आदि को हमेशा के लिए दूर कर सकते है। लेकिन ध्यान रहे इलाज का प्रयोग सही तरीके और सही व्यक्ति से ही करवाना चाहिए। अन्यथा परेशानियां बढ़ती ही जा रही है।