सरसों का साग बनाने के तरीके

How To Make Sarso Ka Saag

सरसों का साग बनाने के तरीके, How to Make Sarso Ka Saag, सरसों का साग बनाने की पूर्ण विधि हिंदी में, सरसों का साग कैसे बनायें, पालक और सरसों का साग 

ठंड का मौसम शुरू होते है खान पान की बहुत सी चीजें मार्किट में उपलब्ध होने लगती है। जहा एक तरफ गाजर के हलवे का स्वाद केवल इसी मौसम में लेने को मिलता है वहीं दूसरी तरफ मूंगफली और अन्य हरी सब्जियां भी इसी मौसम में खाने को मिलती है। एक तरह से देखा जाए तो ठंड के मौसम को खान पान का मौसम भी कह सकते है।

लेकिन इन सभी के अलावा भी एक खाद्य पदार्थ है जिसका असली मजा केवल इसी मौसम में आता है। और वो है सरसों का साग। गावों में रहने वाले लोगों की भाषा में कहें तो बिना सरसों के साग और मक्के की रोटी के सर्दियाँ शुरू हो नहीं होती। सर्दियों के मौसम में सरसों का साग और मक्के की रोटी सबसे पुराना स्वादिष्ट व्यंजन है।

इस साग की सबसे ख़ास बात यह होती है की यह केवल सर्दियों के मौसम में ही उपलब्ध होता है। और इन दिनों में साग में घी डालकर खाना वाकई काफी स्वादिष्ट लगता है। इसलिए आज हम आपको सरसों का साग बनाने की विधि बताने जा रहे है।सरसों का साग बनाने के तरीके

सरसों का साग बनाने की विधि :-

आवश्यक सामग्री :
  • सरसों के हरे पत्ते – 500 ग्राम
  • पालक – 150 ग्राम
  • बथुआ – 100
  • टमाटर- 250 ग्राम
  • हरी मिर्च- 2 से 3
  • अदरक- 2 इंच लम्बा टूकड़ा
  • सरसों का तेल – 2 टेबल स्पून
  • घी – 2 टेबल स्पून
  • हींग- 2 – 3 पिंच
  • जीरा- 1/2 छोटी चम्मच
  • हल्दी पाउडर- एक चौथाई छोटी चम्मच
  • मक्के का आटा- 1/4 कप
  • लाल मिर्च पाउडर- एक चौथाई छोटी चम्मच
  • नमक- स्वादानुसार (1 छोटी चम्मच)
साग बनाने की विधि :

सरसों का साग बनाने के लिए सबसे पहले सरसों, पालक और बथुए के पत्तों को अच्छी तरह से पानी से धोकर साफ़ कर लें। अब इन्हे किसी बड़ी छलनी में रख दें ताकि उसमे से सारा पानी निकल जाए। अब पत्तों को अपनी जरूरत के हिसाब से पालक को पतला या मोटा काटकर कुकर में पानी के साथ डालें और उबालने के लिए रख दें। एक सिटी आने के बाद गैस बंद कर दें और प्रेशर खत्म होने दें।

दूसरी तरफ टमाटर, हरी मिर्च और अदरक को बारीक़ पीस लें। अब कढ़ाई में तेल डालकर गर्म करें। 2 चम्मच तेल डालकर मक्के के आटे को हल्का ब्राउन होने के भूनकर अलग निकाल लें। बचे हुए तेल को कढ़ाई में डालकर अच्छे से गर्म कर लें।

अब इसमें हींग और जीरा डालें। इन दोनों के भुनने के बाद इसमें टमाटर का पेस्ट, हल्दी पाउडर और लाल मिर्च डालें। मसाले के तेल छोड़ने तक उसे भूनते रहें। आप चाहे तो इसमें प्याज और लहसुन को भी शामिल कर सकते है। अब कुकर से पत्तों को निकालकर मिक्सी में डालें और पीस लें। भुने हुए मसालें में पीसे हुए सरसों के पत्ते डालें।

जरूरत के मुताबिक पानी, भुना हुआ मक्के का आटा और नमक डालकर अच्छे से चलाकर मिलाएं। उबाल आ जाने के बाद 5 से 6 मिनट के लिए धीमी आंच पर साग को पकने दें। फिर गैस बंद कर दें। लीजिए तैयार है आपका सरसों का साग।sarso ka saag

अब इसे कटोरी में निकालकर उसपर घी या बटर डाल दें। गरमा गर्म सरसों के साग के साथ परांठा, रोटी, नान, मक्के की रोटी परोसिये और अपने घर वालों को खुश कीजिये। ध्यान रहे ये विधि 4 लोगों के भोजन के लिए है ज्यादा लोगों के भोजन में आपको सामग्री बढ़ानी होगी। इससे बनने में 40 मिनट का समय लगेगा।

इस तरह भी बना सकते है सरसों का साग :

वैसे आप चाहे तो पुराने पारंपरिक तरीके से भी सरसों का साग बना सकती है। इसके लिए मक्के का आटा भुना नहीं जाता कच्चे का घोल बनाकर उबली हुई पत्तियों में डालकर पकाया जाता है। जिस बीच आपको लगातार सब्जी चलानी होती है। साथ ही इसे किसी मोटे और भारी चमचे से घोंटा भी जाता है। जब यह घुटकर तैयार हो जाता है तो उसमे तड़का लगाकर पकाया जाता है।

अगर आप लहसुन और प्याज पसंद करते है तो लहसुन की कलियों को बारीक़ पीस लें जबकि प्याज को पतला-पतला काट लें। जीरा भुनने के बाद लहसुन और प्याज डालें और गुलाबी होने का इंतजार करें। गुलाबी होने के बाद सभी सामग्रियों को विधि अनुसार डालें। इस तरह से भी आपका साग बनकर तैयार हो जाएगा।