Ultimate magazine theme for WordPress.

बच्चों के लिए स्कूल वैन या स्कूल बस लगाने से पहले ये जरुर पढ़े या ध्यान रखें

0

मार्च अप्रैल स्कूल में नये सेशन स्टार्ट हो जाते है। जहाँ नर्सरी एडमिशन शुरू हो गए है या बच्चे दुसरे स्कूल में एडमिशन ले लिए है। पर जो सबसे बड़ी समस्या है स्कूल पहुचने की, कभी आपका घर स्कूल से दूर होने की वजह से आपको स्कूल बस की सुबिधा नहीं मिल पाती है तो कभी आपके एरिया में स्कूल बस की सर्विस नहीं है। कई पेरेंट्स तो खुद ही स्कूल छोड़ने जाते हैं पर सभी के लिए ये आसान नहीं हो पाता ही की वो अपने बच्चों को खुद ही स्कूल छोड़ें। वो फिर किसी प्राइवेट बस या वैन का सहारा लेते हैं।

आज हम आपको कुछ टिप्स बताने जा रहे हैं। जो आपके बच्चे के लिए और आपके लिए बहूत महत्वपूर्ण होगा। ताकि आपका बच्चा सुरक्षित स्कूल पहुचे और सकुशल वापस आये।
school van tips

1. किसी भी वैन या बस लगाने से पहले उस वैन की कंडीशन देखें, और सिर्फ ड्राईवर से भी बात नहीं करें आप उसके गाडी के बारे में भी पूछें, क्या गाडी उसकी है या किसी और के नाम की है।

2. क्या वो वैन स्कूल के बच्चों के लाने ले जाने के लिए रजिस्टर है सम्बंधित अथॉरिटी में।

3. ड्राईवर का लाईसेंसे और जरुरी कागजात देख लें, और उसका घर का पता और नंबर आदि अपने पास जरुर रखें।

4. ड्राईवर शराब पीकर तो गाडी नहीं चलाता है।

5. जब आपका बच्चा उस वैन से स्कूल जाने लगे तो आप समय समय पर रेकी करें। आप स्कूल वैन के पीछे पीछे जाएँ और देखें, क्या वो गाडी रोंग साइड में तो नहीं चलाता? क्या वो रेड लाइट तो नहीं जम्प करता? क्या वो जरुरत से ज्यादा बच्चे तो वैन में नहीं चढ़ाता?

6. स्कूल लाने और ले जाने में कितना समय लगाता है? क्या वो आपके बच्चे को कही धुप में ही गाडी लगा कर इंतज़ार तो नहीं करता? क्यों की कई वैन वाला सीनियर बच्चे को और जूनियर बच्चे को एक ही समय में लाता है। जब की छोटे बच्चे की छुट्टी पहले होती है और सीनियर की छुट्टी बाद में होती है। कई बार मैंने देखा है छोटे बच्चे को वो काफी देर अपनी वैन में बैठाये रखता है।

7. अपने बच्चे से साथ जाने वाले बच्चे के बारे में भी पूछें, कोई दिक्कत तो नहीं होता है दुसरे बच्चे से? क्या दुसरे बच्चे तंग तो नहीं करता।

8. अपने बच्चे को गुड टच और बैड टच के बारे में भी बताएं। और अपने बच्चे से बात करें स्कूल वैन के बारे में। कई बार बच्चा सब कुछ नहीं बताता है आपको पूछना पड़ता है।

ऊपर दिया गए बातों का ध्यान रखें। आपका बच्चा खुश रहेगा तो स्कूल जाने से हिचकिचाएगा नहीं। उससे समय समय पर पूछते रहें और ड्राईवर से भी बात चीत करें और ध्यान रखें। दिक्कत एक दिन ही आती है रोज रोज नहीं इसलिए कभी भी भरोसा नहीं करें जागरूक रहें।