बच्चों की परवरिश

शिशु के जन्म के तुरंत बाद न करें यह गलतियां

शिशु के जन्म के बाद न करें यह गलतियां

प्रेगनेंसी एक महिला के लिए बहुत अहम और खास समय होता है। और उससे भी खास समय होता है डिलीवरी, क्योंकि डिलीवरी के दौरान डर से साथ शिशु के आने का उत्साह भी होता है। बच्चे के जन्म से पहले ही माँ और घर के सदस्य शिशु को लेकर तरह तरह के सपने देखना शुरू कर देते हैं। साथ ही कुछ ऐसी चीजें भी है जिनका ध्यान डिलीवरी के तुरंत बाद रखना जरुरी होता है। ताकि शिशु को नई दुनिया में आने का अनुभव एक खास अहसास के साथ हो। क्या आप जानना चाहते हैं की वो बातें कौन सी हैं। यदि नहीं तो आज हम इस आर्टिकल में उन बातों के बारे में आपको बताने जा रहे हैं।

माँ और शिशु को न करें अलग

  • यदि आप पहले माँ बन चुकी है तो आपने देखा होगा की बच्चे के जन्म के बाद शिशु और माँ को अलग कर दिए जाता है।
  • और शिशु की जल्दी से जल्दी साफ़ करने के लिए तुरंत अलग कमरे में ले जाया जाता है।
  • जबकि ऐसा नहीं करना चाहिए।
  • बल्कि बच्चे के जन्म के बाद सबसे पहले माँ और शिशु को एक दूसरे की त्वचा से त्वचा का संपर्क करवाना चाहिए।
  • उसके बाद शिशु को साफ़ करने के लिए लेकर जाना चाहिए।

शिशु को नहलाना

  • जन्म के तुरंत बाद शिशु को साफ़ करने के लिए उसे नहला दिया जाता है।
  • और इस दौरान शिशु रो रोकर अपनी एनर्जी खत्म कर लेते हैं।
  • शिशु गंदे नहीं होते है की जन्म के तुरंत बाद उनकी सफाई की जाएँ।
  • बल्कि उनके स्किन पर जो लेयर होती है वो एंटी बायोटिक गुणों से भरपूर होती है।
  • जो शिशु को सुरक्षित रखने में मदद करती है।
  • ऐसे में माँ और शिशु को आपस में मिलाने के बाद शिशु को माँ से अलग करते हुए उसे अच्छे से साफ़ करना चाहिए।
  • ताकि बच्चे के जन्म के बाद बाहर के वातावरण में रिलैक्स होने में मदद मिल सके।

शिशु के जन्म के बाद शिशु को पिलाएं माँ का दूध

  • माँ का पहला गाढ़ा दूध शिशु के लिए किसी अमृत से कम नहीं होता है।
  • लेकिन आज कल देखा जाता है की शिशु के जन्म के बाद उसे डिब्बाबंद दूध पिलाना शुरू कर दिया जाता है। जबकि ऐसा नहीं करना चाहिए।
  • और महिला के बच्चे के जन्म के बाद एक बार दूध जरूर उतरता है।
  • ऐसे में शिशु को सबसे पहले माँ का गाढ़ा दूध ही पिलाना चाहिए।
  • ताकि शिशु को शुरुआत से ही बेहतर विकास में मदद मिल सके।
  • और बीमारियों से सुरक्षित रहने में मदद मिल सके।

शिशु के जन्म के बाद शिशु को हर किसी की गोद में न दे

  • शिशु के जन्म के बाद सभी हो शिशु के होने का उत्साह होता है।
  • लेकिन इसका मतलब यह बिल्कुल नहीं है की आप सभीके हाथों में शिशु को दें।
  • क्योंकि इस दौरान शिशु को इन्फेक्शन होने का खतरा बहुत अधिक होता है।
  • ऐसे में शिशु को सुरक्षित रखने के लिए ऐसा करने से बचे।
  • और जो भी शिशु को उठाता है उसके हाथ में सैनिटाइज़र का इस्तेमाल जरूर करवाएं।
  • ताकि शिशु को स्वस्थ रहने में मदद मिल सके।

तो यह हैं कुछ बातें जिनका ध्यान बच्चे के जन्म के तुरंत बाद रखना जरुरी होता है। तो यदि आप भी माँ बनने का रही है तो डिलीवरी के बाद से जुडी इन बातों को एक बार डॉक्टर से जरूर शेयर करें।

0

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *