Mom Pregnancy Health Lifestyle

इन वजहों से होते हैं विकलांग शिशु

इन वजहों से होते हैं विकलांग शिशु
0

इन वजहों से होते हैं विकलांग शिशु, विकलांग शिशु होने के कारण, क्यों होते हैं बच्चे विकलांग, Reasons behind the birth of Disabled Child

हर माँ चाहती है की उसके गर्भ में पल रहा शिशु पूरी तरह से स्वस्थ, हष्ट, पुष्ट व् तंदरुस्त हो। और उसमे किसी भी तरह की विकलांगता न हो, और इसीलिए प्रेगनेंसी के दौरान महिला को डॉक्टर द्वारा अपनी दुगुनी केयर करने के लिए कहा जाता है। लेकिन कई बार प्रेगनेंसी के दौरान की जाने वाली छोटी छोटी गलतियों के कारण गर्भ में पल रहे शिशु के विकास पर असर पड़ता है। तो आइये जानते हैं की प्रेगनेंसी के दौरान किन गलतियों के कारण विकलांग शिशु का जन्म होता है।

पोषक तत्वों की कमी के कारण

प्रेगनेंसी के समय महिला को खान पान बेहतर रखने की सलाह दी जाती है, और आहार में भरपूर मात्रा में पोषक तत्व को शामिल भी करना चाहिए। ताकि प्रेगनेंसी के दौरान गर्भ में पल रहे शिशु का विकास और प्रेग्नेंट महिला को स्वस्थ रहने में मदद मिल सकें। लेकिन यदि आप आहार में लापरवाही करती है और शरीर में भरपूर मात्रा में पोषक तत्व नहीं होते हैं। तो इसके कारण बच्चे के अंगो का विकास बेहतर तरीके से नहीं हो पाता है जैसे की कैल्शियम, विटामिन डी की कमी के कारण बच्चे के पैरों से जुडी परेशानी हो सकती है।

भीड़ भाड़ वाली जगह पर ज्यादा रहने के कारण

जिस जगह पर ज्यादा भीड़ हो प्रेगनेंसी के दौरान वहां नहीं जाना चाहिए क्योंकि इसके कारण वायरल इन्फेक्शन फैलने का खतरा बहुत अधिक रहता है। और यह इन्फेक्शन शिशु के सुनने की क्षमता पर बहुत बुरा असर डालता है।

बाहर का खाना

हार्मोनल चेंज बॉडी में होने के कारण प्रेगनेंसी के दौरान आपके स्वाद का बदलना स्वाभाविक होता है। और ऐसे में बाहर का खाना, अधिक खट्टा खाना, ऑयली फ़ूड का सेवन, बर्गर, पिज़्ज़ा आदि का सेवन अधिक करने के कारण भी शिशु के विकास पर बुरा असर पड़ता है, और शिशु के विकलांग होने के चांस बढ़ सकते हैं।

खून की कमी

बहुत सी महिलाओं को प्रेगनेंसी के दौरान खून की कमी की समस्या होती है, जिसके कारण महिला और शिशु दोनों को ही परेशानी होने के साथ शिशु के विकास पर असर पड़ता है। ऐसे में महिला को फोलिक एसिड आदि का सेवन प्रेगनेंसी के पहले महीने से ही शुरू कर देना चाहिए।

प्रदूषण

प्रदूषण का बुरा असर भी गर्भवती महिलाओं को बहुत जल्दी प्रभावित करता है, और यदि महिला प्रेगनेंसी के दौरान प्रदूषण वाली जगह पर अधिक जाती है। तो इसके कारण शिशु के बोलने और सुनने की क्षमता पर बहुत बुरा असर पड़ता है।

बैक्टेरियल इन्फेक्शन

कोल्ड ड्रिंक्स, बाहर का जूस आदि का सेवन भी प्रेगनेंसी के दौरान न करने की सलाह दी जाती है क्योंकि इसके कारण बैक्टेरियल इन्फेशन होने का बहुत खतरा रहता है। और यह इन्फेक्शन भी शिशु के विकास पर बुरा असर डालता है।

तो यह हैं कुछ कारण जिनकी वजह से गर्भ में पल रहे शिशु का विकास बेहतर तरीके से नहीं होता है, और शिशु के विकलांग जन्म लेने के चांस अधिक होते है। इसीलिए प्रेगनेंसी के दौरान महिला को ऐसी कोई भी गलती नहीं करनी चाहिए और प्रेगनेंसी कन्फर्म होते ही भरपूर मात्रा में पोषक तत्वों का सेवन भी करना चाहिए।