Ultimate magazine theme for WordPress.

वृंदावन चंद्रोदय मंदिर, Vrindavan Chandrodaya Mandir

0

विश्व का सबसे ऊंचा मंदिर – वृंदावन चंद्रोदय मंदिर

वृंदावन चंद्रोदय मंदिर विश्व का सबसे ऊंचा मंदिर है जो मथुरा जिले के वृंदावन नगरी में स्थित है. वर्तमान में इस मंदिर का निर्माण कार्य प्रगति पर है. इस मंदिर की निर्माण लागत लगभग 300 करोड़ है जो ISKCON द्वारा निर्मित विश्व के सबसे महंगे मंदिरों में से एक है. विश्व के सबसे ऊंचे मंदिर का निर्माण 5 एकड़ की भूमि पर किया जा रहा है जिसकी ऊँचाई 700 feet (210 meter) है.
मंदिर परिसर 540000 sq. ft. के क्षेत्रफल में फैला हुआ है. इस मंदिर का निर्माण कुछ इस प्रकार किया जा रहा है जिससे पुरे वर्ष भर होने वाले त्योहारों और उत्सवों का आयोजन इसमें किया जा सके.
वृंदावन के सब्ज वनों के जैसी संरचनाओं का निर्माण इस शानदार मंदिर के चारो ओर किया जायेगा. ये लगभग 26 एकड़ के क्षेत्रफल में फैले होंगे जिनमे बृज के 12 वन (द्वादशकनाना), वनस्पतियों की किस्में, हरे भरे चरागाह, फलदार वृक्ष, फूलों से लदी हुई बेले जिनपर पक्षी गुनगुना रहे होंगे, साफ़ पानी की झीले जिनमे कमल और कुमुद (लिली) के फूल होंगे और आर्टिफिशियल छोटी पहाड़िया जिनमे से पानी के झरने बह रहे होंगे सम्मिलित होंगे. इन सभी का निर्माण श्रीमद भगवद और भगवान् कृष्ण से जुड़ी अन्य ग्रंथो में किये गए उल्लेख के अनुसार किया जायेगा. जिससे यहाँ आने वाले पर्यटकों को श्री कृष्ण के समय के वृंदावन का आभास होगा. ये परियोजना 62 एकड़ के क्षेत्रफल की भूमि में स्थापित की जाएगी जिसमे 12 एकड़ की भूमि पर पार्किंग और हेलिपैड की सुविधा उपलब्ध होगी.

विश्व के सबसे ऊंचे वृन्दावन चंद्रोदय मंदिर का इतिहास :-

vrindavan 1सं 1972 में, ISKCON के संस्थापक और आचार्य, श्रील प्रभुपाद ने श्री रूपा गोस्वामी के भजन कुटीर के दौरान युकलता वैराग्य अधिकार के सिद्धांतो का उल्लेख किया था जिसमे उनके कई पश्चिमी शिष्य मौजूद थे जो उनके वृंदावन आने के दौरान उनके साथ थे.
29 अक्टूबर 1972, श्रील प्रभुपाद ने वृंदावन में एक प्रवचन में कहा था –
“Just like we have got a tendency to construct a skyscraper building. As in your country, you do. So you should not attached to the skyscraper building, but you can utilize the tendency by constructing a big temple like skyscraper for Krishna. In this way, you have to purify your material activities.”

जिसमे वे अपने शिष्य को कृष्णा के लिए एक गगनचुंबी इमारत का निर्माण करने के लिए प्रेरित कर रहे है. और उन्हें बताना चाह रहे की यदि आप कृष्णा के लिए एक ऐसे ईमारत का निर्माण करते है तो आप अपने जीवन को पवित्र कर सकते है.

आचार्य श्रील प्रभुपाद के प्रवचन और उनके दृष्टिकोण से प्रेरित होकर, ISKCON के भक्तों ने वृंदावन चंद्रोदय मंदिर का भगवन श्री कृष्ण के लिए एक गगनचुंबी इमारत के रूप में निर्माण कार्य प्रारंभ कर दिया. 16 मार्च 2016 को, होल के पवित्र त्यौहार पर, मथुरा जिले में निर्मित वृंदावन चंद्रोदय मंदिर की नींव रखने के समारोह का आयोजन किया गया. ISKCON ने दावा किया है की अगले पांच वर्षो में मुख्य मंदिर का निर्माण कार्य प्रारंभ कर दिया जायेगा.

ISKCON के संस्थापक और आचार्य, श्रील प्रभुपाद की इच्छा है कि वो एक ऐसे प्रतिष्ठित मंदिर का निर्माण करें जो वृंदावन को विश्व के नक्शे में प्रदर्शित करेगा.

वृंदावन चंद्रोदय मंदिर की संरचना :-

highest temple in worldइस भव्य मंदिर के डिजाइन सलाहकार, IIT दिल्ली के सिविल इंजीनियरिंग विभाग के सदस्य है, और संरचनात्मक सलाहकार Thornton Tomasetti, USA है. मंदिर के मुख्य वास्तुकार गुडगाँव के InGenious Studio Pvt. Ltd. है जबकि नोएडा के Quintessence Design Studio मंदिर के चारो ओर बनने वाली बागबानी का कार्यभार संभाल रहे है. मंदिर की HVAC (हीटिंग, वेंटिलेशन और एयर कंडीशनिंग) की सुविधा Gupta Consultants & Associates द्वारा उपलब्ध कराइ जाएगी. मंदिर की सभी इलेक्ट्रिक फिटिंग और वायरिंग WBG Consultants द्वारा की जाएगी जबकि Behera & Associates मंदिर के PHE & Fire Consultants के रूप में कार्य कर रहे है. इस मंदिर के प्रवेश द्वार को प्राचीन नागरा वास्तुकला में डिजाइन किया गया है, जिसका आगे के भाग को कांच से बनाया जायेगा जिसमे 70th मंजिल होंगी. मुंबई से आये बिल्डिंग आवृत विशेषज्ञ मंदिर के इस कार्य का नेतृत्व कर रहे है. LDP Pvt. Ltd., Australia मंदिर के निर्माण कार्य में Lighting Design Consultants के रूप में कार्य कर रहे है जबकि RWDI (Canada-India) Wind Tunnel Analysis Consultancy उपलब्ध कराएँगे. Pinkerton (USA-India) मंदिर की भीतरी भौतिक सुरक्षा प्रदान करेंगे. हरियाणा की Green Horizon Consulting LLP मंदिर की ग्रीन बिल्डिंग सुविधाएं और Building Energy Simulation का ध्यान रखेंगे. दिल्ली की HPG Consulting मंदिर के अपशिष्ट प्रबंधन, रसोई घर और Back of House का हिस्सा है. लंदन के Dunbar और Boardman, मंदिर परियोजना में Vertical Transport Consultant का कार्य कर रहे है.

विश्व के सबसे ऊंचे वृंदावन चंद्रोदय मंदिर का निर्माण :-

center haal of templeमधु पंडित दासा में राष्ट्रपति प्रणब मुख़र्जी के साथ एक बैठक की जिसमे उन्होंने मंदिर के निर्माण विचार के लिए इनसे बात की. इस मंदिर की नींव भारत के राष्ट्रपति प्रणब मुख़र्जी ने 16 नवंबर 2014 को रखी थी. इस मंदिर की ईमारत का निर्माण कार्य अभी प्रगति पर है.

वृंदावन चंद्रोदय मंदिर परिसर में मौजूद सुविधाएं :-

हेलिपैड
वाहनों की पार्किंग के लिए 12 एकड़
खान पान के लिए कैंटीन
एक इंडोर कृष्णा-राधा मनोरंजन उद्यान
कृष्णा विरासत संग्रहालय
मंदिर की सबसे ऊपरी मंजिल पर एक दूरबीन रखा गया है जहां से पुरे वृंदावन का नज़ारा देखा जा सकता है.
वृंदावन चन्द्रोदय मंदिर थीम उद्यान
मंदिर के मंजिलो पर जाने के लिए कैप्सूल एलीवेटर
पर्यटकों के लिए आवास स्थल जिसमे वे कुछ दिन यहाँ रुक सके
मंदिर के चारो ओर 30 एकड़ का wooded क्षेत्र है जहां बृज के वनों का निर्माण किया गया है.
मंदिर में एक मीनार है जिसके शिखर से मथुरा, आगरा और यमुना नदी का पैनोरमिक व्यू देखा जा सकता है.
मंदिर संगठन द्वारा नाईट सफारी का भी आयोजन किया जायेगा.

Vrindavan Chandrodaya Mandir, best temple to visit in vrindavan, vrindavan darshan, chandrodaya mandir, iskcon, vrindavan chandrodaya mandir, vrindavan, vrindavan chandrodaya mandir structure, vrindavan chandrodaya mandir history, vrindavan chandrodaya mandir opening date, vrindavan chandrodaya mandir under construction, vrindavan chandrodaya mandir in vrindavan, vrindavan chandrodaya mandir radhey radhey, vrindavan chandrodaya mandir height, vrindavan chandrodaya mandir world’s highest building, vrindavan chandrodaya mandir iconic building, mathura, uttarpradesh