Ultimate magazine theme for WordPress.

पीरियड में दर्द हो तो यह करें

0

पीरियड्स की समस्याएं

पीरियड्स का होना महिला के शरीर में होने वाली शारीरिक प्रक्रियाओं में से एक है, इस दौरान महिला के प्राइवेट पार्ट से ब्लीडिंग होती है। मासिक धर्म हर महीने अठाइस दिन के चक्र के बाद महिला को होती है, यह महिला को तीन से पांच दिन तक होती है, और ऐसा भी जरुरी नहीं है की महिला को अठाइस दिन के बाद ही पीरियड्स हो बल्कि यह दो दिन आगे पीछे भी सकते है। साथ ही यदि महिला को यदि पीरियड्स के दौरान ब्लीडिंग बहुत ज्यादा हो या कम हो, ब्लीडिंग एक हफ्ते या उससे ज्यादा समय के लिए हो, पीरियड्स समय से बहुत पहले या बाद में हो तो इसे अनियमित पीरियड्स कहा जाता है। साथ ही इस दौरान कई महिलाएं दर्द की समस्या से भी बहुत अधिक परेशान रहती है। पीरियड्स के दौरान महिला के पेट, पेडू, कमर, टांगो आदि में दर्द की समस्या अधिक हो सकती है।

पीरियड्स में दर्द से बचने के तरीके

मासिक धर्म के दौरान बॉडी में होने वाले हार्मोनल बदलाव के कारण महिला को दर्द की समस्या से परेशान होना पड़ सकता है। लेकिन ऐसा भी कोई जरुरी नहीं होता है की पीरियड्स के समय हर महिला को दर्द की समस्या से परेशान हो, लेकिन जो महिलाएं परेशान माहवारी के दौरान दर्द से परेशान रहती है। उनके लिए आज हम इस दर्द से बचने के लिए कुछ आसान नुस्खे बताने जा रहे हैं।

तुलसी

औषधीय गुणों से भरपूर तुलसी का इस्तेमाल करने से पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द की कम करने में मदद मिलती है। इसके लिए आप पानी में तुलसी के पत्ते डालकर अच्छे से उबाल लें, और उसके बाद चाय बनाने का सामान उसमे मिला दें, और फिर छानकर इस चाय का सेवन करें।

अदरक

थोड़ी सी अदरक लें और उसके छोटे छोटे टुकड़े करके इसे एक गिलास पानी में डालकर उबाल लें, अब इस पानी को छानकर गुनगुना रहने पर इसका सेवन करें, आपको पीरियड्स में होने वाले दर्द से आराम पाने में मदद मिलेगी।

अजवाइन

कई महिलाओं को पीरियड्स के दौरान गैस की समस्या होने के कारण भी पेट में दर्द का अहसास हो सकता है। ऐसे में एक चम्मच अजवाइन में थोड़ा सा नमक मिलाकर गुनगुने पानी के साथ इसका सेवन करें आपको दर्द से राहत पाने में मदद मिलेगी।

हल्दी

दूध में हल्दी मिलाकर उसका सेवन करें, इससे बॉडी में गर्माहट पैदा होती है, जिसके कारण बॉडी में होने वाले दर्द की समस्या से आराम मिलती है, ऐसे में पीरियड्स के दौरान इसका सेवन करने से पीरियड्स में होने वाले दर्द से निजात पाने में मदद मिलती है।

सिकाई

गरम पानी को बोतल में डालकर या हीटिंग पैड से पेट या जिस हिस्से में दर्द है उसकी सिकाई करने से भी पीरियड्स में होने वाले दर्द की समस्या से राहत पाने में मदद मिलती है।

स्ट्रेचिंग

योगासन, स्ट्रेचिंग आदि करने से भी पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द से राहत पाने में मदद मिलती है, लेकिन ज्यादा कड़ा व्यायाम, और बॉडी को ज्यादा थकाने वाले व्यायाम या योगासन को करने से बचना चाहिए, ऐसे में स्ट्रेचिंग करना आसान होने के साथ असरदार भी होता है।

पोषक तत्वों से भरपूर आहार

विटामिन बी, विटामिन ई, विटामिन सी, फोलेट, एंटी ऑक्सीडेंट्स, मैग्नीशियम, पोटैशियम, आदि पोषक तत्वों से भरपूर आहार का सेवन करना चाहिए। इससे शरीर में ऊर्जा को बना रहने में मदद मिलती है जिससे पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द की समस्या से बचे रहने में मदद मिलती है।

गाजर का जूस

गाजर का जूस पीरियड्स के दौरान होने वाली दर्द की समस्या से बचने के लिए एक कारागार उपाय है, ऐसे में पीरियड्स होने पर दिन में एक या दो बार जरूर गाजर का जूस पीना चाहिए। इससे बॉडी को एनर्जी मिलने के साथ दर्द से भी निजात मिलता है।

आंवले

आंवले के जूस में थोड़ा सा शहद मिलाकर उसका सेवन करने से भी पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द की समस्या से निजात पाने में मदद मिलती है।

पपीता

पपीता भी पीरियड्स के दौरान होने वाले पेट में दर्द की समस्या से बचाने में मदद करता है। और यदि आपको लगे की आपको पीरियड्स आने वाले हैं तो उसके आने से एक या दो दिन पहले ही इसका सेवन करना शुरू कर देना चाहिए, ताकि पीरियड्स के दौरान आपको ऐसी परेशानी हो ही न।

गुनगुने पानी से स्नान

पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द से बचने के लिए महिला गुनगुने पानी से स्नान भी कर सकती है। इससे पूरे शरीर की सिकाई हो जाती है जिससे बॉडी को रिलैक्स महसूस होने के साथ दर्द से निजात पाने में भी मदद मिलता है।

तो यह हैं कुछ खास तरीके जिनका इस्तेमाल करके इस परेशानी से राहत पाने में मदद मिलती है। तो यदि आप भी पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द की समस्या से परेशान हैं तो आप भी ऊपर दिए गए टिप्स का इस्तेमाल कर सकती है। साथ ही यदि आपको अनियमित पीरियड्स की समस्या है तो इस समस्या को अनदेखा न करते हुए डॉक्टर से इस समस्या का इलाज करवाना चाहिए।