Take a fresh look at your lifestyle.

आँखों में इन्फेक्शन (Ankho ka Sankraman)? करें ये उपाय

0

Ankho ka Infection dur karne ke upay :- आंखे व्यक्ति के जीवन का सबसे महत्वपूर्ण भाग होती है इनके आभाव में मनुष्य का जीवन अस्त व्यस्त हो जाता है। आंखे भगवन का दिया एक अनमोल तोहफ़ा है। लेकिन कई बार इनकी ओर की गयी लापरवाही और थोड़ी सी अनदेखी बड़ी परेशानी का कारण बन जाती है। इन्ही परेशानियों में से एक है आँखों का लाल होना अर्थात आँखों का इन्फेक्शन। ये आँखों से जुडी उन समस्यायों में से एक है जिसकी शुरुआत तो बड़ी छोटी सी होती है लेकिन बाद में ये गंभीर रूप धारण कर लेती है। जिसकी वजह से इंसान न तो ठीक से खा पाता है और न ही ठीक से कोई कार्य कर पाता है।

आँखों का लाल होने एक ऐसी समस्या है जिसमे आँखों में जलन होने के साथ-साथ खुजलाहट भी होती है। ये बीमारी बहुत तेज़ी से एक दूसरे में फैलती है। आँखों में इन्फेक्शन होने पर आंखे dark पीले रंग की दिखती है जो बाद में लाल रंग की हो जाती है। इस दौरान देखने में परेशानी तो होती है। इसके अलावा धुप की रोशनी में आंख में चुभन महसूस होती है।

वैज्ञानिक तौर पर आँखों के लाल होने को कंजंक्टिवाइटिस (conjunctivitis) कहा जाता है। जिसमे कांजन्क्टिवा के लाल होने या उसमे सूजन आने की समस्या उत्पन्न होती है।

आँखों का लाल होना मुख्य तौर पर मौसम में परविर्तन के कारण होता है। यह समस्या सर्दी और बरसात के मौसम में अधिक होती है। लेकिन कुछ लोगो को ये समस्या गर्मी में अधिक परेशान करती है। लेकिन आज के समय में आँखों में इन्फेक्शन होना आम हो गया है। आँखों में संक्रमण होने का एक कारण प्रदुषण आदि भी होता है। eye-drop-dale

Ankho का संक्रमण किसी भी उम्र के व्यक्ति को हो सकता है। आज हम आँखों के लाल अर्थात आँखों के संक्रमण के कारण और उपचार के बारे में बताएँगे। वैसे तो बाजार में मौजूद मेडिकेटिड Eye Drops के द्वारा इस समस्या को दूर किया जा सकता है। लेकिन उनका प्रयोग केवल डॉक्टरी परामर्श के बाद ही करना चाहिए।

आँखों के संक्रमण के कारण :-

आज के समय में आँखों का लाल होना एक आम समस्या बनता जा रहा है। यह समस्या 7 से 10 दिनों के भीतर अपने आप ठीक हो जाती है। नीचे आँखों के लाल होने के कुछ कारण बताये गए है जिन्हें ध्यान में रखकर आप इस समस्या से बचे रह सकते है –

  • आंसुओ की कमी के कारण आँखों का सुखना।
  • जिसका मुख्य कारण आँखों का हवा और सूरज के अधिक संपर्क में रहना होता है।
  • आँखों में किसी प्रकार की एलर्जी होना।
  • वायरस या बैक्टीरिया के कारण उत्पन्न हुआ संक्रमण।
  • रसायन या धुएं वाले क्षेत्र के सम्पर्क में रहना।
  • मेकअप के प्रयोग से।
  • गलत या expiry डेट वाली आई ड्राप के प्रयोग से Bache।

आँखों में संक्रमण के लक्षण :-

  • पलकों पर सूजन आना।
  • कानो के सामने के भाग का सुजना या नरम पड़ना।
  • आँखों से साफ़, गाढ़ा, हलके सफ़ेद रंग का द्रव्य निकलना।
  • Ankho के सफ़ेद भाग में लालीपन आना।
  • Eyes की पलकों पर खुजली और जलन होना।
  • आँखों से अधिक मात्रा में आंसू निकलना।
  • देर तक रोशनी को देखने से आँखों में दर्द होना।

आँखों का संक्रमण दूर करने के उपाय :- 

आँखों पर गर्म या ठंडी सेक : आँखों के लाल होने पर उनमे सूजन आ जाती है जिसे ठीक करने के लिए गर्म या ठंडी सेक का प्रयोग करे। इसके लिए साफ़ सूती कपडे को ठन्डे पानी में डुबोये। अब इस कपडे को निचोड़े। और आंखे बंद करके अपनी आँखों पर रखे। इसे दिन में 3 से 4 बार दोहराये। समस्या ठीक हो जाएगी।

काली चाय : लाल आँखों के लिए काली चाय बहुत फायदेमंद उपाय है। ये आँखों की जलन और खुजली को कम करती है। और संक्रमण को फैलने से रोकती है। इसके लिए काली चाय के दो बैग ले और इन्हें कुछ देर के लिए फ्रिज में रख दे। थोड़ी देर बाद इन्हें निकालकर अपनी आँखों पर रखे। दिन में 3 से 4 बार के प्रयोग से आराम मिलने लगेगा। काली चाय के स्थान पर आप ग्रीन टी का भी प्रयोग कर सकते है।

खारे पानी का मिश्रण : आँखों के संक्रमण को ठीक करने का ये सबसे अच्छा उपाय है। इसके लिए एक कप साफ़ पानी में आधा चम्मच नमक मिलाये। अब इस पानी को उबाले और ठंडा होने तक इंतजार करे। ठंडा होने के बाद ड्रॉपर की तरह इसका प्रयोग अपनी आँखों पर करे। दिन में कई बार के प्रयोग से आपकी आँखों का लालीपन ठीक होने लगेगा।

Ankho ka Infection dur kaise kare?aloevera

एलोवेरा : एलोवेरा के Anti Septic गुण लाल आँखों की लक्षणों को दूर करने में मददगार सिद्धहोता है। सीके लिए एलोवेरा के जेल को साफ़ पानी में डाले। अब इस मिश्रण को अच्छे से मिला ले। और एक ड्रॉपर की मदद से अपनी आँखों में डाले। इसका प्रयोग दिन में 4 बार करे। आँखों से पाई गिरना कम हो जायेगा।

गुलाब जल : गुलाब जल का प्रयोग करके या उससे आँखों को धोने से आँखों का संक्रमण कम हो जाता है। इसके लिए गुलाब जल की दो बुँदे सुबह और शाम अपनी आँखों में डाले। ऐसा करने से आपकी आँखों में जलन भी नहीं होगी और उनका लालीपन भी खत्म होगा।

पालक और गाजर का रस : आँखों के लिए पालक और गाजर का रस बहुत फायदेमंद होता है। इसमें पाए जाने वाले vitmains आँखों को स्वस्थ रखने का काम करते है। इसके लिए पालक के पत्तो को पीस ले। और २ गाजर का रस निकाल ले। अब आधा कप पानी मिलाकर इन दोनों के रस को पिए। प्रतिदिन इसका प्रयोग करने से आँखों का इन्फेक्शन कम होने लगेगा।

आंवले का रस : आँखों के इन्फेक्शन के लिए आंवले का जूस भी बहुत लाभकारी होता है। इसके लिए 3 या 4 आंवले के गूदे को निकालकर उसका रस निकाल ले। एक ग्लास पानी के साथ इस रस को मिलाकर पिए। इसका सेवन सुबह खाली पेट और रात को सोने से पहले करे। आपकी समस्या हल हो जाएगी।

आँखों का लालीपन दूर कैसे करे?tulsi

सेब का सिरका : आँखों में सूजन हो जाने पर 1 ग्लास पानी में 1 चम्मच सेब के सिरके को डाले। अब रुई की मदद से इस मिश्रण को आँखों पर लगाएं। या इससे अपनी आंखे साफ़ करे। आँखों में होने वाली जलन और सूजन इससे काम हो जाएगी।

धनिये का पानी : Ankho में दर्द या सूजन होने पर धनिये की सुखी पत्तियो को पानी में डालकर उबाल ले। अब इसके ठंडा होने का इन्तजार करे। ठंडा होने के पश्चात् इससे अपनी आँखे धोये। आँखों का इन्फेक्शन और आँखों के लालीपन को दूर करने का ये सबसे अच्छा उपाय है।

तुलसी : Eye इन्फेक्शन के लिए तुलसी एक प्राकृतिक औषधि का काम करती है। इसके लिए तुलसी के पत्तो को रात को सोने से पूर्व पानी में भिगो दे। सुबह इस पानी से अपनी आंखे धोये। इन्फेक्शन ठीक होने तक लगातर इसका प्रयोग करे।

Ankho ka Sankraman dur karne ke upay, ankho ka lalipan hatane ke upay, आँखों का संक्रमण दूर करने के तरीके, लाल आंख ठीक करने के उपाय, lal ankh ke upay, ankho ka lal hona, Eye Care Tips in Hindi

Leave A Reply

Your email address will not be published.