सिगरेट पीने के नुकसान

सिगरेट पीने के नुकसान
0

सिगरेट पीने के नुकसान, सिगरेट पीने से होते हैं यह नुकसान, स्मोकिंग के दुष्प्रभाव, धूम्रपान करने के हानिकारक प्रभाव, सिगरेट पीने से स्वास्थ्य को होते हैं यह नुकसान, Harmful effect of Smoking

धूम्रपान करना स्वास्थ्य के लिए कभी भी फायदेमंद नहीं होता है, और यह जिस सिगरेट को आप पीते हैं उसी के पैकेट पर लिखा होता है। जब कोई चीज आपको नुकसान कर रही है तो उससे दुरी बना लेना ही सही होता है। कुछ लोग सिगरेट शौक के लिए, कुछ लोग दिखावा करने के लिए तो कुछ लोगो को इसकी बुरी लत होने के कारण वो इसका सेवन करते हैं। केवल पीने वाले को ही नहीं जहां कोई सिगरेट पीता है उस जगह पर रहने वाले लोगो के लिए भी यह नुकसानदायक ही होता है। यह केवल आपको शारीरिक ही नहीं बल्कि मानसिक रूप से भी रोगी बना देता है। और इसके दुष्प्रभाव जानने के लिए बहुत सी स्टडी भी की गई है। तो लीजिये आज हम आपको सिगरेट पीने से कौन कौन से नुकसान होते हैं इस बारे में विस्तार से बताने जा रहे हैं।

सांस लेने से जुडी समस्या हो सकती है

सिगरेट पीने से उसमे मौजूद कार्बन मोनो ऑक्साइड ब्लड में प्रवेश कर जाती है, जिसके कारण बॉडी में ऑक्सीजन की कमी होने लगती है। और बॉडी को पर्याप्त ऑक्सीजन न मिल पाने के कारण खांसी, कफ, सांस लेने में परेशानी आदि समस्या होने लगती है। और यदि यह समस्या बढ़ जाए तो इसके कारण अस्थमा, तपेदिक आदि की समस्या भी हो सकती है।

शुगर की समस्या

बॉडी में ग्लूकोस की मात्रा को असंतुलित करके टाइप 2 शुगर होने की समस्या को बढ़ाने में सिगरेट का सबसे ज्यादा योगदान होता है। साथ ही प्रेगनेंसी के दौरान यदि महिला इसका सेवन करती है तो इससे महिला को इस परेशानी का सामना करना पड़ सकता है, और साथ ही जन्म के बाद शिशु को भी इस शुगर होने के चांस बढ़ जाते हैं।

आँखों के लिए है नुकसानदायक

सिगरेट के धुएं में आर्सेनिक, फार्मलाडिहाइड, अमोनिया, आदि रसायन होते हैं, और यदि आप इसका सेवन करते हैं तो यह आपके खून में पहुंचकर आँखों के उत्तको तक पहुँच जाते हैं, जिससे रेटिना को नुकसान पहुँचता है और आपकी आँखों के देखने की क्षमता पर असर पड़ सकता है।

घाव भरने में समय लगता है

यदि आपको कभी चोट आदि लग जाती है, और आपको घाव बन जाता है, और आप सिगरेट का सेवन करते हैं तो इसके कारण आपके घाव को भरने में समय लग सकता है। क्योंकि निकोटीन, नाइट्रिक ऑक्साइड, हाइड्रोजन साइनाइड, कार्बन मोनोऑक्साइड जैसे रसायन सिगरेट के धुंए में होते हैं जो घाव को भरने में देरी का कारण बनते हैं।

दिल के लिए है खतरा

धूम्रपान करने से हदय सम्बन्धी समस्या जैसे स्ट्रोक आदि आने के चांस बढ़ जाते हैं। क्योंकि इसमें मौजूद निकोटिन व् अन्य जहरीले पदार्थ आपके हदय को नुकसान पहुंचाते हैं। और स्ट्रोक की समस्या के साथ पैरालिसिस, आंशिक अंधापन, बोलने की शक्ति में कमी आदि की समस्या भी आपको हो सकती है।

गठिया का खतरा

धूम्रपान करने वाले लोगो में गठिया रोग की समस्या होने के चांस भी बढ़ जाते हैं, जिसके कारण व्यक्ति को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।

फेफड़ों के लिए है नुकसानदायक

सिगरेट का अधिक सेवन व्यक्ति के लिए फेफड़ों में होने वाली कैंसर जैसी समस्या का कारण बन सकता है। और महिलाएं यदि इसका सेवन अधिक करती हैं तो पुरुषो के मुकाबले महिला को जल्दी यह समस्या हो सकती है।

उम्र बढ़ती है

हर कोई हमेशा जवान रहना चाहता है लेकिन यदि आप सिगरेट का सेवन करते हैं तो ऐसा करने से आपको स्किन से जुडी समस्या जैसे की स्किन का ढीला होना, झुर्रियों की समस्या होना, आदि परेशानी हो सकती है। जिसके कारण कम उम्र में ही आप अधिक उम्र के लगने लगते हैं, इसीलिए हमेशा जवान दिखने और फिट रहने के लिए आपको सिगरेट का सेवन नहीं करना चाहिए।

प्रजनन क्षमता पर पड़ता है बुरा असर

महिलाएं और पुरुष दोनों को ही प्रजनन क्षमता में कमी की समस्या का सामना करना पड़ सकता है, साथ ही इसके कारण शुक्राणु में कमी जैसी समस्या भी हो सकती है, यदि आप सिगरेट का सेवन करते हैं तो। महिलाओं में जहां ओवुलेशन प्रक्रिया पर इसका असर पड़ता है वहीँ पुरुषो के शुक्राणु की गुणवत्ता में कमी आने के साथ उनकी संख्या में कमी आ सकती है।

दिमाग पर पड़ता है बुरा असर

स्टडीस के अनुसार सिगरेट का अधिक सेवन करने से दिमाग पर बहुत बुरा असर पड़ता है, क्योंकि इसके सेवन से दिमाग की कोशिकाएं सिकुड़ने लगती है, जिसके कारण आपकी सोचने, समझने, निर्णय लेने की क्षमता में कमी आती है।

तो यह हैं कुछ नुकसान जो आपको सिगरेट का सेवन करने से होते है, इसीलिए जितना हो सके इनके सेवन से परहेज करना चाहिए, और यदि आपके आस पास भी कोई सिगरेट पीता है तो उसे उसका सेवन करने से रोकना चाहिए, या उसके संपर्क में आने से बचना चाहिए। ताकि आपको सिगरेट के कारण होने वाली हर तरह की शारीरिक और मानसिक दिक्कत से बचाव करने में मदद मिल सके।