Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

दूध : दूध में पाए जाने वाले खनिज तत्व और दूध के प्रकार

What types of Minerals And Vitamins are Found in Milk?

-- Advertisement --

दूध में पाए जाने वाले खनिज तत्व और दूध के प्रकार, Milk Components, What types of Minerals & Vitamins are Found in Milk, Vibhinn Tarah ke dudh, Milk Products

रोजाना सुबह शाम आप कम से कम 1-2 बार दूध तो पीते ही होंगे। लेकिन क्या आप जानते है की दूध में कौन-कौन से तत्व होते है या उसमे किस वस्तु की कितनी प्रतिशत होती है? शायद नहीं क्योंकि अधिकतर लोग केवल इसे हड्डियों को मजबूत करने और दिमाग तेज करने के लिए पीते है। इसके बारे में कोई ठीक तरह से जानता ही नहीं। इसलिए आज हम आपको दूध से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण तथ्यों के बारे में बताने जा रहे है। जैसे दूध क्या होता है? दूध में कौन-कौन से खनिज तत्व पाए जाते है? दूध कितने प्रकार का होता है आदि? तो आइये जानते है इनके बारे में –

दूध में पाए जाने वाले तत्व :-

यह एक तरह का अपारदर्शी सफ़ेद तरल पदार्थ होता है जो मादाओं की दुग्ध ग्रंथियों द्वारा निर्मित होता है। दुनिया में जन्म लेने वाला हर नवजात तब तक दूध पर निर्भर होता है जब तक वह किसी अन्य चीज का सेवन करने के योग्य नहीं होता। सामान्यतौर पर दूध में 85% जल होता है। जिसके 15% भाग ठोस अर्थात खनिज व् वसा का होता है। गाय व् भैंस के दूध के अतिरिक्त बहुत सी कंपनियों का पैक्ड दूध भी उपलब्ध है।Milk Protiens

दूध में प्रोटीन, कैल्शियम और विटामिन बी2 भी पाया जाता है। इसके अलावा इसमें विटामिन ए, डी, के और ई के साथ साथ फॉस्फोरस, मैग्नेशियम, आयोडीन बी कई तरह के मिनरल्स भी पाए जाते है। इसके अतिरिक्त दूध में बहुत से enzymes और जीवित रक्त कोशिकाएं भी होती है। जो स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभकारी होती है।

दूध कहां-कहां से मिलता है ?

सामान्य तौर पर 3 तरह से आप दूध ले सकते है। गाय का दूध, भैंस का दूध और पैक्ड दूध। जहां एक तरफ गाय के दूध में दिमाग शार्प करने वाले गुण पाए जाते है वहीं भैंस के दूध में कोलेस्ट्रॉल की कम मात्रा पाई जाती है। नीचे हम आपको इन तीनों के बारे में विस्तार से बताने जा रहे है।

गाय का दूध :

रिसर्च के मुताबिक गाय के दूध में प्रति ग्राम 3.14 मिलीग्राम कोलेस्ट्रॉल पाया जाता है। आयुर्वेद के अनुसार गाय के ताजे दूध को सबसे उत्तम माना जाता है। एक रीसर्च में पाया गया है की भैंस के दूध की तुलना में गाय का दूध मस्तिष्क के विकास और ग्रोथ के लिए बेहतर होता है।

भैंस का दूध :

भैंस के दूध में प्रति ग्राम 0.65 मिलीग्राम कोलेस्ट्रॉल पाया जाता है। गाय के दूध की तुलना में भैंस के दूध में 92% कैल्शियम, 37% आयरन और 118% अधिक फॉस्पोरस पाया जाता है। रिसर्च में ये भी पाया गया है की गाय के दूध से बेहतर भैंस का दूध होता है क्योंकि इसमें कोलेस्ट्रॉल कम होता है और मिनरल्स अधिक होते है।

पैक्ड दूध :Milk Brands in india

मदर डेरी, अमूल, नेस्ले, डैनोन आदि कुछ कम्पनियाँ है को पैक्ड दूध सप्लाई करती है। इन दूध में विटामिन ए, आयरन और कैल्शियम ऊपर से भी मिलाया जाता है। इसमें कई तरह की वैराइटीज मिलती है। जैसे फुल क्रीम, टोंड, डबल टोंड और फ्लैवर्ड दूध आदि। फुल क्रीम दूध में पूरी तरह मलाई होती है अर्थात इसमें वसा की अधिक मात्रा पाई जाती है। बाकी सभी में इसकी मात्रा कम होती है। चिकित्सकों की माने को बच्चों के लिए फुल क्रीम दूध अच्छा होता है जबकि बड़ों के लिए कम फैट वाला दूध होता है।

दूध के प्रकार :-

पहले इस तरह दूध को categorized नहीं किया जाता था लेकिन आजकल बहुत प्रकार के दूध बाजर में उपलब्ध होने लगे है। जिमे निम्नलिखित सम्मिलित है।

1. सम्पूर्ण दूध :

इस दूध को आप pure दूध भी कह सकते है। क्योंकि इसमें किसी तरह की कोई मिलावट नहीं की जाती। यह दूध पूरी तरह स्वस्थ पशु से प्राप्त दूध होता है। इस तरह का दूध गाय, बकरी, भैंस से प्राप्त होता है। इनमे वसा और वसाविहीन ठोस की न्यूनतम मात्रा 3.5% से 9% के मध्य होती है। फिर चाहे वो गाय का दूध हो या भैंस का दूध।

2. स्टैंडर्ड दूध :

इस तरह के दूध में वसा तथा वसाविहीन ठोस की मात्रा को क्रीम के रूप में निकालकर अलग कर दिया जाता है। जिससे इस दूध में वसा की मात्रा 4.5% से 8.5% रह जाती है। यह कम वसा वाला दूध होता है जिसे पीने से मोटापा नहीं बढ़ता।

3. टोंड दूध :milk

इस तरह के दूध को दूध में पानी और सप्रेश दूध पाउडर मिलाकर बनाया जाता है। जिसमे वसा की मात्रा 3% और वसाविहीन ठोस की मात्रा 8.5% होती है। इस दूध को लौ फैट दूध भी कहा जाता है जिसे पीने से फैट नहीं बढ़ता।

4. डबल टोंड दूध :

इस दूध में वसा की मात्रा 1.5% तथा वसाविहीन ठोस की मात्रा 9% होती है।

5. रिक्न्सटिट्यूटेड दूध :

जब दूध के पाउडर को पानी में घोलकर दूध बनाया जाता है तो उसे रिक्न्सटिट्यूटेड दूध कहा जाता है। इसमें 1 भाग दूध और 7 से 8 भाग पानी होता है। जो स्वास्थ्य के लिए उतना लाभकारी नहीं होता।

6. रिकम्बाइण्ड दूध :

इस दूध को बटर आयल, सप्रेस दूध पाउडर और पानी को बराबर मात्राओं में मिलकार बनाया जाता है। इसमें वसा की मात्रा 3% होती है जबकि वसाविहीन ठोस की मात्रा 8.5% होती है।

7. फिल्ड दूध :

जब pure दूध से वसा निकालकर उसमे वनस्पति वसा मिला दिया जाता है तो उसे फिल्ड दूध कहते है।

दूध से बनने वाले पदार्थ :दूध में पाए जाने वाले खनिज तत्व

दूध से कई तरह के उत्पाद बनाए जा सकते है जिनमे मिठाई तो सम्मिलित ही है साथ साथ बहुत सी ने चीजें भी है। तो आइये जानते है उन चीजों के बारे में –

खीर, खोआ, राबड़ी, कुल्फी, आइस क्रीम, दही, पनीर, छैना, श्रीखंड, Cheez, मक्खन, घी, लस्सी, छाछ आदि।

Leave a comment