Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

गाय के पेशाब के फायदे

0

आप सबको ये तो पता है की भारत देश में गाय को सभी माता कहकर पुकारते है, परन्तु क्या कभी आपने ये सोचा है की ऐसा उसे क्यों कहते है, और यदि कहते है तो उसके पीछे कारण क्या है, गाय अपने पूरे जीवन में आपको सिर्फ फायदे की फायदे देती है, चाहे फिर वो उसके दूध से हो, उसके गोबर से हो या फिर गौ मूत्र से, साथ ही गौमूत्र को काफी पवित्र भी माना जाता है, क्योंकि यह पूजा पाठ करने से पहले घर में छिड़का जाता है, और साथ ही गोबर से घर की लिपाई भी की जाती है, और कई जगह तो आज भी यह प्रथा कायम है।

इन्हे भी पढ़ें:- अगर आप रोज केला खायेंगे तो ये 15 चमत्कारी फायदे होंगे!

cow urine

गौमूत्र पवित्र होने के साथ कीटनाशक के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है, और इसके अलावा कहा जाता है की बच्चे को गाय का दूध पिलाना चाहिए इसके कारण उसे मजबूत बनने, उसकी हड्डियों और शरीर का विकास होने में मदद मिलती है, और दूध को कई जैसे दही, पनीर आदि के रूप में इस्तेमाल करके भी आप इसका फायदा उठा सकते है, इसके अलावा गोबर का इस्तेमाल करने से भी आपको कौन से फायदे होते है इस बारे में आप जानते है, ऐसे ही गौ मूत्र के इस्तेमाल से भी आपको बहुत सी बीमारियों से अपने शरीर को बचाने में मदद मिलती है, जैसे की कैंसर जैसी खतरनाक बिमारी की रोकथाम में भी ये आपके लिए बहुत फायदेमंद होता है, मोटापे, तिल्ली रोग, गले के रोग, आदि इसके साथ त्वचा सम्बन्ध समाया से भी से बचने में भी आपकी मदद करता है, इसके अलावा गौमूत्र से आपको और भी फायदे होते है आइये जानते है गौमूत्र से मिलने वाले फायदे कौन कौन से है।

आपके लिवर को स्वस्थ रखने में मदद करता है:-

शरीर में रक्त का संचार सही से होने के लिए जरूर है, की आपका रक्त साफ़ हो जिसके कारण वो शरीर के सभी अंगो को फायदा पहुंचा सकें, यदि आपको भी लिवर से सम्बंधित कोई समस्या है तो आपको गोमटर का सेवन करना चाहिए क्योंकि इसमें वो गुण होते है जो की रक्तशोधक का काम करते है, यानी आपके रक्त को साफ़ करने का काम करते है, जिसके कारण आपक शरीर को बीमारियों से बचाव और फिट रहने में मदद मिलती है।

पेट से सम्बंधित रोग होने पर करें इसका इस्तेमाल:-

loose-stomach

यदि आपको गैस बनती है, तो आपको गौमूत्र का सेवन रोजाना सुबह उठकर खाली पेट उसमे थोड़ा सा नमक और निम्बू का रस मिलाकर करना चाहिए, ऐसा करने से आपको गैस से राहत मिलती है, साथ ही यदि आपको कब्ज़ की समस्या है तो दिन में तीन से चार बार थोड़ी थोड़ी मात्रा में इसका सेवन करें, आपको इसका भी समाधान मिल जाएगा, साथ ही इसके सेवन से आपकी पाचन क्रिया मजबूत होती है साथ ही आपको खुल कर भूख लगती है।

इन्हे भी पढ़ें:- गैस और बदहज़मी से बचने के उपाय

गले की समस्या का समाधान होता है:-

गौमूत्र का इस्तेमाल करने आपको गले में होने वाली खराश की समस्या का समाधान करने में मदद मिलती है, इसके इस्तेमाल के लिए आप ताजे गौमूत्र से कुल्ला कर सकती है या फिर एक चम्मच गौमूत्र को लेकर अच्छे से गरम करें, उसके बाद उसमे एक चम्मच शहद, और एक चुटकी हल्दी पाउडर मिलाएं, और इस मिश्रण को मेह में एक से दो मोइनते के लिए रख कर अच्छे से कुल्ला करें, आपको जरूर फायदा होगा, इसके अलावा आपको इस बात का ध्यान रखना होगा की आप जब भी इस्तेमाल करें आपको ताजे गौमूत्र का ही इस्तेमाल करना चाहिए।

त्वचा सम्बंधित रोगो से निजात दिलाने में है फायदेमंद:-

safed daag

गौमूत्र का इस्तेमाल करने से आपकी त्वचा पर होने वाले किसी भी दाग धब्बे के साथ खाज खुजली की समस्या से भी राहत मिलने में मदद मिलती है, कई बार आपने देखा होगा की त्वचा पर सफ़ेद दाग पड़ने लगते है, इस समस्या से निजात के लिए आप बावची\ बाकुची को अच्छे से पीस कर गौमूत्र में मिलाएं, उसके बाद रात के समय अच्छे से इसे अपने उन दाग पर लगाएं और सो जाएँ, और सुबह उठकर गौमूत्र से ही इसे साफ़ करें नियमित इस्तेमाल करने से आपको कुछ ही दिनों में इस समस्या का समाधान करने में मदद मिलेगी, इसके अलावा यदि आपको स्किन पर खुजली आदि की समस्या है तो जीरे को पीस कर गौमूत्र में मिलाकर स्किन पर लगाएं और थोड़ी देर बाद धो दें, इससे आपको राहत मिलती है, इसके अलावा त्वचा सम्बंधित अन्य रोग जैसे सोरायसिस, एक्ज़िमा आदि से भी राहत मदद मिलती है।

तिल्ली रोग और जोड़ो के दर्द के लिए है फायदेमंद:-

तिल्ली रोग से निजात पाने के लिए भी गौमूत्र बहुत अधिक फायदेमंद होता है, इसके सेवन के लिए आप रोजाना गौमूत्र में नमक डालकर इसका सेवन करें, आपको इससे फायदा मिलेगा, इसके अलावा आप इस रोग वाले स्थान पर यदि सिकाई करते है तो भी आपको इससे राहत मिलती है, इसके लिए आप एक सूती कपडे को गौमूत्र में भिगाकर रखें, उसके बाद एक ईंट लें और उसे अच्छे से गरम करें, उसके बाद इस ईंट को उस कपडे में बाँध कर अच्छे से उस जगह की सिकाई करें, इससे प्लीहा घटने लगती है और आपको इस समस्या से राहत मिलती है, जोड़ो के दर्द में भी इससे सिकाई करने पर आपको बहुत फायदा मिलता है।

वजन कम करने में मदद करता है:-

motapa

आज कल हर तीसरा व्यक्ति वजन बढ़ने की समस्या से परेशान है और इस समस्या से निजात पाने के लिए कुछ भी करता है, परन्तु आज हम आपको गौमूत्र का एक ऐसा उपचार बताने जा रहे है जिसके नियमित इस्तेमाल से आपको अपने वजन को घटाने में मदद मिलती है, नियमित सुबह आप एक गिलास गुनगुने पानी में गौमूत्र की चार बबुनदे, एक चम्मच शहद और निम्बू का रस मिलाकर इसका सेवन करें, आपको कुछ ही दिनों में इसका फायदा दिखने लगेगा, और आपके वजन को घटने में मदद मिलेगी।

इन्हे भी पढ़ें:- वजन कम करने का ये हैं सबसे कारगर उपाय जिससे आप जल्दी वजन कम कर सकते हैं

कैंसर की समस्या से बचने में मदद मिलती है:-

गले, आहार नली और पेट के कैंसर के लिए गौमूत्र एक अच्छा उपाय है, शरीर में जब करक्यूमिन नामक तत्व की कमी हो जाती है, तो इसके कारण आपको कैंसर की समस्या हो सकती है, और तभी आपके शरीर में कैंसर रोग भी होता है, और गौमूत्र में करक्यूमिन की मात्रा भरपूर होती है, और यदि आप इसका सेवन करते है तो यह तुरंत पच भी जाता है, और आपके शरीर में जाने के बाद तुरंत असर भी करता है, इसीलिए आपको इस परेशानी से बचने के लिए इसका सेवन करना चाहिए।

गौमूत्र से मिलने वाले अन्य फायदे:-

  • यदि आपको आँखों में जलन है तो चीनी मिलाकर इसका सेवन करें।
  • गुर्दे की बिमारी, पीलिया, मूत्राशय से सम्बंधित किसी भी रोग में इसका सेवन फायदेमंद होता है।
  • यदि आपको बहुत ज्यादा आलस आता है तो भी इसका चीनी मिलाकर सेवन करें आपकी सुस्ती को दूर होने में मदद मिलेगी।
  • बवासीर के रोगियों केलिए इसका इस्तेमाल लाभप्रद होता है।
  • अस्थमा, कफ, खांसी जुखाम जैसे रोगो के लिए भी इसका सेवन आपको राहत पहुंचाता है।
  • बच्चों को पेट फूलने की समस्या होने पर एक चम्मच गौमूत्र में नमक मिलाकर बच्चे को इसका सेवन करवाने से फायदा होता है।
  • जिनको भूख कम लगती है इसके सेवन से उनका पाचन सुधरता है और भूख खुल कर लगती है।
  • बड़ो में यदि पेट से सम्बंधित कोई भी भी परेशानी होती है तो भी इसका सेवन फायदेमंद होता है।

गौमूत्र का इस्तेमाल करते समय इन बातों का ध्यान रखें:-

  • गौमूत्र को हमेशा एक निश्चित तापमान पर रखना चाहिए।
  • गौमूत्र की तासीर गरम होती है इसीलिए इसे गर्मियों में कम ही इस्तेमाल करना चाहिए।
  • आठ वर्ष से कम उम्र के बच्चों और गर्भवती स्त्री को इसके प्रयोग से पहले डॉक्टर या वैद्य की राय लेनी चाहिए।
  • मिट्टी कांच या स्टील के बर्तन में ही गौ मूत्र को रखना चाहिए।
  • जो लोग दुबले, कमजोर या थकान आदि से परेशान रहते है उन व्यक्तियों को इसके सेवन से परहेज करना चाहिए।
  • जो पुरुष बांझपन या फिर अनिंद्रा की समस्या से परेशान होते है उन्हें भी इसका सेवन नहीं करना चाहिए।

तो ये कुछ फायदे है जो आपको गौमूत्र से मिलते है, इसके अलावा आपको इसके प्रयोग से पहले किन किन बातों का ध्यान रखना चाहिए इस बारे में भी आपको ऊपर बताया गया है, यदि इसका इस्तेमाल करके आपकी किसी समस्या का समाधान होता हो, या फिर किसी बिमारी से लड़ने और उसे खत्म करने में मदद मिलती है, तो इसकी गंध और स्वाद को भूल कर इसका फायदा जरूर उठाना चाहिए, ऐसा इसीलिए कहा क्योंकि गौ मूत्र स्वाद में कसेला, कड़वा और तीखा होता है, और साथ ही इसकी तासीर भी गरम होती है, परन्तु यह आपके भोजन को आसानी से पचाने और भूख को बढ़ाने में भी मदद करता है।

Leave a comment