Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

गर्भावस्था के दौरान होने वाले ब्रेस्ट पेन से बचने के टिप्स

0


गर्भावस्था के दौरान होने वाले ब्रेस्ट पेन से बचने के टिप्स, प्रेगनेंसी के दौरान ब्रेस्ट पेन से राहत के टिप्स, ब्रेस्ट पेन से बचने के टिप्स, गर्भवती महिला ब्रेस्ट पेन से बचने के लिए यह करे, How to get relief from breast pain during pregnancy

प्रेगनेंसी के दौरान महिला को बहुत सी शारीरिक परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है, और ऐसी ही शारीरिक परेशानी होती है ब्रेस्ट में दर्द, सूजन, भारीपन का महसूस होना। कुछ महिलाएं प्रेगनेंसी के दौरान ब्रेस्ट पेन की समस्या का सामना करती है। यह काफी सामान्य होता है क्योंकि इस दौरान बॉडी में होने वाले हार्मोनल बदलाव के साथ स्तन में दूध ग्रथियों का फैलाव होने के कारण ऐसा होता है।

कई बार ब्रेस्ट में दर्द के साथ सूजन, भारीपन, निप्पल के रंग में बदलाव, ब्रेस्ट का टाइट होना जैसी समस्या भी महिला को हो सकती है। खासकर पहली तिमाही में महिलाएं इस दर्द का अधिक अनुभव कर सकती है, लेकिन दूसरी तिमाही तक आते आते इससे आपको आराम मिल जाता है। तो आइये अब जानते हैं की गर्भावस्था के दौरान होने वाले ब्रेस्ट पेन से बचने के लिए आप क्या कर सकते हैं।

सही ब्रा पहने

प्रेगनेंसी के दौरान कुछ महिलाएं अपने साइज से बड़ी ब्रा पहनती है, जिसके कारण न केवल ब्रेस्ट शेप खराब होता है, बल्कि आपको दर्द का भी अधिक सामना करना पड़ सकता है। इसके अलावा गर्भवती महिला को ब्रेस्ट दर्द से राहत के लिए फिटिंग की ब्रा का चुनाव करना चाहिए, रात को सोते समय ब्रा नहीं उतारनी चाहिए, ब्रेस्ट को बेहतर स्पोर्ट देने के लिए चौड़े पट्टे की ब्रा पहननी चाहिए, पैडेड ब्रा भी इस समस्या से बचने में आपकी मदद करती है। साथ ही फिटिंग की ब्रा पहनने से ब्रेस्ट हिलते नहीं है जिसके कारण दर्द के अनुभव को कम करने में मदद मिलती है।

सिकाई करें

सिकाई करने से भी आपको ब्रेस्ट पेन की समस्या से राहत पाने में मदद मिल सकती है। इसके लिए आप आइस क्यूब से या हॉट पैड का इस्तेमाल करके ब्रेस्ट की सिकाई कर सकते हैं। सिकाई करने से ब्रेस्ट में ब्लड फ्लो बेहतर तरीके से होता है जिससे आपको आराम मिलता है। लेकिन एक बात का ध्यान रखें की ज्यादा गरम पानी या ज्यादा देर तक आइस क्यूब को ब्रेस्ट पर नहीं रखना चाहिए, आइस क्यूब को दर्द होने पर दिन में दो से तीन बार आप दो मिनट के लिए ब्रेस्ट पर घुमा सकते हैं।

फ़ास्ट फ़ूड का सेवन न करें

फ़ास्ट फ़ूड में सोडियम की मात्रा अधिक होती है जिसके कारण ब्रेस्ट पेन बढ़ सकता है। ऐसे में आपको ब्रेस्ट में दर्द से राहत पाने के लिए घर में बने संतुलित व् पौष्टिक आहार का सेवन ही करना चाहिए और डिब्बाबंद या जंक फ़ूड के सेवन से परहेज करना चाहिए।

पानी का भरपूर सेवन करें

पानी शरीर को ऊर्जा से भरपूर रखने के साथ बॉडी में मौजूद विषैले पदार्थो को भी बाहर निकालने में मदद करता है। ऐसे में ब्रेस्ट पेन से राहत के लिए गर्भवती महिला को पानी का भरपूर सेवन करना चाहिए। इससे महिला को स्वस्थ रहने के साथ ब्रेस्ट पेन की समस्या से राहत पाने में भी मदद मिलेगी।

व्यायाम व् योगासन करें

हल्का फुल्का व्यायाम या घर पर ही थोड़ी देर योगासन करने से बॉडी में ब्लड फ्लो अच्छे से होता है साथ ही मांसपेशियों को भी आराम मिलता है जिससे प्रेगनेंसी के दौरान होने वाले ब्रेस्ट पेन के साथ शरीर के अन्य भागो में होने वाले दर्द की समस्या से भी राहत पाने में मदद मिलती है।

व्यस्त रहें

गर्भवती महिला को आराम करने की सलाह दी जाती है, लेकिन यदि महिला सारा दिन आराम ही करती रहती है तो ऐसा करने से महिला की शारीरिक परेशानियां बढ़ सकती है। ऐसे में दर्द जैसी परेशानियों से बचाव के लिए और महिला को फिट रहने के लिए महिला को भरपूर नींद के साथ अपने आप को बिज़ी रखने की कोशिश करनी चाहिए।

तो यह हैं कुछ खास टिप्स जिनका इस्तेमाल आप प्रेगनेंसी के दौरान होने वाले ब्रेस्ट पेन की समस्या से बचाव के लिए कर सकते हैं। इसके अलावा दर्द, सूजन असहनीय हो तो इसे अनदेखा न करते हुए एक बार डॉक्टर की सलाह भी जरूर लेनी चाहिए, और ब्रेस्ट पेन से बचने के लिए डॉक्टर की राय के बिना किसी भी तरह की दवाई का सेवन नहीं करना चाहिए। और हाथों से ब्रेस्ट को दर्द होने पर तेजी से दबाना नहीं चाहिए, नहीं तो दर्द बढ़ सकता है।

Leave a comment