हल्दी के फ़ायदे और उसके गुण

Haldi ke gun aur uske fayde :- हल्दी का प्रयोग अक्सर हमारे भोजन में रंग देने के लिए किया जाता है क्योकि बिना हल्दी के भोजन की कल्पना भी नहीं जा सकती। भोजन के अतिरिक्त हल्दी का प्रयोग पूजा-अर्चना आदि कार्यो में किया जाता है। क्योकि हिन्दू परंपरा में Haldi को बहुत शुभ और शुद्ध माना जाता है। लेकिन यदि आयुर्वेद की बात करें तो हल्दी को एक प्राकृतिक औषधि के रूप में भी प्रयोग में लाया जा सकता है। क्योकि हल्दी के गुण किसी भी घाव को जल्द-से-जल्द ठीक करने में मदद करते है इसलिए हल्दी को प्राकृतिक एंटीबायोटिक भी कहा जाता है। इन प्रयोगों के अलावा हल्दी के और भी कई फायदे है जिनके बारे में आज हम आपको बताने जा रहे है।

हल्दी क्या है ?

एक भारतीय मसाला होने के साथ-साथ Haldi एक प्राकृतिक औषधि भी है जिसका प्रयोग त्वचा के बाहरी हिस्से को ठीक करने से लेकर अंदरूनी समस्याओं को मिटाने के लिए किया जाता है। जब किसी छोटे बच्चे के चोट लग जाती है तो उसे हल्दी वाला दूध दिया जाता है ताकि शरीर के अंदर किसी भी प्रकार का घाव न रहे। इसके अलावा गुम चोट, नील पड़ना और घाव जैसी समस्यायों में भी हल्दी एक फायदेमंद उपाय है। इसके अलावा चेहरे का निखार बढ़ाने का काम हल्दी के अतिरिक्त और कोई नहीं कर सकता।

हल्दी का पौधा अदरक की प्रजाति का है जिसकी जड़ो में Haldi की गांठे पायी जाती है और बाद में उन्हें पीसकर हल्दी बनायीं जाती है इसका रंग गढ़ा पीला होता है। जिस प्रकार आयुर्वेद में इसका महत्वपूर्ण स्थान है उसी प्रकार हमारी रसोई घर और पूजा स्थल में भी हल्दी का सर्वाधिक प्रयोग किया जाता है। इसके अतिरित्क विवाह के दौरान की जाने वाली हल्दी की रसम में भी इसका ख़ास महत्त्व है।

त्वचा के लिए Haldi के फ़ायदे :-

haldi ke faydeहल्दी के फायदों में सबसे पहला नाम त्वचा का आता है जिसकी छोटी-से-छोटी समस्या को समाप्त करने के लिए भी हल्दी का ही प्रयोग किया जाता है, अब चाहे वो Acne हो या छोटी-सी चोट। हल्दी में पाए जाने वाले Anti – Biotic गुण त्वचा को हर प्रकार की पीड़ा से राहत देने का काम करते है। इसके अलावा चेहरे की सुंदरता बढ़ाने और रंग निखारने के लिए हल्दी को सबसे ज्यादा प्रयोग में लाया जाता है। क्योकि हल्दी के गुण Dead Skin को निकाल कर त्वचा को साफ़ कर देते है जिससे उसका रंग निखर आता है। इसी प्रकार हल्दी के त्वचा के लिए और भी कई फ़ायदे है जिनकी सूची नीचे दी गयी है। यदि आप भी इनमे से किसी भी समस्या से परेशान है तो हल्दी का प्रयोग करके देखे आपको फायदा अवश्य मिलेगा।

  • Acne (पिम्पल्स) मे राहत पाने के लिए।
  • तेलीय त्वचा के लिए फेशिअल मास्क।
  • रूखी त्वचा के लए फेशिअल मास्क।
  • झुर्रियों के इलाज के लिए।
  • बढ़ती उम्र की निशानियो को कम करने के लिए।
  • डार्क सर्कल्स (काले घेरो) को कम करे।
  • Strech Marks के लिए upyogi ke Haldi ।
  • कटे जले मे राहत पाने के लिए।
  • स्किन Tanning को कम करने के लिए।
  • काली त्वचा को गोरा करने के लिए।
  • चेहरे के Unwanted Hair को हटाने के लिए भी किया जा सकता है Haldi का प्रयोग।
  • फटी एडियो के उपचार के लिए।
  • रात को दही या दूध मिलाकर क्रीम के रूप में Haldi का प्रयोग किया जा सकता है।
  • त्वचा संबंधी समस्याओं को नष्ट करने के लिए।
  • हल्दी त्वचा के Dead Skin Cells को निकालने का काम करती है। 

     

बालों में हल्दी के प्रयोग के फ़ायदे (Benefits for hair) :-

haldi ke baalo ke liye faydeत्वचा के अतिरिक्त बालों के लिए भी हल्दी का प्रयोग बहुत फायदेमंद है। बालों में हल्दी का प्रयोग करने से उनमें प्राकृतिक चमक आती है और साथ-साथ उन्हें किसी भी प्रकार का नुक्सान भी नहीं होता। पहले ज़माने में शैम्पू नहीं थे इसलिए लोग हल्दी का प्रयोग करके अपने बालों को चमकदार बनाते थे। यदि आप भी अच्छे बाल चाहते है हल्दी का प्रयोग करके देखे। इसके अलावा सर में मौजूद किसी भी विषाणु या बिमारी को खत्म करने के लिए भी हल्दी का प्रयोग किया जा सकता है।

  • डेंड्रफ (रुसी) से छुटकारा पाने के लिए।
  • बालों का झड़ना रोकने के लिए।
  • पीले बाल अर्थात Yellow hair पाने के लिए प्राकृतिक डाई का काम करती है Haldi।
  • स्कैल्प की बीमारियों को ठीक करने मे सहायक।
  • सिर से बैक्टीरिया को समाप्त करने का काम करे।

स्वास्थ्य के लिए लाभकारी है Haldi का प्रयोग (Benefits for Health) :-

uses of haldiत्वचा और बालों को हल्दी बाहरी खूबसूरती प्रदान करती है लेकिन क्या आप जानते है की हल्दी हमारे स्वास्थ्य को भी ठीक रखने में मदद करती है ? जी हां, हल्दी न केवल हमें बाहरी खूबसूरती देती है बल्कि हमारे शरीर को अंदर से भी स्वस्थ रखने का काम करती है। इसी वजह से आयुर्वेद में हल्दी को सबसे उत्तम उपचार का दर्जा दिया गया है। खांसी जुखाम के अतिरित्क और भी कई बीमारिया है जिनमे हल्दी का प्रयोग करके उन्हें ठीक किया जा सकता है। नीचे कुछ ऐसी ही बीमारियों की सूची दी गयी है जिनमे हल्दी के प्रयोग में राहत पायी जा सकती है।

  • गर्म दूध में हल्दी डालकर पीने से सुखी खांसी में राहत मिलती है।
  • जुखाम मे हल्दी, शहद और काली मिर्च का सेवन फायदेमंद होता है।
  • हल्दी का पेस्ट लगाने से चोट और मोच मे राहत मिलती है।
  • अंदर के घाव (गुम चोट) में हल्दी का दूध पीना अच्छा होता है।
  • मधुमेह से ग्रसित व्यक्ति को किसी न किसी रूप में हल्दी का सेवन करना चाहिए इससे उसके घाव जल्दी भरते है।
  • साँस संबंधी रोग मे हल्दी का दूध दे राहत।
  • दूध में Haldi मिलाकर पीने से गठिया मे सूजन कम होती है।
  • कान के दर्द मे आराम।
  • किसी भी प्रकार के दर्द मे राहत दे हल्दी वाला दूध।
  • कैंसर में हल्दी की गोलियों में नीम मिलाकर सेवन करने से कैंसर की कोशिकाएं ख़त्म होती है।
  • हल्दी का पानी पीने से दिल संबंधी समस्याएं समाप्त होती है।
  • मासिक धर्म मे होने वाले पेट दर्द के लिए हल्दी को गुनगुने पानी मे डालकर पीने से दर्द में राहत मिलती है।
  • चर्म रोग मे हल्दी का लेप लगाने से आराम मिलता है।
  • हल्दी और दूध के पेस्ट को जले हुए भाग पर लगाए।
  • शरीर का भाग छिल जाने पर हल्दी का लेप लगाने से संक्रमण नही फैलता।

haldi ke pedइसके अतिरिक्त हल्दी के और भी कई प्रयोग है जैसे :-

  1. हल्दी में पाए जाने वाले तत्व शरीर की प्रतिरोधक क्षमता (Immune System) को बढ़ाते है।
  2. गर्म दूध में हल्दी मिलाकर सेवन करने से वजन घटाने मे मदद मिलती है।
  3. हल्दी का मास्क लगाने से चेहरे को प्राकृतिक निखार मिलता है।
  4. हड्डिया मजबूत करें हल्दी वाला दूध।
  5. किसी विषैले जीव के काटने पर हल्दी का लेप लगाने से उनका जहर पुरे शरीर में नही फैलता।
  6. सेंधा नमक, सरसो का तेल और हल्दी को दांतो पर लगाने से उनका पीलापन ख़त्म हो जाता है।
  7. चंदन और हल्दी के पेस्ट को चेहरे पर लगाने से पिंपल्स ठीक होते है।
  8. शरीर और चेहरे के अनचाहे बालों को हल्दी की मदद से हटाया जा सकता है।
  9. मुँह के छाले ठीक करने के लिये भी किया जा सकता है हल्दी का प्रयोग।
  10. हल्दी का दूध लीवर और पेट को स्वस्थ रखने का काम करता है।