What In India

नीम की दातुन से दांत साफ़ करने के फायदे

0

Benefits Of Neem Datun 

नीम की दातुन से दांत साफ़ करने के फायदे, Benefits Of Neem Datun for Teeth, Neem Datun karne ke labh, Neem ki tehni se dant saaf karne ke fayde, Neem Tree

दांतों को मनुष्य का अनमोल रत्न माना जाता है। इसलिए इनकी देखभाल करना भी बेहद जरुरी है। आजकल बाजार में बहुत से ऐसे प्रोडक्ट मौजूद है जो दावा करते है की इसे यूज करने के बाद आपके दांत मजबूत और चमकीले बनेंगे। लेकिन वास्तव में देखा जाए तो ये चीजें केवल परेशानी का कारण बनती है। भले ही एक दो दिन ये आपको कोई समस्या नहीं दें लेकिन लंबे समय तक प्रयोग करने के बाद होने वाले नुकसान आपके दांतों के लिए काफी दुखदायी होते है।

ये बात तो आप सभी जानते होंगे, पुराने जमाने में कोई ब्रांडेड टूथपेस्ट और मंजन नहीं हुआ करते थे लेकिन उस समय भी लोगों के दांत बुढ़ापे तक सही सलामत रहते थे। जिसका कारण उनके द्वारा यूज की जाने वाली आयुर्वेदिक चीजें हुआ करती थी। लेकिन वर्तमान में अधिकतर लोग दांतों से संबंधित समस्यायों से परेशान दिखाई पड़ते है। जिसका सीधा अर्थ ये है की दांत साफ करने के लिए गलत चीजों का इस्तेमाल बहुत नुकसानदायक हो रहा है।

Read More : गुटके से दांत खराब हो गए है? ये अपनाएं

ऐसे में प्राकृतिक चीजों का इस्तेमाल करना आपके लिए लाभकारी हो सकता है। दातुन के बारे में तो आप सभी भली-भांति जानते होंगे। क्योंकि शहरों में न सही लेकिन गावों में आज भी बहुत से लोग है जो अपने दांतों को साफ़ करने के लिए टूथपेस्ट नहीं बल्कि दातुन का प्रयोग करते है। दातुन करने से न केवल आपके दांत साफ़ होते है बल्कि उन्हें कई बिमारियों से सुरक्षा भी मिलती है।नीम की दातुन करने के labh

दातुन करने से केवल दांत ही नहीं अपितु आपको जीभ भी अच्छी तरह साफ़ होती है और उस पर मौजूद कीटाणु भी नष्ट हो जाते है। लेकिन आजकल के ब्रांडेड टूथपेस्ट के समक्ष कोई भी व्यक्ति इसे पूछता तक नहीं। क्योंकि वे इसे केवल समय की बर्बादी और पेड़ का तना ही समझते है। जबकि वे नहीं जानते की ये पेड़ का तना भी उनके दांतों के लिए कितना लाभकारी है। यहाँ हम आपको दातुन करने के कुछ फायदों के बारे में बताने जा रहे है। जिन्हें जानकर हो सकता है आप भी इस प्राकृतिक वस्तु का इस्तेमाल करने लगें।

आयुर्वेद के अनुसार दांतों के लिए वरदान है दातुन :-

आयुर्वेद के अनुसार अर्क, न्यग्रोध, खदिर, करज्ज, नीम बाबुल आदि के पेड़ों के तने से दातुन करने के लिए कहा जाता है। इस वेद के मुताबिक, मुंह को कफ की सबसे बड़ा वजह माना जाता है। जब आप रात्रि के बाद सुबह जागते है तो आपके मुंह में कफ जमा हो जाता है जिसमे कई बैक्टीरिया और हानिकारक विषाणु भी होते है। इन विषाणुओं को समाप्त करने के लिए नियमित रूप से दातुन करने की सलाह दी जाती है।

जिसमे सबसे अधिक महत्व नीम की दातुन को दिया जाता है। क्योंकि इससे न केवल आपके दन्त स्वस्थ होते है अपितु आपकी पाचन क्रिया भी सुधरती है और आपके फेस पर एक नया ग्लो भी आता है। इसलिए आज भी बहुत से लोग नीम की दातुन का इस्तेमाल दांत साफ़ करने के लिए करते है।

टूथपेस्ट से बेस्ट होता है दातुन :-नीम की दातुन

आजकल बाजार में मिलने वाले अधिकतर टूथपेस्ट को बनाने में केमिकल का इस्तेमाल किया जाता जो दांतों को साफ करते है। लेकिन मसूड़ों तक पहुंचने के बाद ये टूथपेस्ट काफी नुकसान पहुंचता है। इसके अलावा कई बच्चे टूथपेस्ट निगल भी लेते है जो उनके स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचा सकता है।

जबकि दातुन न केवल आपको दांतों की सफाई करता है अपितु आपकी जीभ को भी बैक्टीरिया मुक्त करता है। साथ ही यह मसूड़ों से संबंधित समस्यायों को भी दूर करता है। और गलती से आप अगर इसके रस को निगल भी लें तो उसका स्वास्थ्य पर कोई बुरा प्रभाव भी नहीं होता।

नीम की दातुन करने के क्या-क्या फायदे होते है?

दांतों को साफ़ करने के लिए सबसे अधिक नीम की दातुन का ही इस्तेमाल किया जाता है। ये न केवल आपके दांतों को स्वस्थ बनाती है। बल्कि आपके स्वास्थ्य के लिए बभी अच्छी होती है। इसके फायदे कुछ इस प्रकार है –

1. दांतों का पीलापन :

नियमित रूप से नीम की दातुन करने से दांतों का पीलापन दूर किया जा सकता है। आज के समय में अधिकतर लोगों के दांतों पीले नजर आते है। ऐसे में अगर आप नीम की दातुन करते है तो आपके दांतों का पीलापन दूर हो जाएगा साथ ही वे सफ़ेद, मजबूत और चमकदार बनेंगे।

2. मुंह के छालें :

नीम में मौजूद एंटी माइक्रोबियल गुण और एंटी ओक्सिडेंट तत्व मुंह के छालों को ठीक करने में मदद करते है। ये मुंह में मौजूद सभी बैक्टीरिया को समाप्त करते समस्या को दुबारा पनपने नहीं देते।

3. फेस की कसरत :

अक्सर अपने देखा होगा की ब्रश तो आप सामान्य रूप से करते है लेकिन जब दातुन किया जाता है तो दांतों की सफाई के साथ साथ आपके फेस की भी कसरत होती है। जिससे फेस की नियमित एक्सरसाइज होती रहती है। ऐसे में आपका फेस सुन्दर और स्लिम भी बनता है।

4. दांतों का दर्द :dant me dard

नीम की दातुन से निकलने वाला रस न केवल दांतों की समस्यायों को दूर करता है अपितु आपके दांतों के दर्द को भी ठीक करता है। इसमे मौजूद एंटी बैक्टीरियल, एंटी फंगल और एंटी वायरल गुण दांतों की नसों को आराम दिलाकर दर्द ठीक करने में मदद करते है। साथ ही इससे मसूड़े भी मजबूत होते है। नीम की दातुन करने से बुढ़ापे तक दांतों को स्वस्थ रखा जा सकता है।

5. दांत में कीड़ा :

चॉकलेट आदि खाने की वजह से अक्सर छोटे बच्चों के दांतों में कीड़ा लग जाता है। जिसकी वजह से दांतों में तो दर्द होता ही है साथ-साथ खाने पीने में भी समस्याएं होने लगती है। ऐसे में यदि आप अपने बच्चे को नियमित रूप से नीम की दातुन कराते है तो उसके दांतों में कीड़ा नहीं लगेगा। और वे अच्छी तरह से साफ़ होंगे। इस दातुन से मुंह में मौजूद कीटाणु भी समाप्त हो जाएँगे।

6. सांसों की बदबू :

अक्सर खाने पीने या किसी अन्य कारण की वजह से सांसों से बदबू आने लगती है। ऐसे में यदि आप नियमित रूप से नीम का दातुन का इस्तेमाल करते है तो आपके मुंह से कभी बदबू नहीं आएगी। और आपकी सांसे फ्रेश और ताजगी भरी रहेंगी।

7. सेंसिटिविटी :

दांतों में सेंसिटिविटी होना आज के समाज की आम समस्या बनता जा रहा है। इए में अगर आप नीम की दातुन का इस्तेमाल करते है तो आपके दांतों से सेंसिटिविटी हमेशा के लिए दूर हो जाएगी और आपके दांत स्वस्थ और अच्छे रहेंगे।

तो ये थे नीम के कुछ फायदे जिन्हें जानकार आप भी इस प्राकृतिक देन का इस्तेमाल करने के बारे में जरुर सोचेंगे। एक बात और, नीम की दातुन को हमेशा ताजा तोड़कर ही प्रयोग में लाना चाहिए। स्वाद में यह काफी कडवा होता है तो छोटे बच्चों को इस्तेमाल कराते समय विशेष ध्यान रखें।

Leave a comment