Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

पटाखे से हाथ जल जाने पर तुरंत ये करें

पटाखों से जलने पर तुरंत राहत पाने के लिए क्या करें, पटाखे से जलने पर ये उपाय करें, पटाखे से जलने पर क्या करें, पटाखे चलाते समय जलने पर क्या करें उपाय, जलने पर ये करें तुरंत, पटाखों से जल जाए तो ये करें, पटाखों से जलने के बाद क्या करना चाहिए, पटाखे या दीये से जल जाए तो फ़ौरन करें उपचार, पटाखे से जलने पर क्या करें क्या न करें, दीपावली में पटाखों से जलने पर ये करें

-- Advertisement --

दिवाली बहुत ही खुश और उमंग भरा त्यौहार है जिसे सभी अपने हिसाब से एन्जॉय करते है। जहां एक तरफ परिवार वाले आसपास में मिठाइयां बांटकर अपनी खुशिया बढ़ाते है वहीं दूसरी तरफ घर के बच्चे पटाखे आदि में अपनी मस्ती ढूढ़ते है। लेकिन कई बार यही मस्ती उनके लिए परेशानी का कारण बन जाती है।

दिवाली पर पटाखे आदि फोड़ना बहुत पुरानी रीत है लेकिन रीत के साथ-साथ सेफ्टी रखना भी बहुत जरुरी है। लेकिन आजकल के जिद्दी बच्चे इन बातों का समझते नहीं और अकेले ही पटाखे फोड़ने चले जाते है जिसके परिणामस्वरूप कई बार उनके साथ कुछ ऐसी समस्याएं हो जाती है जिनसे निकलना काफी मुश्किल होता है।

वैसे तो पटाखे जलाने से हमारे पर्यावरण को काफी नुकसान पहुँचता है लेकिन बच्चों की जिद के आगे माता पिता को उनकी यह बात माननी पड़ती है। इस दिन आपको अपने बच्चों पर कड़ी निगरानी रखनी चाहिए विशेषकर तब जब वह पटाखे जला रहे हो।

पटाखों के साथ होने वाली सबसे बड़ी परेशानी हाथ जल जाने की होती है। इसीलिए आज हम आपको दिवाली पर पटाखे से जल जाने के लिए कुछ घरेलू उपचार बताने जा रहे है। जिनकी मदद से बिना किसी परेशानी से घर बैठे जलने का इलाज किया जा सकता है। इन उपायों को आप पटाखे से जलने के बाद घाव को ठीक करने के अपना सकते है।ptakhe ke ghrelu upchar

पटाखे से हाथ जल जाने पर क्या करें? 

1. कपड़ें और ज्वैलरी :

पटाखे से जलने के बाद सबसे जरुरी होता है जले हुए स्थान को खुला रखना। इसके लिए उस स्थान पर से कपडा और ज्वैलरी हटा दें। क्योंकि अगर आपने कोई अंगूठी, कंगन आदि पहना हुआ है तो ये आपके लिए हानिकारक हो सकता है।

2. पानी से धोएं :

पटाखे से जलने के बाद सबसे पहले जाली हुई जगह पर पानी डालें। ऐसा करने से जले हुए भाग में राहत मिलेगी और दर्द भी नहीं होगा। पानी से धोने पर छाले भी नहीं पड़ते।

3. ठंडी चीज रखें :

जलन में आराम देने के लिए जले हुए स्थान पर कोई ठंडी चीज रखें। आप चाहे तो जले हुए हिस्से तो सीधे नल के नीचे रखकर पानी चला दें। इसके अलावा आप बर्फ, मक्खन या ठंडे पानी में भिगोएं कपडे का भी इस्तेमाल कर सकते है।

4. दवा :

अगर आपके पास कोई स्किन ओइंमेंट है तो जले हुए हिस्से को ठंडा होने के बाद उस पर ओइंमेंट को लगाएं और किसी साफ़ कपड़ें या बैंडेज से ढक दें।

5. आँखों पर दें ध्यान :

अगर समस्या आखों के आसपास के हिस्से में है तो सबसे पहले ठंडे और साफ़ पानी से अपनी ऑंखें साफ़ करें और जितनी शीघ्र हो सके डॉक्टर के पास जाए। अगर आप कांटेक्ट लेंस पहनते है तो सबसे पहले उन्हें निकालें और फिर आँखें धोएं।

6. कपड़ों में लगी आग :

अगर पटाखे के कारण आपके कपड़ों में आग लग जाए तो तुरंत जमीन पर लेट कर गोल गुलाटियां लेने लगें इससे आग बुझ जाएगी। उसके बाद किसी जैकेट या कम्बल से खुद को अच्छी तरह कवर कर लें और तुरंत डॉक्टर से मिलें।

पटाखें से जल जाने पर इन घरेलू उपायों को आजमाएं :-ptakhe se jalne ke ghrelu upchar

1. टूथपेस्ट :

जलने के बाद प्रभावित हिस्से को धोकर उसपर टूथपेस्ट या फाउंटेन पैन की इंक लगानी चाहिए। ऐसा करने से जलने पर होने वाले दर्द में राहत मिलेगी और छाले भी नहीं होंगे।

2. तिल का लेप :

इसके लिए तिल को पीसकर उसका लेप बनाये। इस लेप को त्वचा के प्रभावित हिस्से पर लगाएं। ये उपाय जलन के साथ साथ दर्द कम करने में भी मदद करता है।

3. शहद :

शहद त्वचा को ठंडक देने में मदद करता है। प्रयोग के लिए शहद को घाव पर रख दें रगड़े नहीं। ऐसा करने से घाव जल्दी भर जाएगा। पटाखों से जलने पर ये उपाय काफी लाभदायक होता है।

4. हल्दी :

हल्दी बहुत एंटी सेप्टिक होती है। प्रयोग के लये हल्दी के पेस्ट को चोट वाले हिस्से पर लगाएं। घाव जल्द भर जाएगा।

5. सेब का सिरका :

सिरके में थोड़ा सा पानी मिलाकर उसे किसी छोटे कपड़ें में भिगो कर जलने वाले स्थान पर लगाएं। ऐसा करने से जलन में काफी राहत मिलेगा।

6. गाय का घी :

प्रयोग के लिए सरसों के तेल, नीम की छाल और पानी को मिलाएं। अब इसमें गाय का घी मिलाएं। इस पेस्ट को जलने वाले स्थान पर लगाएं घाव जल्द भरेगा।

7. एलोवेरा :

एलोवेरा जेल लगाने से भी जलने की पीड़ा को समाप्त किया जा सकता है। इसके लिए एलोवेरा जेल को फ्रिज में रखकर उसे ठंडा कर ले और प्रयोग में लाये या यूँ ही पत्ती तोड़कर जेल लगा लें। यह छाले नहीं पड़ने देगा।

8. तुलसी के पत्ते :

तुलसी के पत्तों को पीसकर उसका रस निकालकर भी आप प्रयोग में ला सकते है। यह एक बेहतर एंटीसेप्टिक के रूप में कार्य करता है। इसके प्रयोग से त्वचा पर दाग भी नहीं पड़ता और संक्रमण होने का खतरा भी नहीं रहता।

Leave a comment