Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

प्रेगनेंसी के दौरान संबंध बनाने के फायदे और नुकसान

0

प्रेगनेंसी में संबंध बनाने के फायदे और नुकसान, क्या प्रेगनेंसी में संबंध बनाना चाहिए, effects of Physical relation during Pregnancy

गर्भावस्था हर लड़की और महिला के लिए महत्वपूर्ण समय होता है। इस समय में महिलाओं के शरीर में बहुत से हार्मोनल बदलाव होते है। हर महिला के लिए यह समय बहुत ही अनमोल और क्रूशियल होता है। क्योंकि इस समय में गर्भवती महिला को अपनी बहुत से आदतें बदलनी पड़ती है।

आज हम बात करेंगे प्रेगनेंसी के दौरान संबंध बनाने के बारे में। बहुत से लोगों को गर्भावस्था में संबंध बनाने और ना बनाने करने से जुड़े भ्रम है। डॉक्टरों के अनुसार प्रेगनेंसी में संबंध बनाने में कोई परेशानी नहीं होती। पर हर महिला की प्रेगनेंसी अलग होती इसीलिए हर किसी को इसका अलग अलग प्रभाव देखने को मिलता है।

प्रेगनेंसी के दौरान संबंध बनाने के कई फायदे और कई नुक्सान भी होते है।

यहां हम आपको प्रेग्नेन्सी के दौरान संबंध बनाने के फायदे और नुक्सान दोनों के बारे में बताएंगे।

गर्भावस्था के दौरान संबंध बनाने के फायदे

यह पढ़ने में आपको थोड़ी हैरानी होगी की गर्भावस्था में संबंध बनाने से बहुत से फायदे होते है। आईये जानते है गर्भावस्था में क्या है संबंध बनाने के फायदे।

रक्त संचार:

  • प्रेगनेंसी में संबंध बनाने से बेहतर रक्त संचरण होता है।
  • रक्त संचार का अच्छा होना माँ और शिशु दोनों के लिए ही फायदेमंद होता है।

पेल्विक मसल्स:

  • गर्भावस्था के दौरान संबंध बनाने से महिला के पेल्विक मसल्स मजबूत होती है।
  • जब गर्भावस्था के आखिरी तीन महीनों में सम्बन्ध बनाये जाये तो इससे पेल्विक मसल्स को बहुत फायदा मिलता है।
  • पेल्विक मसल्स स्ट्रांग होने से नार्मल डिलीवरी के दौरान कम परेशानियां होती है।

इम्युनिटी:

  • इम्युनिटी यानी रोग प्रतिरोधक क्षमता।
  • आपको यह जानकर हैरानी होगी की प्रेगनेंसी में संबंध बनाने से महिला की इम्युनिटी बेहतर होती है।
  • गर्भावस्था के दौरान हार्मोनल बदलावों के कारण महिला की रोग प्रतिरोधक क्षमता पहले से कमजोर हो जाती है।
  • ऐसे में संबंध बनाने से गर्भवती महिला की इम्युनिटी पहले से बेहतर हो जाती है।

तनाव:

  • प्रेगनेंसी के दौरान संबंध बनाने से तनाव में कमी आती है।
  • संबंध बनाने के बाद महिला में एंडोर्फिन हार्मोन्स का जन्म होता है।
  • जिससे स्ट्रेस लेवल कम होता है।

नींद:

  • गर्भवती महिला को संबंध बनाने के बाद नींद अच्छी आती है।
  • अच्छी नींद माँ और शिशु के लिए दोनों ही फयदेमंद होती है।

जैसा की हम पहले भी बता चुके है के हर महिला की गर्भावस्था अलग होती है जरुरी नहीं की गर्भावस्था के दौरान सम्बन्ध बनाने से हर महिला को लाभ भी कुछ महिलाओं को इसके नुक्सान भी हो सकते है।

प्रेगनेंसी में संबंध बनाने से होने वाले नुकसान

आइये जानते है के गर्भवती महिला को संबंध बनाने से क्या क्या नुकसान हो सकते है।

ब्लीडिंग:

  • कुछ गर्भवती महिलाओं को संबंध बनाने के बाद स्पोर्टिंग या ब्लीडिंग की शिकायत हो जाती है।
  • हल्की से स्पोर्टिंग से कोई परेशानी नहीं होती।
  • यदि ब्लीडिंग ज्यादा है तो बिना देर किये अपने डाक्टर से मिले।

गर्भपात:

  • गर्भावस्था के दौरान संबंध बनाने से कुछ महिलाओं को एबॉर्शन का खतरा बढ़ जाता है।
  • ऐसा तभी होता है जब किसी महिला की गर्भपात की मेडिकल हिस्ट्री हो।
  • किसी गर्भवती महिला का पहले भी कोई गर्भपात हो चूका हो।

वैजाइनल इन्फेक्शन:

  • अगर किसी महिला को पहले भी वैजाइनल इन्फेक्शन हो चूका है।
  • तब गर्भावस्था के दौरान संबंध बनाने से बचना चाहिए।
  • ऐसे में मेडिकल हिस्ट्री के कारण दोबारा भी इन्फेक्शन हो सकता है।
  • इस इन्फेक्शन का खतरा पुरुष के इन्फेक्टेड होने से भी होता है।

दर्द:

  • प्रेगनेंसी में बहुत से हार्मोनल बदलाव होते है।
  • कई बार इन बदलावों से गर्भवती महिला के शरीर में दर्द भी रहता है।
  • इस दौरान अगर संबंध बनाने जाए तो वह शारीरक दर्द बढ़ भी सकता है।

शुरूआती तीन महीने:

  • गर्भावस्था के शुरूआती तीन महीने बहुत ही महत्वपूर्ण होते है।
  • इन दिनों में महिलाओं को थकान, उलटी, चिड़चिड़ापन का सामना करना पड़ता है।
  • इसी कारण महिलाओं का मन संबंध बनाने का नहीं होता।
  • इसीलिए शुरुआत के तीन महीनों में संबंध बनाने से बचना चाहिए।

एक नार्मल गर्भावस्था में संबंध बनाने पूरी तरह से सुरक्षित है। परन्तु यदि आपको कभी भी किसी भी समस्या का सामना करना पड़े तो तुरंत अपने डॉक्टर से मिले या फिर प्रेगनेंसी के शुरुआत में ही अपने डॉक्टर से सलाह जरूर ले लीजिये।

आशा है इस लेख से आपके बहुत सारे सवालों का हल मिला होगा।

Leave a comment