प्रेगनेंसी में रोने से क्या होता है?

0

गर्भावस्था में रोना, प्रेगनेंसी में तनाव, प्रेगनेंसी में रोने से क्या होता है, गर्भावस्था में तनाव लेने से बच्चे को क्या नुकसान होता है, प्रेगनेंसी में मूड स्विंग्स, गर्भावस्था में मन दुखी होना, प्रेगनेंसी में दुखी होने के नुकसान 

गर्भावस्था के दौरान, डॉक्टर्स और घर के सभी बड़े महिला को खुश रहने की सलाह देते हैं। क्योंकि माना जाता हैं की गर्भावस्था के दौरान माँ के शरीर में बहुत से चेंजेस आते हैं जिसके कारण उनका मूड बदलता रहता है कभी अच्छा होता है तो कभी खराब, कभी वे खुश हो जाती हैं तो कभी दुखी। बहुत बार महिलाएं प्रेग्नेंसी के दौरान, बिना कारण के रोने लगती हैं।

जबकि प्रेग्नेंसी के दौरान गर्भवती महिलाओं को खुश रहने को कहा जाता है। जिससे आपकी आपके गर्भ में पल रहे बच्चे की सेहत अच्छी रहे। गर्भावस्था में रोना जितना आपके लिए नुकसानदेह होता है, उतना ही आपके बच्चे के लिए भी होता है!

प्रेगनेंसी में रोने से क्या होता है?प्रेगनेंसी में रोने से नुकसान

गर्भावस्था के दौरान, बच्चे का माँ के साथ केवल शारीरिक जुड़ाव ही नहीं बल्कि भावात्मक जुड़ाव भी होता है। इसलिए इस दौरान माँ जिस भी भावना या इमोशन को महसूस करती है उस समय वो इमोशन बच्चा भी महसूस करता है। और जब माँ दुखी होती है या रोती है तो उसका प्रभाव बच्चे पर भी पड़ता है।

रिसर्च में पाया गया है, जो माँ प्रेग्नेंसी के दौरान तनाव लेती है या रोती हैं उनके बच्चे अक्सर जन्म के बाद बहुत ज्यादा रोते हैं। केवल ज्यादा ही नहीं वे बच्चे अपनी उम्र के बाकी बच्चों की बहुत ज्यादा रोते हैं।

प्रेगनेंसी में कई बार मूड स्विंग्स भी होते है जिसके कारण मन अच्छा नहीं लगता लेकिन अगर आप अक्सर दुखी और तनाव में रहती हैं तो हो सकता है आपका बच्चा जन्म के बाद बहुत ज्यादा रोए।

मूड स्विंग्स होने पर क्या करें?Happy Mother and Baby

अगर आप कुछ समय से खुद को परेशान महसूस कर रही हैं और आपको रोना आ रहा है तो इसके लिए आप दूसरे तरीके अपनाकर अपना मूड ठीक कर सकती हैं। इस तरह से इमोशंस से बचने के लिए आप अपना ध्यान उन चीजों में लगाएं जिनसे आपको ख़ुशी मिलती है।

 मूड को अच्छा करने के उपाय

अगर आप घर में अकेली हैं और सोच-सोचकर आपको रोना आ रहा है तो आप किसी फैमिली फ्रेंड या रिश्तेदारों से फोन पर बात कर सकती हैं। इसके अलावा आप कहीं बाहर घूमने भी जा सकती हैं, आप घर में फिल्म भी देख सकती हैं। आप चाहे तो किताबे पढ़कर भी अपना मन अच्छा कर सकती हैं। ये सभी काम आपको पॉजिटिव ऊर्जा देने में मदद करेंगे और आपके मूड को खुशनुमा बनाएंगी।

हेल्थी बेबी के लिए मुस्कुराते रहें

मुस्कुराना और खुश रहना अच्छी सेहत का राज कहा जाता है। इसलिए डॉक्टर भी, सिर्फ प्रेगनेंसी में ही नहीं बल्कि सामान्यतः भी खुश रहने की सलाह देते हैं। हेल्थी और मुस्कुराते बच्चे के लिए आप भी प्रेगनेंसी में जितना हो सके खुश रहें और मुस्कुराते रहें। आपके होने वाले बच्चे के लिए हमारी ओर से शुभकामनाएं।

Video : प्रेगनेंसी में रोनें और उदास रहने से शिशु पर क्या असर पड़ता है

[Total: 1    Average: 5/5]