Ultimate magazine theme for WordPress.

गर्भधारण का प्रयास कैसे करें?

0

शादी के बाद हर कोई चाहता है की उनकी फैमिली आगे बड़े और वो दो से तीन हो जाएँ। और इसके लिए कपल गर्भधारण का प्रयास करने लगता है। प्रेगनेंसी के लिए सबसे जरुरी होता है की पति पत्नी दोनों इसके लिए तैयार हो। इसके अलावा प्रेगनेंसी के लिए महिला व् पुरुष का स्वस्थ होना भी जरुरी होता है, क्योंकि कई बार महिला या पुरुष की गलत आदतों, गलत जीवनशैली, खराब दिनचर्या, शारीरिक समस्या, उम्र सही न होने के कारण, मासिक धर्म चक्र से जुडी समस्या, आदि के कारण महिला का गर्भ ठहरने में मुश्किल हो सकती है। साथ ही ऐसा भी नहीं है की महिला और पुरुष यदि एक बार करीब आ जाते हैं तो इससे महिला का गर्भ ठहर जाता है। प्रेगनेंसी का मतलब ही पुरुष और महिला दोनों के बराबर सहयोग से से जुड़ा होता है। इसीलिए जब कपल चाहता है की उनकी फैमिली आगे बढे तो इसके लिए कुछ बातों का ध्यान रखना बहुत जरुरी होता है।

प्रेग्नेंट होने के लिए टिप्स

गर्भवती होने के लिए एक नहीं बल्कि बहुत सी बातों का ध्यान रखना जरुरी होता है, और इसका ख्याल केवल महिला को ही नहीं बल्कि पुरुष को भी रखना जरुरी होता है। तो आइये अब विस्तार से जानते हैं की महिला के गर्भ को ठहरने के लिए किन किन बातों का ध्यान रखना सबसे ज्यादा जरुरी होता है।

मासिक चक्र

मासिक धर्म में अनियमितता के कारण महिला का गर्भ ठहरने के समस्या हो सकती है, ऐसे में यदि महिला को मासिक धर्म से जुडी कोई समस्या होती है तो सबसे पहले महिला को उसका उपचार ढूँढना चाहिए या उसके लिए डॉक्टर से राय लेनी चाहिए। ताकि महिला की मासिक धर्म से जुडी समस्या का उपचार हो और महिला का गर्भ ठहरने में किसी भी तरह की कोई समस्या न हो।

खान पान

माँ बनने के लिए महिला को शारीरिक रूप से स्वस्थ होना चाहिए और महिला के शरीर में पोषक तत्व भरपूर मात्रा में होने चाहिए। क्योंकि यदि महिला स्वस्थ होती है तो इससे गर्भधारण में आसानी होती है, ऐसे में बॉडी में पोषक तत्वों की मात्रा को भरपूर रखने के लिए महिला को अपने खान पान का अच्छे से ध्यान रखना चाहिए। भरपूर मात्रा में न्यूट्रिएंट्स का सेवन करना चाहिए। खासकर प्रेगनेंसी से तीन महीने पहले से ही महिला को फोलिक एसिड लेना शुरू कर देना चाहिए।

शादी के बाद तुरंत कंसीव होने पर गर्भ न गिराएं

यदि आपकी अभी -अभी शादी हुई है और आपने कंसीव कर लिया है तो आपको उस शिशु को जन्म देना चाहिए। बहुत सी महिलाएं शादी के बाद तुरंत कंसीव करने पर शिशु को अबो्र्ट करने का सोच सकती है, लेकिन आपको यह जानकार हैरानी होगी की यदि आप ऐसा करती है तो इसके कारण आपको बाद में गर्भधारण से जुडी बहुत सी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। ऐसे में महिला को गर्भ को गिराने से बचना चाहिए।

गर्भनिरोधक गोलियों के सेवन से बचें

यदि आप माँ बनने का प्रयास कर रही है तो आपको गर्भनिरोधक गोलियों के सेवन से परहेज करना चाहिए, क्योंकि इसके सेवन से महिला का गर्भ नहीं ठहरता है। साथ ही इसके कारण महिला के मासिक धर्म चक्र पर भी असर पड़ता है, ऐसे में गर्भनिरोधक गोलियों के सेवन को छोड़ने के बाद मासिक धर्म चक्र को नियमित करने का प्रयास करना चाहिए इससे महिला का गर्भ ठहरने में आसानी होती है।

सही उम्र का ध्यान रखें

माँ बनने के लिए और गर्भधारण के लिए आने वाली मुश्किलों से बचने के लिए सही उम्र में गर्भधारण करना बहुत जरुरी होता है। क्योंकि उम्र यदि बहुत कम हो या बहुत ज्यादा हो जाये तो गर्भधारण में महिला को परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। और गर्भधारण के लिए बीस से अठाइस वर्ष की उम्र सबसे सही होती है, उम्र सही होने के साथ महिला का शारीरिक रूप से स्वस्थ होना भी बहुत जरुरी होता है।

ओवुलेशन पीरियड की जानकारी लें

मासिक धर्म के पहले दिन से गिने, और उसके बाद ग्यारह से अठारह दिनों के बीच में का जो समय होता है वो ओवुलेशन पीरियड होता है। और इस दौरान गर्भधारण के चांस सबसे अधिक होते हैं ऐसे में आप यदि इन दिनों में सम्बन्ध बनाते हैं तो इससे महिला का गर्भ ठहरने के चांस बढ़ जाते हैं। यदि आपको अपने ओवुलेशन के बारे में समझ न आये तो इसके लिए आप एक बार डॉक्टर से भी राय ले सकती है।

सम्बन्ध

माँ बनने के लिए सबसे जरुरी होता है की महिला और पुरुष के बीच बेहतर सम्बन्ध हो, ऐसे में यदि आप गर्भधारण का प्रयास कर रही है तो नियमित रूप से सम्बन्ध बनाएं। क्योंकि बेहतर सम्बन्ध बनाने से भी प्रेगनेंसी के चांस को बढ़ाने में मदद मिलती है।

लुब्रिकेंट्स को कहे न

कई कपल सम्बन्ध बनाते समय लुब्रिकेंट्स का इस्तेमाल करते हैं जिससे पुरुष के शुक्राणु अंडे तक नहीं पहुँच पाते हैं और महिला के गर्भधारण में समस्या आ सकती है। ऐसे में जल्दी गर्भधारण के लिए कपल को सम्बन्ध बनाते समय लुब्रिकेंट्स के इस्तेमाल से बचना चाहिए।

वजन

प्रेगनेंसी के लिए सही वजन का होना भी बहुत जरुरी होता हैं यदि महिला का वजन जरुरत से ज्यादा या फिर कम होता है तो इसके कारण महिला का गर्भ ठहरने में समस्या हो सकती है। ऐसे में जल्दी प्रेगनेंसी के लिए महिला को अपने वजन को नियंत्रित रखना चाहिए, यानि यदि महिला का वजन अधिक है तो उसे कम करना चाहिए और यदि महिला का वजन कम है तो उसे सामान्य करना चाहिए।

नशे से दूरी

नशा शरीर को अंदर से थोड़ा- थोड़ा करके पूरी तरह से ख़राब कर देता है, ऐसे में यदि महिला गर्भधारण करना चाहती है। तो इसके लिए महिला को किसी भी तरह के नशे से दूरी रखनी चाहिए, और साथ ही पुरुष को भी नशे के सेवन से बचना चाहिए। क्योंकि नशे का सेवन करने से पुरुष के शुक्राणु की गुणवत्ता और संख्या में कमी आ सकती है जिसके कारण महिला का गर्भ नहीं ठहर पाता है। इसीलिए जल्दी गर्भधारण के लिए महिला और पुरुष दोनों को नशे के सेवन से परहेज करना चाहिए।

तनाव नहीं

यदि आप गर्भधारण करना चाहती है तो आपको बिल्कुल भी तनाव नहीं लेना चाहिए, क्योंकि गर्भधारण न होने का एक कारण तनाव भी हो सकता है। इसीलिए यदि आप माँ बनना चाहती है तो तनाव न लें, और जितना हो सके खुश रहें। और दिमाग को शांत रखने के लिए मैडिटेशन व् योगासन करें, इससे आपको मानसिक रूप से रिलैक्स रहने में मदद मिलती है।

डॉक्टर से ले राय और करवाएं जांच

यदि बहुत कोशिश करने के बाद भी आप गर्भधारण नहीं कर पा रही है तो आपको एक बार डॉक्टर से मिलना चाहिए। और डॉक्टर्स द्वारा बताई गई सभी जरुरी जांच भी करवानी चाहिए, क्योंकि कई बार किसी शारीरिक समस्या जैसे की थायरॉइड के चलते महिला को गर्भ न ठहरने की समस्या हो सकती है। ऐसे में डॉक्टर से इसका अच्छे से इलाज करवाने के बाद आपको गर्भधारण में आ रही समस्याओं को दूर करने में मदद मिलती है। और सभी जांच केवल महिला को ही नहीं बल्कि पुरुष को भी करवानी चाहिए क्योंकि कई बार पुरुष में होने वाली कमी के कारण भी महिला का गर्भ ठहरने में समस्या हो सकती है।

गर्भपात होने पर थोड़ा ध्यान रखें

यदि आपने गर्भधारण किया था लेकिन किसी कारण आपका गर्भपात हो गया है, तो गर्भपात होने के तुरंत बाद प्रेगनेंसी के लिए न सोचें। क्योंकि इससे दोबारा गर्भपात का खतरा हो सकता है, ऐसे में शारीरिक रूप से फिट होने के बाद ही गर्भधारण के लिए प्रयास करें।

तो यह हैं कुछ खास टिप्स जिनकी मदद से महिला को आसानी से गर्भधारण करने में मदद मिलती है। लेकिन ऐसा जरुरी नहीं है की महिला का गर्भधारण एक ही महीने में हो जाये इसमें थोड़ा समय लग सकता है, ऐसे में आपको अपनी जीवनशैली और दिनचर्या को बेहतर रखे जिससे आपको स्वस्थ रहने में मदद मिल सके और जितना आप स्वस्थ रहती है उतना ही ज्यादा आपको जल्दी गर्भधारण में मदद मिलती है।