Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

घमौरियों के होने के कारण और घरेलु उपाय

0

ये सोचना तो बहुत ही अच्छा लगता है की जब गर्मी होंगी तब हल्के कपडे पहनना, ठंडा पानी, ए सी की ठंडी हवा, आइस क्रीम खाना,सब कितना अच्छा लगता है। लेकिन हर मौसम के अपने ही फायदे और नुकसान होते है दोस्तों। गर्मिओं में जब ठंडक से रहत मिलती है वही अगर थोड़ी सी गर्मी का एहसास भी परेशानी बन जाता है।

गर्मिओं में बहुत सी छोटी-मोटी बिमारिओं का भी सामना करना पड़ता है कभी फुंसी का होना, कभी सर्दगरम जैसी बीमारी। पर जो सबसे ज्यादा और जल्दी होने वाली परेशानी होती है वह है घमोरी और उसके साथ निकलने वाले छोटे छोटे लाल दाने।

गर्मी आने वाली है और ये सुनते ही जो बात सबसे पहले ध्यान आती है वो है घमौरी।

ये बात एक दम ठीक है की गर्मी में से सब अच्छा लगता है तो कुछ परेशानियाँ भी उठानी पड़ती है और अगर वह परेशानी जी का जंजाल बन जाये फिर क्या करे।  हम बात कर रहे एक छोटी सी परेशानी जिसे घमोरी बोलते है उसकी। अब आप कहेंगे की चाहे नाम छोटा है पर जब ये परेशानी होती है तब तकलीफ भी बहुत देती है

न तो ठीक से उठ सकते है और न बैठ सकते है। न सोया जाता है और न ही कोई आराम से चैन की सांस ले सकता है। घमोरियों से होने वाले दाने बहुत तकलीफ देह हो जाते है।  तरह तरह के उपाय भी हम केर लेते है।  कई बार डॉक्टर से भी संपर्क जेर लेते है पर फिर भी आराम नहीं मिलता।  तो ऐसी में क्या कुछ घरेलु उपाय है जिन्हे करके हम इस समस्या का को समाधान केर सकते है। जी हां।

लेकिन हर परेशानी का हल होता है। और घमोरी जैसी परेशानी को बढ़ने देने से पहले ही यदि हम उसका कारण और निवारण जान ले तो सबके लिए अच्छा होगा।

घमोरियां होने का मुख्य कारण है की जब पसीना आता है और वह ठीक से नहीं सूख पाता तब नमी के कारण घमोरियां हो जाती है। या फिर छोटे छोटे लाल दाने। कई बार इन दानों में पानी भी भर जाता है और कई बार मवाद भी बन जाती है। जो बहुत ज्यादा परेशानी बन जाती है।

घमौरी के क्या कारण होते है?  

गर्मी के कारण

अक्सर घमौरी जब होतीं है जब शारीरक तापमान सामान्य से अधिक हो जाता है।

शारीरिक श्रम

ऐसा कोई भी काम जिसे करने से आपको पसीना अधिक मात्रा में आता हो किन्तु वह निकल नहीं पाता तब भी घमौरी हो जातीं है।

मौसम पर निर्भर

ये तो आप जानते ही है की मौसम यदि अधिक गर्म रहेगा तो भी घमौरियाँ होना आम बात है। लेकिन जब मौसम में नमी रहती है तब भी घमोरिया हो जाती है। जैसा की बरसातों के दिनों में अक्सर होता है।

अधिक समय तक एक अवस्था में रहना

कई बार ऐसा भी अवस्था बन जाती है की कही पर घंटो  लगातार एक ही अवस्था में बैठना, उठना, या फिर लेटे रहना पड़ता है ऐसे में भी घमौरिया हो जाती है।

अब जानते है क्या है इनके घरेलु नुस्खे

घमोरिओं को दूर करने के घरेलु उपाय

कपड़ो का चयन

गर्मी के दिनों में हमेशा खुल्ले, और ढीले ढाले कपडे पहनने चाहिए। जिससे त्वचा को सांस मिल सके।  टाइट कपडे पहनने से बचे। कॉटन के कपडे इस समय में अच्छे रहते है।

पर्यावरण का तापमान

इसके लिए आप अपने घरों के आस पास पेड पौधे लगवाए। इससे पर्यावरण का तापमान ठीक रहेगा जिससे आपका और आपके आस पास का तापमान भी सही रहेगा। साथ ही आप ये भी जानते है की पेड हमे जीवन दान देते हैं।

शारीरक श्रम पर ध्यान दें

ऐसा कोई भी कार्य जो भी केर्न्स से आपलो अधिक पसीना आये उस पर थोड़ा ध्यान देना होगा।  जैसे की जब आप कोई काम करें और पसीना आये तो कुछ देर के लिए आप रुककर पसीना सूखा लें।  ऐसे भी घमोरियां जल्दी नहीं होंगी।

पानी अधिक पीएं

जितना हो सके गर्मिओं में अधिक से अधिक पानी पीएं। जब शरीर का तापमान ठीक रहेगा तो घमोरी होने का  तो कोई सवाल ही नहीं बनता।  तो इसलिए आप पानी जरूर पीएं।

नारियल पानी

नारियल पानी के बारे में तो क्या क्या जाये।  किसे फायदे इतने है की अगर सामान्य दिनों में भी इसका सेवन किया जाये तो बहुत फायदेमंद होता है। इसकी तासीर ठंडी होती है तो इसका सेवन करने से शरीर को ठंडक मिलती है।

लोशन और पाउडर

घमौरियों  के लिए बाजार में कई प्रकार के लोशन और पाउडर मिल जाते है।  ये भी घमोरिओं के लिए लाभदायक होते है। उन्हें लगाने से भी त्वचा को ठंडक मिलती है और घमोरियां ख़तम हो जाती है।

डॉक्टरी सलाह और जाँच

कई बार घमोरियां इतनी जायदा हो जातीं है की सही नहीं जाती और साथ ही साथ छोटे छोटे लाल दाने भी हो जाते है।  जो बहुत तकलीफ देतें है।  ऐसे में डॉक्टर से जरूर संपर्क करें। क्यूंकि ये फिर समस्या छोटी नहीं रह जाती और इसके लिए डॉक्टर से जरुरु मिलें।

मुल्तानी  मिटटी

मुल्तानी  मिटटी को पीस कर लेप  बना लीजिए  और घमौरियाँ जहा जहा भी हो उसका लेप लगा लें।  ये देसी तरीका बहुत ही फयदेमन्द होता है।

नीम सभी रोगो की दवा

नीम के फायदे इतने है की नीम के पेड की कोई भी चीज़ बेकार नहीं होती।  चाहे वो नीम की छाल  हो, चाहे वो नीम की पत्त्तियाँ। फिर चाहे निबोरी हो। तो जब भी घमोरी जैसी कोई समस्या हो तब आप नीम की पत्तिओं को उबालकर उसके पानी से नहा लें। ये आपको बहुत राहत देगा।

ये थे कुछ उपाय और घरेलु नुस्खे आपके लिए जिनकी मदद से आप घमोरियों से आसानी से निजात पा सकते है। बाकी कुछ सावधानी और केयर करने से भी आप को इस समस्या से रहत मिल जाएगी। और बाकी आप इन दानो को खुजाए नहीं, गंदे हाथों से इन्हे न छुए, हमेशा सही तापमान में रहने की कोशिश करें।  लोशन और साबुन या पॉउडर का इस्तेमाल करे। अपने शरीर की सफाई रखे।

 

Leave a comment