मुँह की दुर्गन्ध से परेशान है तो आजमाए यह उपाय

मुँह की दुर्गन्ध तभी आती है जब बैक्टीरिया ज्यादा बढ़ जाते है। जब आप कुछ खाते है तो आपके दांतो के बीच फंस जाता है। यही फंसा हुआ भोजन बैक्टीरिया रिलीज़ करता है जिस कारण मुँह से स्मेल आने लगती है। कई बार कुछ बिमारियों के कारण भी मुँह से स्मेल आने लगती है। इसके अतिरिक्त जो लोगो दवाइयों का नियमित सेवन करते है उनसे भी बदबू आने लगती है। 

साँसों से दुर्गन्ध आने का कोई भी कारण हो पर इनके कारण हमे कई बार सबके सामने शर्मिंदा होना पड़ जाता है और यह हमारी अच्छे खासे कॉन्फिडेंस को भी गिरा देता है। कुछ लोग मुँह की दुर्गन्ध से छुटकारा पाने के लिए डेंटिस्ट के पास भी जाते है। जो हमारे टीथ को क्लीन करके उनकी दुर्गन्ध दूर करते है पर यह प्रक्रिया महंगी भी होती है और साथ कुछ समय के लिए ही असरदार होती है। बार बार डेंटिस्ट के पास जाना हमारी जेब भी खाली करवा सकता है और ऊपर से केमिकल्स का साइड इफ़ेक्ट अलग। इससे बेहतर है के मुँह की दुर्गन्ध दूर करने के लिए हम कुछ घरेलु और प्राकृतिक उपाय अपनाये। जिन्हे अपनाने से हमे कोई नुकसान भी नहीं होगा और साथ ही अपनी सुविधानुसार हम इन्हे किसी भी तरह प्रयोग में ला सकते है। आइये जानते है मुँह की दुर्गन्ध दूर करने के लिए क्या करना चाहिए। 

पानी 

क्या आप जानते के दिन बहुत बार हम पानी पीने नजरअंदाज कर देते है यहां तक के तब भी जब हमे प्यास लगी होती है। ज्यादातर लोग यही गलती करते है जिससे मुँह सूखता रहता है और इसके आलावा हमे पेट संबंधित परेशानिया भी हो जाती है। इस कारण भी हमारे मुँह से दुर्गन्ध आने लगती है। इसीलिए रोजाना कम से कम 8 से 10 ग्लास पाने के पिए। इससे आपकी बॉडी हाइड्रेट रहेगी और मुँह की दुर्गन्ध भी दूर होगी। इसके अतिरिक्त अच्छी मात्रा में पानी पीने से पेट संबंधित समस्याए भी नहीं होगी।

दालचीनी का तेल

दालचीनी तेल में बहुत से पावरफुल एंटीबैक्टीरियल गुण है। यह VCS हाइड्रोजन सल्फाइड के लेवल भी कम करता है। रिसर्च के अनुसार यह भी पता चलता है के दालचीनी से मसूड़ों को नुक्सान नहीं पहुंचता है। दालचीनी के तेल को अपनी टूथपेस्ट में मिलकर पेस्ट करने से मुँह की दुर्गन्ध दूर करने में बहुत सहायता मिलती है। 

ग्रीन टी 

यह एंटी ऑक्सीडेंट तत्वों का एक बहुत अच्छा स्रोत है। इसमें मौजूद एंटी बैक्टीरिया के गुण मुँह में जमे सभी बैक्टीरिया को खत्म करके मुँह की स्मेल को खत्म करते है। ग्रीन टी को आप अपने हिसाब से इस्तेमाल कर सकते है। इसे पीने से पेट की समस्याओं से भी निजात मिलती है। 

अनानास का रस 

बहुत से लोगों का मानना है के मुँह की दुर्गन्ध दूर करने के लिए अनानास का रस बहुत ही फायदेमंद है। इसका फायदा लेने के लिए हर बार खाना खाने के बाद अनानास का जूस का सेवन करे। चाहे तो जूस के जगह पर अनानास के टुकड़े कुछ देर मुँह में रख कर चबा लें। 

दही 

दही में अच्छे बैक्टीरिया मौजूद होते है जिन्हे हम लैक्टोबैसिलस के नाम से जानते है। इसके अच्छे बैक्टीरिया हमारे बॉडी के किसी भी पार्ट में मौजूद खराब बैक्टीरिया को खत्म करते है। एक रिसर्च में यह बात साबित हुई है के दहीं के सेवन से मुँह की दुर्गन्ध से छुटकारा मिलता है। दही में मौजूद प्रोबिओटिक साँस की बदबू को कम करने में बहुत कारागार होते है। मुँह की बदबू से छुटकारा पाने के लिए दिन कम से कम एक बार दही का सेवन जरूर करें। 

सोंफ 

सदियों से सोंफ को माउथ फ्रेशनर के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। आपने भी देखा होगा के कुछ घरों और होटलों में खाने के बाद सोंफ और मिश्री सर्व की जाती है। सोंफ को आप सादा, या मिठे के साथ हर बार खाना खाने के बाद इस्तेमाल कर सकते है।

बेकिंग सोडा

अध्ययन के अनुसार यह पता चलता है के बेकिंग सोडा को सोडियम बाईकार्बोनेट के नाम से भी जाना जाता है यह हमारे मुँह के बैक्टीरिया को खत्म करने के काम आता है। रिसर्च में अनुसार यह भी बात सामने आयी है के ज्यादातर टूथपेस्ट में बेकिंग सोडा मिला होता है। कितना अच्छा हो अगर मुँह की सफाई के लिए हम घर पर ही बेकिंग सोडा से माउथ-वाश तैयार कर लें। एक कप गर्म पानी में दो चम्मच बेकिंग सोडा बनाये और कम से कम 30 सेकंड तक इस घोल को मुँह में रख कर गार्गल करें। ऐसा करने से आपके मुँह की दुर्गन्ध खत्म हो जायेगी।

सेब का सिरका

सिरका एक प्राकृतिक एसिड का रूप होता है। मुँह के बैक्टीरिया कभी भी एसिडिक वातावरण में नहीं पनप पाते। इसीलिए मुँह के बैक्टीरिया को कम करने के लिए सेब के सिरके से कुल्ला करें। दो चम्मच सेब का सिरके को एक ग्लास पानी में मिलाये। और इस घोल को माउथ-वाश की तरह इस्तेमाल करें। सेब के सिरके की जगह पर सफ़ेद सिरका भी इस्तेमाल कर सकते है।

पुदीना 

पुदीना यानि मिंट इसकी खुशबु से ही एकदम फ्रेश स्मेल आती है। आयुर्वेद में इसे मुँह की दुर्गन्ध दूर करने के लिए बहुत कारागार माना गया है। कई आयुर्वेदिक टूथपेस्ट और माउथ-वाश में भी इसका इस्तेमाल किया जाता है। आप इंस्टेंट रिलीफ के लिए पांच मिंट तक इसकी पत्तियों को चबा लें, आपके मुँह की दुर्गन्ध एकदम खत्म हो जाएगी। इसमें मौजूद एंटी माइक्रोबियल गुण मुँह के खराब बैक्टीरिया को खत्म कर देते है। अगर आप इसका नियमित सेवन करते है तो आपको मुँह की स्मेल से हमेशा के लिए छुटकारा मिल जायेगा।  

साफ़ सफाई

जो लोग अपने मुँह की अच्छे से साफ़ सफाई नहीं रखते उनके मुँह से दुर्गन्ध आने लगती है। इसीलिए जरुरी है के हर बार भोजन के बाद ब्रश करे अगर ब्रश करना पॉसिबल नहीं है तो माउथ-वाश का इस्तेमाल करें। अगर आप स्मोकिंग और ड्रिंकिंग करते है तो दिन हर बार सोमकिंग के बाद माउथ-वाश या ब्रश का इस्तेमाल जरुरी है।

जिस तरह हमे अपने शरीर और त्वचा देखभाल करना जरुरी है, उसी प्रकार अपने मुँह और दांतो की भी केयर करनी पड़ती है। केयर ना मिलने से इनमे बैक्टीरिया जमा होने लगता है और बदबू आने लगती है।