डिलीवरी के बाद मालिश करना बहुत जरुरी होता है! ये फायदे होते है

प्रेगनेंसी महिला के लिए जितना खास और नया अनुभव होता है, उतना ही बदलाव डिलीवरी के बाद भी महिला को देखने को मिलता है, क्योंकि अब उसे अपने साथ अपने शिशु का भी अच्छे से ध्यान रखना पड़ता है, लेकिन अपने शिशु का अच्छे से ध्यान वो तभी रख पाती है, जब वो खुद फिट रहती है, इसीलिए महिलाओ के लिए डिलीवरी के बाद मालिश बहुत जरुरी होती है, क्योंकि मालिश करवाने से महिला केवल शारीरिक रूप से ही नहीं बल्कि मानसिक रूप से भी फिट रहती है, मालिश करवाने से महिला को डिलीवरी के बाद जल्दी रिकवर होने में मदद मिलती है, लेकिन इस बात का ध्यान रखना चाहिए की नार्मल डिलीवरी के बाद मालिश को जल्दी शुरू किया जा सकता है, जबकि सिजेरियन डिलीवरी के बाद कम से कम बीस से पच्चीस दिन का अंतराल रखना चाहिए, तो आइये अब विस्तार से जानते है की डिलीवरी के बाद मालिश करवाने से महिला को और कौन कौन से फायदे होते है।

इन्हें भी पढ़ें:- सिजेरियन डिलीवरी के बाद ऐसे रखें अपने स्वाथ्य और खान पान का ध्यान

आराम मिलता है:-

डिलीवरी के बाद महिला को केवल शारीरिक रूप से ही नहीं बल्कि मानसिक रूप से आराम के लिए भी मालिश करवानी बहुत जरुरी होती है, क्योंकि डिलीवरी के बाद शरीर में आए बदलाव, और पूरा दिन शिशु की देखभाल के कारण महिला बहुत थक जाती है, और यदि वो मालिश करवाती है तो इससे न केवल उसे शारीरिक रूप से आराम मिलता है, बल्कि वो मानसिक रूप से भी राहत महसूस करती है।

ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है:-

शरीर को फिट रखने के लिए बहुत जरूरी होता है की आपकी बॉडी में ब्लड सर्कुलेशन अच्छे से होना चाहिए, और डिलीवरी के बाद मालिश करने से आपके शरीर में ऑक्सीजन का फ्लो भी अच्छे से होता है, जिससे आपका ब्लड सर्कुलेशन भी बेहतर होता है।

दर्द से राहत मिलती है:-

प्रसव के बाद शरीर में काफी कमजोरी आ जाती है, और शरीर के अंगो में भी दर्द रहता है, जैसे की जॉइंट पेन, पैरों में, पीठ में, दर्द होता है, और मसाज करवाने से महिला को इस दर्द से राहत पाने में मदद मिलती है, क्योंकि इससे उनके बॉडी पार्ट्स रिलैक्स महसूस करते है, और यदि आप रात के समय मसाज करके सोते है, तो आपको ज्यादा राहत मिलती है।

इन्हें भी पढ़ें:- अगर आप डिलीवरी के बाद भी पहले जैसी दिखना चाहती है? तो ये करें

कसाव आता है:-

गर्भावस्था के पूरे समय महिला का पेट बढ़ता रहता है, जिससे उसकी स्किन डिलीवरी के बाद ढीली पड़ने लग जाती है, और यदि वो मालिश करवाती है तो इससे उसकी स्किन में कसाव लाने में मदद मिलती है, जिससे उसकी बॉडी शेप बिलकुल वैसे होने में मदद मिलती है, जैसे की प्रेगनेंसी से पहले होती है।

वजन कम करने में मदद मिलती है:-

डिलीवरी के बाद अधिकतर महिलाओ का वजन बढ़ जाता है, और वजन बढ़ना किसी भी महिला को पसंद नहीं होता है, क्योंकि इसके कारण उनकी ख़ूबसूरती पर बुरा असर पड़ता है, लेकिन यदि डिलीवरी के बाद आप नियमित मसाज करते है, तो इससे आपके शरीर पर जमी चर्बी बर्न होती है, आपका पेट कम होता है, और आपके फिगर को मेन्टेन रहने में मदद मिलती है।

दूध का उत्पादन बढ़ता है:-

मालिश करने से आपके साथ शिशु को भी फायदा मिलता है, क्योंकि इसके कारण शरीर में प्रोलैक्‍टीन की मात्रा बढ़ती है, और यदि आप अपने ब्रैस्ट की मसाज करती है, तो इससे ब्रैस्ट की बंद नलिकाएं खुल जाती हैं, जिससे आपके दूध का उत्पादन बढ़ता है, और शिशु के विकास में भी मदद मिलती है।

स्ट्रेच मार्क्स कम होते है:-

डिलीवरी के बाद पेट, पेडू, और जांघो के आस पास स्ट्रेच मार्क्स पड़ जाते है, और यदि आप किसी प्राकृतिक तेल का इस्तेमाल करके नियमित उन स्ट्रेच मार्क्स पर मसाज करते हैं, तो आपको इस समस्या से निजात पाने और अपनी स्किन से हर तरह के दाग धब्बे हटाने में मदद मिलती है।

तनाव से राहत मिलती है:-

डिलीवरी के बाद महिला को एक दम से अपने अंदर इतने बदलाव और साथ ही शिशु की देखभाल वो अच्छे से कर पाएगी या नहीं इसकी इतनी परेशानी हो जाती है, जिसके कारण वो तनाव में भी आ जाती है, इससे निजात पाने में भी मालिश महिला के लिए बहुत लाभदायक होती है, ऐसा करने से महिलाको रिलैक्स महसूस होता है, जिससे वो मानसिक रूप से राहत महसूस करती है।

तो ये हैं कुछ फायदे जो महिला को डिलीवरी के बाद मालिश करवाने से होते है, साथ ही महिला को डिलीवरी के बाद अपने साथ अपने शिशु की देखभाल का भी ध्यान रखना पड़ता है, इसके लिए जरुरी है की वो वो अपने स्वास्थ्य का अच्छे से ध्यान रखें, इसके लिए प्रसूति को मालिश के साथ अपने खान पान का भी ध्यान रखना चाहिए।

इन्हें भी पढ़ें:- डिलीवरी के बाद होने वाली ढीली और लटकती हुई त्वचा से कैसे पाएं छुटकारा