Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

प्रेग्नेंट महिला को हरा प्याज़ खाना क्यों जरुरी है?

0

हरी पत्तेदर सब्जियां तो हमेशा ही फायदेमंद होती हैं। चाहे फिर वो किसी के लिए भी हो। और अगर हम बात करे किसी प्रेग्नेंट महिला की तो उनके लिए इससे अच्छी कोई बात नहीं है। गर्भावस्था में केवल महिला को ही खाने पीने से फायदा नहीं होता है, बल्कि उनके शिशु को भी उतना ही फायदा होता है। उनके शिशु का विकास बेहतर तरीके से होता है। उनके शिशु को कोई शारीरक कमी नहीं होती। कोई बीमारी जल्दी नहीं लगती और वो उनका शिशु भी स्वस्थ रहता है।

हरी पत्तेदार सब्जी में एक सब्जी का नाम है हरी प्याज। जी हां। आज हम बात कर रहे प्याज की।  प्याज २ तरह की होतीं है। एक तो जो हर कोई रोज़ सब्ज़ी में डालते है और दूसरी जो सफ़ेद और हरे रंग की होती है। और जिसे बोलचाल की भाषा या आम शब्दों में spring onion बोलते है।

कई देशों में हरी प्याज को दवाई के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। इसमे कैलोरी की मात्रा बहुत ही कम होती है।

हरी प्याज़ खाने से प्रग्नेंट महिला को क्या क्या फायदे होते है आज इस आर्टिकल के माधयम से यही बताने जा रही हूँ।

 प्रेग्नेंट महिला को  हरी प्याज खाने के फायदे

हरी प्याज  में  विटामिन ए, विटामिन बी, और विटामिन सी  भरपूर मात्रा में पाया जाता है।  ये विटामिन और थायमिन का अच्छा स्रोत है।

इसमे फाइबर की मात्रा अधिक होने के कारण  यह शरीर में फाइबर की कमी को भी पूरा करता है। इसमें कॉपर, फॉस्फोरस, मैग्नीशियम, पोटैशियम, क्रोमियम और मैगनीज पाया जाता है। जो शरीर में पोषक तत्वों की कमी को पूरा करता है।

दिल के लिए सबसे फायदेमंद

हरी प्याज में विटानीम सी पाया जाता है जो, ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने का काम करता है। जिससे दिल से जुडी बिमारिओं का कम खतरा होता है। इसमे सल्फर की मात्रा भी होती  है जिससे हदय की धमनियों को  भी खतरा नहीं होता।

DNA डीएनए के लिए सुरक्षित 

इसमें  एंटी एक्सीडेंट गुण  होते हैं जो की डीएनए (DNA) को नुक्सान पहुंचने से रोकते हैं।

सांस लेने में सहायक 

प्रेग्नेंट महिला को अक्सर खासी जुखाम तो लगा ही रहता है। क्यूंकि खासी जुखाम एक तरह से संक्रमण होता है तो यह बहुत जल्दी हो ही जाता है।  लेकिन इससे घबराने की कोई बात नहीं है।  हरी प्याज सांस की परेशानी को काम करता है। क्यूंकि यह श्वसन प्रक्रिया को बेहतर करने में सहायक होता है।

ब्लड शुगर के लेवेल को नियंत्रित रखने  में सहायक 

एक अध्ययन के मुताबिक ये गायत किया गया है की हरी प्याज में पाया जाने वाला सल्फर इन्सुलिन स्तर  को संतुलित बनाए  रखता है।  कई बार प्रेग्नेंट महिला जब मीठा अधिक मात्रा में खातीं है तो उनका शुगर  लेवल बढ़ जाता है लेकिन हरी प्याज खाने से इसे समस्या को निबटाया जा सकता है।

हड्डियों को मजबूत बनाए रखता है 

आपके के लिए हरी प्याज का सेवन बहुत जरुरी है , क्यूंकि यह विटामिन सी का पर्याप्त स्त्रोत है जो आपकी और आपके शिशु की हड्डिओं को मजबूत और क्रियाशीन बनाने में मदद करता है। यदि गर्भ में ही शिशु की हड्डिओं  का विकास अच्छी तरह से हो जाये तो तो आने वाले समय में शिशु स्वस्थ रहता है।

कैंसर में सहायक 

कैंसर जैसी बड़ी और भयंकर बीमारी के लिए भी हरी प्याज बहुत उपयोगी होती है।  सफर की मात्रा होने के कारण  यह कैंसर में बहुत लाभदायक होती है।

संक्रमण से राहत 

यह संक्रमण में भी रहत दिलाने का काम करता है। प्रेग्नेंट महिला को संक्रमण बहुत जल्दी हो जाता है और इससे बचाव के लिए हरी प्याज का सेवन जरूर करना चाहिए। इसमे पाया जाने वाला सल्फर संक्रमण से बचता है।

तो spring onion कितना फायदेमंद और उपयोगी होता है यह तो जान ही लिया आपने। हरी प्याज का इस्तेमाल आप सलाद में भी इस्तेमाल कर सकतीं है। किसी भी सब्जी को गार्निश करके उसके साथ खाया जा सकता है, इससे सब्जी  देखने में खूबसूरत तो लगेगी ही साथ ही खाने का स्वाद भी बढ़ जायेगा।

 

Leave a comment