Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

मलेरिया का घरेलू उपचार

मलेरिया एक संक्रामक रोग है जो की आपको मलेरिया के परजीवी मादा मच्छर एनोफिलेज के काटने से फैलता है, यदि आपको यह काट लेता है तो इसके परजीवी आपकी लाल रक्त कोशिकाओं में फैलने लगते है, जिसके कारण आपके अंदर एनीमिया के लक्षण उभरने लगते है, जैसे चक्कर आना, सांस फूलना, बुखार, सर्दी जुखाम, बेहोशी एक आम लक्षण होता है, इसके होने पर रोगी को बहुत अधिक ठण्ड लगती है, जिसके कारण शरीर का तापमान भी 101 से 105 तक रहता है, तो आइये आज हम आपको इसके लक्षण और इससे बचने के लिए कुछ घरेलू उपाय बताने जा रहे है जिससे आपको इस समस्या से बचने में मदद मिलेगी।

-- Advertisement --

इन्हें भी पढ़ें:- जाने क्या है डेंगू और चिकनगुनिया के लक्षण ?

मलेरिया के लक्षण:-

  • मलेरिया होने पर व्यक्ति को 101 से 105 डिग्री तक बुखार रहता है।
  • शरीर में कंपकपी छूटना, और सर्दी लगता आम बात होती है।
  • जुखाम की परेशानी का भी आपको सामना करना पड़ सकता है।
  • सर भारी महसूस होना, सांस फूलना, चक्कर व् कई बार बेहोशी भी होने लगती है।
  • मुँह के स्वाद का खराब होना, उबकाई आना भी मलेरिया का ही लक्षण है।
  • उलटी या उबकाई आना भी मलेरिया के होने का संकेत देता है।
  • भूख न लगना।
  • कमजोरी व् थकावट का अहसास होना, शरीर का टूटना भी मलेरिया का शुरुआती लक्षण होता है।

मलेरिया के लिए घरेलू उपचार:-

तुलसी का प्रयोग करें:-

tulsi 2

तुलसी का प्रयोग करने से आपको मलेरिया से राहत पाने में मदद मिलती है, क्योंकि तुलसी का इस्तेमाल आप एक औषधि की तरह किया जाता है, यदि आप दस तुलसी के पत्ते और साथ आठ काली मिर्च को लेकर थोड़े से पानी के साथ अच्छे से पीस कर उसमे स्वसदानुसार शहद मिलाकर दिन में दो बार इसका सेवन करते है, तो आपको मलेरिया से बचाव में मदद मिलती है।

अदरक का सेवन करें:-

थोड़ी सी अदरक लें, और उसमे दो तीन चम्मच किशमिश को मिलाकर पानी में डालकर एक गिलास पानी में अच्छे से उबाल लें, उसके बाद उस पानी को जब तक उबालते रहे जब तक की वो पानी आधा न रह जाएँ, उसके बाद इस पानी को ठंडा कर लें, और दिन में नियमित दो बार इसका सेवन जब तक करें जब तक की आपका बुखार अच्छे से उतर न जाए।

गिलोय का प्रयोग करें:-

गिलोय मलेरिया बुखार के रोगियों को मलेरिया से बचाने के लिए किसी वरदान से कम नहीं है, इसके इस्तेमाल के लिए आप गिलोय के रस को निकाल कर उसमे शहद को मिलाएं, और उसके बाद इसे एक गिलास पानी में मिलाकर अच्छे से दिन मे दो बार इसका सेवन करें, इसके सेवन से आपको फायदा मिलेगा, इसके अलावा आप चालीस ग्राम गिलोय को अच्छे से पीसकर किसी भी मिटटी के बर्तन में पानी को भरकर उसमे डालकर रात भर के लिए रख दें, उसके बाद इस पानी को दिन में तीन से चार बार सेवन करें ऐसा करने से आपको फायदा मिलेगा।

इन्हें भी पढ़ें:- बरसाती बुखार से बचने के घरेलू उपाय

नीम का प्रयोग करें:-

neem oil

नीम का इस्तेमाल करने से भी आपके शरीर में होने वाले मलेरिया के वायरस को खत्म करके आपको उससे निजात दिलाने में मदद करता है,इसके इस्तेमाल के लिए आप नीम के तने की छाल का काढ़ा बनाकर दिन में दो से तीन बार उसका सेवन करें, या फिर आप चार पांच नीम के पत्ते, और चार पांच काली मिर्च को पीसकर एक पेस्ट तैयार करें, और उसके बाद उसे पानी में उबाल दें, उसके बाद उसे छानकर दिन में दो से तीन बार उसका सेवन करें, दोनों से ही आपको फायदा मिलता है, साथ ही आप अपने शरीर पर नीम के तेल की मालिस करते है तो इससे भी मच्छर द्वारा फैलाएं गए वायरस का असर खत्म होने में मदद मिलती है।

दालचीनी और शहद का इस्तेमाल करें:-

शहद और दालचीनी का इस्तेमाल करने से भी आपको मलेरिया से राहत पाने में मदद मिलती है, इसके लिए आप एक गिलास पानी में एक चम्मच शहद, आधा चम्मच काली मिर्च का पाउडर, और एक चम्मच डालिनी पाउडर डालकर अच्छे से उबाल लें, और उसके बाद उस पानी को ठंडा करके इसका सेवन करें, इस उपाय को दिन में दो बार करने से आपको मलेरिया से जल्दी राहत पाने में मदद मिलती है।

चिरयता का इस्तेमाल करें:-

मलेरिया के बुखार से बचने के लिए चिरयता भी किसी औषधि से कम नहीं है इसके भी नियमित सेवन से आपको मलेरिया से राहत पाने में मदद मिलती है, इसके इस्तेमाल के लिए आप एक गिलास से थोड़ा ज्यादा पानी लें, उसमे पंद्रह ग्राम चिरयता डाल दें, उसके बाद इसमें दो लौंग, आधा चम्मच दालचीनी पाउडर, मिलाएं और इसे अच्छे से उबाल लें, और फिर थोड़ा थोड़ा करके इसका दिन में तीन से चार बार सेवन करें आपको फायदा मिलेगा।

सेंधा नमक का प्रयोग करें:-

दस ग्राम सेंधा नमक को चालीस ग्राम बूरे के साथ मिलाकर इसे दिन में तीन बार नियमित गुनगुने पानी के साथ लें, ऐसा करने से आपको मलेरिया से बचाव करने में मदद मिलेगी, साथ ही आप थोड़ा सा सेंधा नमक लेकर उसे अच्छे से तवे पर पकाएं, और जब तक पकाते रहे जब तक की वो लाल न हो जाए, उसके बाद नियमित एक चम्मच नमक को गुनगुने पानी में मिलाकर उसका सेवन करें ऐसा करने से भी आपको मलेरिया से राहत मिलती है।

जीरा का इस्तेमाल करें:-

jeera

जीरे का इस्तेमाल करने के लिए आप एक चम्मच जीरा लें, और उसे अच्छे से पीस लें, उसके बाद इसमें उसका तीन गुना गुड़ मिला दें, और इन दोनों को अच्छे से मिक्स करें, और गोलियों के रूप में तैयार करें, उसके बाद इन गोलियों को दिन में तीन बार सुबह शाम दोपहर को पानी के साथ लें, नियमित ऐसा करने से इस बुखार को खत्म करने में आपको मदद मिलती है, और यदि आप गोलियां नहीं बनाना चाहिए तो तो इस मिश्रण को तीन हिस्सों में बांटकर पानी के साथ इसका सेवन करें आपको फायदा मिलेगा।

मलेरिया से बचने के अन्य उपाय:-

  • फिटकरी को तवे पर अच्छे से भून लें, और उसके बाद उसका चूर्ण तैयार करें, उसके बाद उस चूर्ण को आधा चम्मच हर दो घंटे में पानी के साथ लें, ऐसा करने से आपको बुखार से राहत पाने में मदद मिलती है।
  • गुनगुने पानी में निम्बू डालकर दिन में दो बार उसका सेवन करने से भी आपको मलेरिया से राहत पाने में मदद मिलती है।
  • थोड़े से कालीमिर्च के पाउडर को पांच मिलीग्राम प्याज़ के रस में मिलाकर दिन में दो से तीन बार इसका सेवन करें, आपको मलेरिया से बचने में राहत मिलेगी।
  • दस ग्राम अदरक को दस मुनक्के के साथ मिलाकर एक गिलास पानी में अच्छे से उबाल लें, उसके बाद जब पानी आधा रह जाएँ, तो इसे छानकर ठंडा करके दिन में दो बार इसका सेवन करें आपको फायदा मिलेगा।
  • जामुन के पेड़ की छाल को सूखा लें, और उसके बाद उसका चूर्ण तैयार करें, पांच ग्राम चूर्ण को थोड़े से गुड़ के साथ खाएं, इसके सेवन से आपको मलेरिया से राहत पाने में मदद मिलेगी।
  • चकोतरा जो की एक फल है उसके नियमित सेवन से भी आपको मलेरिया से बचने में मदद मिलती है।
  • संतरे के जूस का सेवन भी मलेरिया के रोगियों को पीना चाहिए।
  • बुखार के तेज होने पर माथे पर बर्फ के पानी की पट्टियां रखने से भी आपको आराम मिलता है।
  • हर्बल चाय का सेवन करने से भी आपको मलेरिया के बुखार से आराम पाने में मदद मिलती है।

तो ये है कुछ घरेलू उपाय जिनका इस्तेमाल करके आप मलेरिया की समस्या से राहत पा सकते है, इसके अलावा यदि आप चाहे तो एक बार डॉक्टर से राय लेकर अच्छे से अपने शरीर की जांच भी करवा सकते है, साथ ही इन घरेलू उपाय का नियमित कुछ दिनों तक इस्तेमाल करने से आपको मलेरिया की समस्या के साथ इसमें होने वाली कमजोरी को भी दूर करने में मदद मिलती है।

इन्हें भी पढ़ें:- इन आयुर्वेदिक चीजों का इस्तेमाल करें बुखार ठीक होने के लिए

Leave a comment