गर्भ में बेबी की क्या पोजीशन है? ऐसे जानिए

गर्भ में शिशु क्या कर रहा है, बच्चे का कितना विकास हुआ है, बच्चे को बाहर की चीजों का अहसास होता है या नहीं, गर्भ में बच्चे को कोई दिक्कत तो नहीं हो रही है, गर्भ में शिशु की क्या पोजीशन है, आदि। ऐसे ही कुछ सवाल डिलीवरी का समय पास आने पर प्रेग्नेंट महिला के दिमाग में चल रहे होते हैं। खासकर डिलीवरी का समय पास आने पर बेबी अपनी सही बर्थ लेने की पोजीशन में आया है या नहीं इसे जानने की भी महिला को उत्सुकता रहती है।

पुराने समय में महिलाएं बच्चे का भार जिस तरफ महिला को ज्यादा महसूस होता है उसी तरफ बच्चे का सिर होता है ऐसा कहती थी। साथ ही ऐसे और भी अंदाज़े लगाती है जो बच्चे की पोजीशन के बारे में बताने में मदद करते हैं। क्या आप भी प्रेग्नेंट हैं और आपके मन में भी ऐसे ही सवाल चल रहे हैं? यदि हाँ, तो आइये आज इस आर्टिकल में हम आपको बच्चे को गर्भ में बच्चे की पोजीशन के बारे में आप कैसे जान सकते हैं उस बारे में बताने जा रहे हैं।

पेट के किस हिस्से में महिला को ज्यादा टाइट महसूस हो रहा है?

सबसे पहले महिला को पेट को चार रेक्टेंगल हिस्सों में बाँट लेना चाहिए और फिर देखना चाहिए की पेट का कौन सा हिस्सा है जहां महिला को सबसे ज्यादा टाइट महसूस हो रहा है या ज्यादा भार महसूस होता है। उस हिस्से में शिशु का सिर हो सकता है और शिशु के हाथ भी उसी के आस पास होते हैं।

शिशु की हार्ट बीट

बच्चे की हार्ट बीट कहाँ सुनाई दे रही है इसका पता महिला खुद तो नहीं लगा सकती है। ऐसे में इसके लिए महिला को डॉक्टर की मदद लेनी चाहिए क्योंकि डॉक्टर की मदद से इसका आसानी से पता चल सकता है। उसके बाद जहां महिला को बच्चे की हार्ट बीट सुनाई दे रही है वहां शिशु का दिल यानी सीना है और उसी के नीचे शिशु का पेट होता है।

बच्चा कहाँ ज्यादा किक कर रहा है

गर्भ में शिशु का हलचल करना महिला के लिए प्रेगनेंसी का सबसे खूबसूरत लम्हा होता है। ऐसे में गर्भ में बच्चा कीच सबसे ज्यादा कौन से हिस्से में करता है जहां महिला को जोर से झटका लगता है। गर्भ में उस हिस्से में शिशु के पैर होते हैं।

तो यह हैं कुछ आसान टिप्स जो इस बात को जानने में आपकी मदद करते हैं की गर्भ में बच्चे की क्या पोजीशन है। यदि आप माँ बनने वाली है तो आप भी इन टिप्स को ट्राई करके जान सकती है की गर्भ में शिशु की क्या पोजीशन है। साथ ही डिलीवरी का समय पास आने पर धीरे धीरे शिशु अपने जन्म लेने की सही पोजीशन में आने लगता है यानी की शिशु का सिर नीचे की तरफ और पैर ऊपर की तरफ हो जाते हैं।

How to know the baby’s position in the mother’s womb?