बच्चा नहीं होने के कारण

प्रेगनेंसी न होने के कारण, गर्भधारण न होने के कारण, बच्चा नहीं होने के कारण, प्रेगनेंसी क्यों नहीं होती है, गर्भ न ठहरने के कारण, Problems in Getting Pregnant 

प्रेगनेंसी के नौ महीने किसी भी महिला के लिए उसकी जिंदगी का सबसे अलग अनुभव होता है, क्योंकि एक माँ अपने अंदर एक नन्ही जान को रखती है और नौ महीने बाद उसे जन्म देती है। प्रेगनेंसी में होने वाली इतनी परेशानियों के बाद भी महिलाओं को उनके बच्चे के आने की सिर्फ ख़ुशी ही होती है। और उस बच्चे में वो अपने आप को ढूंढने लगती है। लेकिन कई बार महिलाओं को प्रेगनेंसी न होने की समस्या का सामना करना पड़ता है, और इसका कोई एक कारण नहीं होता है। बल्कि इसका कारण महिला को होने वाली कोई शारीरिक समस्या भी हो सकती है तो मानसिक परेशानी भी, समस्या महिला से जुडी भी सकती है और पुरुष से भी, आदि।

ऐसे में आज हम आपसे महिलाओं की प्रेगनेंसी से जुडी इस समस्या का क्या कारण हो सकता है इसी बारे में कुछ बातें करने जा रहें है जिनसे आपको महिला के प्रेग्नेंट न होने के क्या क्या कारण हो सकते हैं इस बारे में पता चलेगा। और यदि आपको पता चल जाता है की आपको प्रेगनेंसी न होने के क्या कारण है तो आपको इस खास अनुभव को जीने के लिए समय पर इसका इलाज करवाना चाहिए। तो आइये अब जानते हैं प्रेग्नेंट न होने का कारण, और साथ ही यदि आप गर्भधारण करना चाहती हैं तो इसके लिए आपको क्या क्या करना चाहिए इस बारे में भी हम आपको बताने जा रहें है।

प्रेग्नेंट न होने के कारण

प्रेगनेंसी का न होना किसी भी कपल के लिए समस्या का कारण होता है, ऐसे में इस समस्या के न होने का कारण यदि आप जान लेते है। तो आपको इस समस्या से निजात पाने में मदद मिलती है। प्रेगनेंसी के न होने का कोई एक कारण नहीं होता है। बल्कि ऐसे बहुत से कारण होते हैं जिसकी वजह से आपको यह समस्या हो सकती है। तो आइये जानते हैं की प्रेगनेंसी न होने के क्या क्या कारण होते है।

अनियमित माहवारी के कारण आती हैं प्रेगनेंसी में समस्या

प्रेगनेंसी के लिए आपका मासिक धर्म का चक्र का सही होना बहुत मायने रखता हैं। क्योंकि मासिक धर्म के सही होने पर ही सही ओवुलेशन पीरियड का पता चलता है। लेकिन यदि आपको या तो समय से पहले या बाद में पीरियड्स आते हैं या फिर ब्लीडिंग अधिक समय के लिए होती है तो यह अनियमित माहवारी होती है। जो की आपकी प्रेगनेंसी न होने का कारण बनती हैं, ऐसे में यदि आपको यह समस्या होती है तो आपको प्रेग्नेंट होने के लिए सबसे पहले इस परेशानी का इलाज करना चाहिए।

फैलोपियन ट्यूब का बंद होना

फैलोपियन ट्यूब का प्रेगनेंसी में बहुत अहम स्थान होता है क्योंकि पुरुष के शुक्राणु महिला के अंडाशय में रखे अंडे का निषेचन इस ट्यूब में ही करते हैं। जिसके कारण महिला का गर्भ ठहरता है। लेकिन यदि आपको ट्यूब बंद होती है, या उससे जुडी कोई परेशानी होती है तो निषेचन की प्रक्रिया नहीं होती है जिसके कारण आपको प्रेगनेंसी न होने की समस्या का सामना करना पड़ सकता है।

एंडोमेट्रिओसिस होने के कारण

यह एक समस्या होती है जो आपकी प्रजनन प्रणाली के साथ जुडी हुई होती है। इस समस्या के होने पर गर्भाशय की कोशिका अंडाशय, गर्भाशय, और फैलोपियन ट्यूब के आंतरिक व् बाहरी हिस्सों में फ़ैल जाती है। जिसके कारण जब निषेचन की क्रिया होती है तो यह उसे होने से रोकती है और आपको प्रेगनेंसी न होने की समस्या का सामना करना पड़ सकता है।

तनाव के कारण भी नहीं होती है प्रेगनेंसी

केवल शारीरिक कारण ही नहीं बल्कि मानसिक रूप से परेशान रहना भी आपको प्रेगनेंसी न होने की समस्या का कारण हो सकता है। क्योंकि तनाव लेने के कारण आपकी प्रजनन क्षमता पर बुरा असर पड़ता है, और आपको प्रेगनेंसी से जुडी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। इसीलिए प्रेगनेंसी का निर्णय लेने से पहले आपको शारीरिक के साथ मानसिक रूप से भी बिलकुल फिट होना चाहिए।

थायरॉइड से ग्रसित होना

थायरॉइड की समस्या होने पर भी आपको प्रेगनेंसी न होने जैसी समस्या का सामना करना पड़ सकता है। क्योंकि इसके होने के कारण आपके शरीर में हॉर्मोन का असंतुलन रहता है, जिसके कारण आपको प्रेगनेंसी से जुडी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।

बेहतर सम्बन्ध का न होना

कुछ लोग ऐसा सोचते हैं की एक बार सम्बन्ध बना लेने से प्रेगनेंसी हो जाती है, जो की गलत होता है। बल्कि प्रेगनेंसी के लिए महिला और पुरुष को बेहतर सम्बन्ध बनाने चाहिए। खासकर उन्हें अपने ओवुलेशन पीरियड का पता होना चाहिए और इन दिनों में यदि वो सम्बन्ध अच्छे से बनाते हैं तो महिला के प्रेग्नेंट होने के चांस ज्यादा होते है। ऐसे में यदि आपके अच्छे शारीरिक सम्बन्ध नहीं होते हैं तो यह भी आपके प्रेग्नेंट न होने का कारण हो सकता है।

पुरुष से सम्बंधित समस्या होना

प्रेगनेंसी के न होने का कारण हमेशा महिला से ही जुड़ा नहीं होता है, इसका कारण कई बार पुरुष के कम शुक्राणु भी हो सकते हैं। ऐसे में यदि आप दोनों डॉक्टर से चेक करवाते हैं तो आपको इसके कारण का पता चलता है। तो इसीलिए महिला के प्रेग्नेंट न होने पर एक बार पुरुष को भी अपना चेकअप जरूर करवाना चाहिए।

मोटापा

वजन का अधिक होना भी प्रेगनेंसी न होने का कारण भी हो सकता है। साथ ही आपका कम वजन भी आपकी प्रेगनेंसी न होने का कारण बन सकता है। ऐसे में प्रेगनेंसी के लिए महिला को चाहिए की वो अपने आप को फिट रखें न तो महिला का वजन बहुत अधिक होना चाहिए और न ही बहुत कम होना चाहिए।

सम्बन्ध बनाने के बाद तुरंत प्राइवेट पार्ट को साफ़ कर देना

कुछ महिलाएं जब सम्बन्ध बनाती है, तो उसके बाद तुरंत उठ जाती है, या फटाफट से अपने प्राइवेट पार्ट को साफ़ कर देती है, या यूरिन पास कर देती हैं। ऐसे में निषेचन की प्रक्रिया नहीं हो पाती है जिसके कारण महिला का गर्भ नहीं ठहरता है। और यदि महिला प्रेग्नेंट होना चाहती है तो सम्बन्ध बनाने के बाद उसे थोड़ी देर लेटे रहना चाहिए।

खराब जीवनशैली

आपकी खराब जीवनशैली भी आपके प्रेग्नेंट न होने का कारण हो सकती है, क्योंकि यदि महिला नींद भरपूर नहीं लेती है, पौष्टिक तत्वों से भरपूर आहार का सेवन नहीं करती है, नशा करती है, व् उसकी दिनचर्या अनियमित होती है, तो यह भी आपकी प्रेगनेंसी को प्रभावित करता है। ऐसे में यदि आप प्रेग्नेंट होना चाहती है तो इसके लिए सबसे पहले आपको अपनी जीवनशैली को सही करना चाहिए जिससे आपको फिट रहने में मदद मिल सके, और आपको प्रेगनेंसी से जुडी किसी भी परेशानी का सामना न करना पड़े।

उम्र कम या अधिक होने के कारण

महिला के गर्भवती न होने कारण उनकी उम्र से जुड़ा भी हो सकता है, जैसे की कम उम्र होने पर महिला का शरीर प्रेगनेंसी के लिए तैयार नहीं होता है, जिसके कारण उसे प्रेगनेंसी से जुडी परेशानी होती है। और यदि महिला की उम्र अधिक होती है तो भी महिला को प्रेगनेंसी से जुडी परेशानी हो सकती है क्योंकि इसके कारण या तो प्रेगनेंसी में कॉम्प्लीकेशन्स होती है, या फिर अंडाशय में अंडे बनने बंद हो जाते है।

बार बार गर्भपात होने के कारण

जिन महिलाओं को बार बार गर्भपात होने की समस्या हो जाती है। उन्हें भी इस परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। क्योंकि बार बार गर्भपात होने के कारण गर्भाशय की झिल्ली कमजोर हो जाती है जिसके कारण गर्भ मुश्किल से ठहरता है।

गर्भनिरोधक गोलियों का सेवन अधिक करने के कारण

गर्भनिरोधक गोलियों का अधिक सेवन भी महिला की प्रेगनेंसी से जुडी परेशानियों का कारण बन सकता है। इसीलिए जितना हो सकें महिला को इसका सेवन अधिक नहीं करना चाहिए, यदि आपको अनचाहे गर्भ से जुडी परेशानी है तो आप कॉपर टी या अन्य किसी सुरक्षा का इस्तेमाल कर सकती है।

गर्भधारण के लिए ध्यान रखे कुछ बातें

  • प्रेगनेंसी न होने पर महिला और पुरुष दोनों ही अपनी जांच करवाएं।
  • महिला को चाहिए की प्रेगनेंसी का निर्णय लेते समय उसे शारीरिक और मानसिक रूप से फिट होना चाहिए।
  • नियमित दिनचर्या का पालन करना चाहिए।
  • जब भी आप प्रेगनेंसी का निर्णय लें, तो उससे पहले आपको उन चीजों का सेवन बंद कर देना चाहिए जो की प्रेगनेंसी न होने का कारण होती हैं, जैसे की कच्चा पपीता आदि।
  • महिला को गर्भधारण करने के लिए अपने ओवुलेशन पीरियड का ध्यान रखना चाहिए और बेहतर सम्बन्ध बनाने चाहिए।
  • और यदि कोई शारीरिक समस्या या कोई बिमारी है तो उसका इलाज करवाना चाहिए ताकि आपको प्रेगनेंसी का प्यारा और अनोखा अनुभव लेने का मौका मिल सकें।
  • प्रेग्नेंट होने के लिए महिला को सम्बन्ध बनाते समय किसी भी तरह की सुरक्षा का इस्तेमाल भी नहीं करना चाहिए।

तो यह हैं कुछ कारण जिनकी वजह से आपको प्रेगनेंसी नहीं होती है। यदि आपको भी प्रेगनेंसी से जुडी कोई परेशानी आ रही है, तो सबसे पहले आपको प्रेगनेंसी न होने का कारण पता होना चाहिए। ताकि आप उस समस्या का इलाज कर सके। और आपको समय से उस समस्या का समाधान करके इस समस्या से निजात पाने में मदद मिल सकें। साथ ही महिला और पुरुष दोनों को ही अपनी जांच करवानी चाहिए और डॉक्टर से इस बारे में खुलकर बात करनी चाहिए।