Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

बरसाती बुखार से बचने के घरेलू उपाय

बदलते मौसम के साथ ही कई बार व्यक्ति बीमारियों की चपेट में आ सकता है, क्योंकि मौसम में बदलाव का असर आपके प्रतिरोधक क्षमता पर पड़ता है, और साथ ही इसके कारण आपके इम्यून सिस्टम पर भी पड़ता है, खासकर बरसात के मौसम में मच्छर आदि होने के कारण इन्फेक्शन, मलेरिया, डेंगू, आदि होने का खतरा ज्यादा रहता है, और मौसम या वातावरण में होने वाले थोडे से बदलाव से भी हमारा शरीर बहुत जल्दी प्रभावित होता है, इसीलिए मौसम में होने वाले बदलाव के समय आपको अपने शरीर का अच्छे से ख्याल रखना चाहिए, बरसाती बुखार होने का सबसे बड़ा कारण होता है इन्फेक्शन।

-- Advertisement --

इन्हें भी पढ़ें:- मानसून इन बातों से रहें दूर और रहे स्वस्थ

fever

बरसात के मौसम में सबसे ज्यादा समस्या आपको पानी के कारण होती है, इसीलिए इस समय में आपको कही भी न तो पानी को इक्कठा होने देना चाहिए और साथ ही आपको पानी को अच्छे से उबाल कर उसका सेवन करना चाहिए, क्योंकि आपका इम्यून सिस्टम कमजोर होने के कारण यह बहुत जल्दी आपको इन्फेक्शन या बुखार की चपेट में ला देता है, और बरसात का मौसम लगभग आ ही गया है, तो आइये आज हम आपको ऐसे घरेलू उपचार बताते है जिनका इस्तेमाल करके आप बरसात में होने वाले बुखार और इन्फेक्शन की समस्या से आपको बचाने में मदद करेगा, तो आइये जानते है की वो घरेलू उपाय कौन से है।

लहसुन का इस्तेमाल करें:-

garlic-12

बरसाती बुखार से राहत पाने के लिए आप घर में लहसुन के साथ सरसों के तेल का इस्तेमाल करके इस परेशानी से राहत पा सकते है, इस उपचार को करने के लिए चार या पांच लहसुन की कलियाँ लें, उसके बाद इसमें चार या पांच चम्मच सरसों का तेल डालकर इसे अच्छे से किसी बर्तन में गरम करें, उसके बाद इसे ठंडा होने के लिए रख दें, उसके बाद इस तेल को छान कर इससे अच्छे से अपने तलवो की मसाज करें, आपको राहत मिलेगी।

इन्हें भी पढ़ें:- बरसात के मौसम में इन चीजों को नहीं खाना चाहिए

तुलसी का इस्तेमाल करें:-

तुलसी किसी आयुर्वेदिक औषधि से कम नहीं है, इसमें पाए जाने वाले एंटीसेप्टिक इंग्रीडिएंट्स आपको बैक्टेरिया, वायरस के कारण होने वाले संक्रमण व् रोगो से बच्छाव करने में मदद करते है, इसके इस्तेमाल के लिए दिन में तीन से चार बार चार या पांच तुलसी के पत्तों को चाय में डाल कर अच्छे से उबाल लें, और उसका सेवन करें, इससे आपको सर्दी, खांसी, बुखार से राहत पाने में मदद मिलेगी।

पानी का सेवन भरपूर मात्रा में करें:-

बुखार होने का का एक कारण शरीर में होने वाली पानी की कमी भी हो सकता है, इसीलिए इन दिनों में आपको पानी का भी भरपूर सेवन करना चाहिए, परन्तु ध्यान रखें की पानी साफ़ हो, और हो सकें तो पानी की उबाल कर ठंडा करके उसका सेवन करें, क्योंकि बरसात में पानी के कारण ही सबसे ज्यादा इन्फेक्शन फैलता है।

शहद का इस्तेमाल करें:-

honey

शहद की तासीर गरम होती है, इसीलिए ये बुखार से राहत दिलाने के साथ आपको बरसात में होने वाली सर्दी खांसी की समस्या से भी राहत दिलाने में मदद करता है, इसके इस्तेमाल के लिए आप एक चम्मच शहद में चुटकी भर लौंग का पाउडर लें, लौंग और शहद के इस मिश्रण को दिन में दो बार लेने से ही आपको राहत का अहसास होगा।

सूखे अदरक का काढ़ा बनाकर पीएं:-

अदरक एंटी इन्फ्लैमेटरी और एंटी ऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर होता है, जो आपको बरसात के मौसम में बुखार से बचाने में मदद करता है, इसके इस्तेमाल के लिए आप एक कप पानी में एक चम्मच सूखा अदरक, एक छोटा चम्मच हल्दी, काली मिर्च और थोड़ी सी चीनी डालकर अच्छे से उबाल लें, और इस मिश्रण को जब तक उबालते रहें जब तक की की यह आधा न रह जाएँ, उसके बाद इस काढ़े का सेवन दिन में तीन से चार बार करें, आपको इसके सेवन से बुखार से राहत पाने में मदद मिलेगी।

धनिया चाय का सेवन करें:-

धनिये में फाइटोनूट्रीअन्ट और विटामिन भरपूर होते है, जो आपकी प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में आपकी मदद करते है, और प्राकृतिक तरीके से आपको बुखार से निजात दिलाने में आपकी मदद करते है, इसके इस्तेमाल के लिए आप एक गिलास पानी में एक बड़ा चम्मच धनिये के दानो को डालकर अच्छे से उबाल लें, उसके बाद इसे कप में छानकर स्वाद के अनुसार इसमें थोड़ा दूध और चीनी डालकर पीने से आपको बुखार से राहत मिलती है, दिन में दो या तीन बार आप इसका सेवन कर सकते है।

हर्बल चाय बनाकर उसका सेवन करें:-

herbal-tea

बरसात के मौसम में बुखार की समस्या से बचने के लिए आपको हर्बल चाय बनाकर उसका सेवन करना चाहिए, इसके लिए आप पुदीना, तुलसी, अदरक, शहद, निम्बू, बड़ी का फूल, काली मिर्च, दालचीनी, मुलैठी, आदि में से जो भी आपके पास हो पानी में डालकर उन्हें अच्छे से उबाल लें, और तब तक उबालते रहें जब तक पानी आधा न रह जाएँ, उसके बाद इसमें थोड़ा सा शहद मिलकर दिन में तीन से चार बार इसका सेवन करें, आपको जरूर रहत मिलेगी।

बरसाती बुखार से बचने के अन्य उपाय:-

  • साफ़ सफाई का ख़ास ध्यान रखें, अपने आस पास कही भी पानी या कूड़े का जमाव न होने दें।
  • तरल पदार्थो का सेवन भरपूर करें, परन्तु जितना हो सकें तले और मसालेदार खाने से परहेज रखें।
  • बर्फ के पानी में सूती कपडे को डालकर उसे अपने माथे पर रखें इससे भी आपको राहत मिलेगी।
  • खुले स्थान और रोड साइड बिक रही चीजों का सेवन बिलकुल न करें, क्योंकि इसके कारण आपको पेट से सम्बंधित परेशानी और इन्फेक्शन की समस्या हो सकती है।
  • कटे हुए फल सलाद आदि का सेवन न करें, क्योंकि खुले में रहने के कारण इन पर भी बैक्टेरिया का जमाव हो जाता है।
  • हरी सब्जियों का सेवन न कतरें, क्योंकि इस समय कीड़े पतंगे बहुत अधिक होते है, और यदि करते भी हैं तो साफ़ सफाई का ध्यान रखें, और दही के साथ इनका सेवन बिलकुल न करें।
  • सूखी मेथी के दानो को रात भर पानी में भिगार रखें और सुबह उठकर इन्हे पीस लें, और इसमें निम्बू का रस और शहद मिलाकर दिन में तीन से चार बार इसका सेवन करें, इससे आपको बरसाती बुखार से राहत पाने में मदद मिलती है।
  • पौधे, कूलर आदि के पानी को भी आपको बदलते रहना चाहिए, क्योंकि एक जगह पानी के जमाव से भी आपको इन्फेक्शन का खतरा रहता है।

तो ये हैं कुछ उपाय जिनका इस्तेमाल करके आप बरसाती बुखार की समस्या से बच सकते है, इसके अलावा यदि बुखार ठीक न हो रहा हो, या आप असहज महसूस कर रहे हो तो आपको डॉक्टर को दिखाना चाहिए, क्योंकि इन दिनों में वायरल के साथ डेंगू, मलेरिया भी बहुत अधिक फैलता है, इसके अलावा इन दिनों में साफ़ सफाई का भी ख्याल रखना चाहिए क्योंकि साफ़ सफाई न रखने के कारण भी आपको इन्फेक्शन हो सकता है।

इन्हें भी पढ़ें:- बरसाती घाव और फोड़े फुंसी ठीक करने के घरेलू उपाय

Leave a comment