Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

गर्म पानी का सेवन आजकल क्यों जरुरी है प्रेगनेंसी में?

0

गर्भावस्था में हर चीज के लिए सलाह दी जाती क्या खाना है, क्या नहीं, कब खाना है, कब पीना है, कब सोना है आदि लगभग हर टॉपिक पर हर कोई हमे सलाह देता है। इन सभी सलाहों में से एक सलाह सबसे बेहतर होती है पानी पीने की मात्रा को लेकर। पानी की अच्छे मात्रा का सेवन गर्भावस्था के लिए बहुत ही जरुरी है।

परन्तु गर्भवती महिला को पानी के लिए भी मन में सवाल उठ जाते है जैसे की गर्म पानी पीना अच्छा है या ठंडा पानी पीना। यह सवाल बहुत ही अच्छा भी है। गर्भावस्था में पानी की सहीं मात्रा का सेवन हमारे शरीर और शिशु के लिए बेहद जरुरी है। इसी तरह अगर पानी के टेम्परेचर गर्म हो तो यह गर्भवती महिला के लिए और भी फायदेमंद होता है।

खासतौर पर आजकल जब के हमारे आसपास का वातावरण बहुत ही प्रदूषित है। आजकल सभी लोगों को वायरल, फ्लू बहुत आसानी से पकड़ लेता है। ऐसे में गर्भवती महिला जिनकी इम्युनिटी पावर कम हो चुकी है उनके लिए खतरा और भी बढ़ जाता है। इस समय में गर्भवती महिला को गर्म पानी के सेवन से बहुत फायदा मिलेगा। आइये जानते है गर्म पानी के क्या क्या फायदे है।

डेटोक्सिफिकेशन

डेटोक्सिफिकेशन का मतलब होता है शरीर की सभी खराब बैक्टीरिया और जर्म्स को बाहर निकलना। गर्म पानी पीने से हमारे शरीर के सभी खराब टॉक्सिन्स बाहर निकल जाते है। गर्भवती महिला के शरीर से जब सभी बैक्टीरिया खत्म हो जाते है तो नुट्रिएंट्स आराम से एब्सॉर्ब हो जाते है।

पाचन

गर्भावस्था में गर्म पानी के सेवन सेपाचन क्रिया अच्छी हो जाती है। गर्म पानी शरीर के सभी बॉडी पार्ट्स में से टॉक्सिन्स साफ़ करता है जिससे खाना अच्छे से पचने में मदद मिलती है। गर्म पानी शरीर के फैट को भी खत्म करने के लिए जाना जाता है। गर्म पानी के सेवन से पाचन क्रिया अच्छी होने के साथ साथ कब्ज की समस्या भी ख़त्म हो जाती है।

उलटी

गर्भावस्था में उलटी आना और जी मचलाना बहुत ही नार्मल माना जाता है। यह सब परेशानिया ज्यादातर डिहाइड्रेशन के कारण होती है। अच्छी मात्रा में पानी के सेवन से शरीर हाइड्रेट होता है और जी घबराना, मचलना व उलटी जैसी समस्याओं से छुटकारा मिलता है।

जुकाम और फ्लू

प्रेगनेंसी के दौरान अकसर डॉक्टर सलाह देते है के हमे हर चीज से बचकर रहना है जिससे सर्दी, खांसी, जुकाम और फ्लू ना हो पाए। क्योंकि इनमें से कोई भी परेशानी होने पर हमारे शिशु पर भी असर होता है। खासतौर पर बदलते मौसम में, इसके लिए जरुरी है के हम गर्म पानी का सेवन करें। ऐसा करने से गले का इन्फेक्शन, कोल्ड, फ्लू आदि होने का खतरा कम हो जाता है।

हाइड्रेशन

गर्भावस्था में गर्म पानी के सेवन से शरीर बहुत बेहतरीन तरीके से हाइड्रेट होता है। जिससे गर्भावस्था के नार्मल हार्मोनल बदलाव आसानी से हो जाते है।

सूजन

गर्म पानी का सेवन करने से गर्भवती महिला के हाथों और पैरो में सूजन आने का खतरा कम हो जाता है। शरीर में कम बैक्टीरिया और होने से हर चीज का खतरा कम होता है।

Leave a comment