Mom Pregnancy Health Lifestyle

चर्म रोग क्या होता है? चर्म रोग के कारण, लक्षण और उपाय

चर्म रोग क्या होता है
0

चर्म रोग क्या है, त्वचा रोग के कारण लक्षण उपाय, त्वचा रोग के प्रकार, Skin Disease, Skin Infection, Charm Rog, Dad, Khaj, Khujli, Khasta, Boil, Acne, Charm Rog Ke Upay, Khasra, Eczema, Dandruff, Sunburn, Chechak, Skin Disorders, Skin Problems, Types of Skin Disease


चर्म रोग क्या होता है?

ऐसा कोई भी संक्रमण या समस्या जिससे त्वचा प्रभावित हो उन्हें चर्म रोग कहते हैं। चर्म रोग एक गंभीर रोग है जिसमे त्वचा पर दाग, काले निशान, खुजली जलन आदि की समस्या होने लगती है। अंग्रेजी में इसे एक्ज़िमा भी कहते हैं। लेकिन ये केवल एक तरह का चर्म रोग है। इसके अलावा और भी कई तरीके से त्वचा में समस्याएं होती है। जो त्वचा को स्थाई और अस्थाई रूप से प्रभावित करती हैं। आज हम आपको चर्म रोग की सम्पूर्ण जानकारी दे रहे हैं।

चर्म रोग के कारण

त्वचा शरीर का सबसे बाहरी हिस्सा होता है क्यूंकि शरीर के भीतरी अंगों की तुलना में त्वचा सीधे बाहरी वातावरण के सम्पर्क में रहती है। इसलिए बाहर की धूप, धूल, मिट्टी, गंदगी और बाकी चीजें सीधा त्वचा को प्रभावित करती हैं। चर्म रोग भी इसी कारण होता है। इसके अलावा चर्म रोग होने के और भी कई कारण हो सकते हैं। वो कारण निम्नलिखित हैं –

  • रासायनिक चीजें जैसे साबुन, डिटर्जेंट आदि का अधिक इस्तेमाल।
  • पेट में कब्ज के कारण।
  • तनाव लेने के कारण।
  • त्वचा के पोर्स और बालों के रोम में बैक्टीरिया होने के कारण।
  • त्वचा पर मौजूद कवक, परजीवी और सूक्ष्मजीव।
  • रक्त विकार होने पर।
  • साफ-सफाई न रखने पर।
  • गंदे पानी का इस्तेमाल करने से या सम्पर्क में रहने से भी त्वचा रोग होने लगते हैं।
  • शरीर से पसीना कम निकलने पर।
  • अधिक समय तक हाथ-पैर पानी में रहने के कारण भी ये रोग हो सकता है।
  • मौसम बदलने के कारण खासकर सर्दियों के दिनों में उँगलियों में ये समस्या हो जाती है।
  • महिलाओं में मासिक धर्म की परेशानी।
  • संक्रमित व्यक्ति के सम्पर्क में आने या उसके द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली चीजों को यूज करने से।
  • थायराइड, प्रतिरक्षा प्रणाली, गुर्दे की समस्या के कारण।
  • वायरस
  • कमजोर इम्यून सिस्टम
  • अनुवांशिकता

चर्म रोग के लक्षण

ऐसे तो त्वचा में जरा सी समस्या होने पर लोग डॉक्टर के पास जाते हैं। और जाना भी चाहिए। लेकिन त्वचा रोग एक ऐसी समस्या है जो बहुत तेजी से बढ़ती हैं। ऐसे में सही समय पर इलाज न किया जाए तो समस्या गंभीर हो सकती है। इसीलिए जरुरी है की आपको चर्म रोग के लक्षण पता हो। ताकि समय रहते इलाज करवाया जा सके। त्वचा रोग के लक्षण निम्नलिखित है –

  • त्वचा पर लाल-सफेद रंग के उभार।
  • खुजली होना।
  • त्वचा में खुरदुरापन।
  • त्वचा का छिलना।
  • छाले होना।
  • बाहरी हिस्से पर घाव या जख्म होना।
  • सुखी व् ड्राई स्किन।
  • त्वचा पर धब्बे आना।
  • मस्से या अन्य रूप में त्वचा पर उभार आना।
  • त्वचा के रंग में असमानता।
  • चेहरे, कान, गर्दन, धड़ में गर्मी महसूस होना।
  • त्वचा के उभरे हिस्से पर दर्द होना।
  • सूजन, रैशेस और जलन की समस्या।
  • त्वचा पर दाने निकलना।
  • बुखार आना।

चर्म रोग के प्रकार

त्वचा में होने वाली समस्यायों को चर्म रोग कहते हैं। और ये कई प्रकार के होते हैं। यहाँ हम उन्ही के बारे में बता रहे हैं –

  • Acne (मुहांसे)
  • Athlete Foot (पैरों के दाद)
  • Boil (बालतोड़)
  • Dermatitis (त्वचा पर खुजली और लाल दाने)
  • Dandruff (रुसी)
  • Eczema (एक्जिमा)
  • Lucoderma (सफेद दाग)
  • Measles (खसरा, छोटी माता)
  • Melasma (त्वचा पर भूरे दाग)
  • Miliaria (घमौरी)
  • Nail Infection (नाखूनों में संक्रमण)
  • Psoriasis (सोरायसिस)
  • Ringworm (दाद)
  • Scabies (खाज)
  • Small Pox (चेचक, बड़ी माता)
  • Sunburn (धूप में झुलसी त्वचा)
  • Wart (मस्सा)

चर्म रोग के उपाय

त्वचा में होने वाली समस्यायों से बचने के लिए आपको कुछ विशेष बातों का ख्याल रखना होगा।

  • एक्जिमा ठीक करने के लिए रोजाना समुद्र के पानी में नहाएं।
  • त्वचा के रोग होने पर नमक का सेवन कम से कम करें। या हो सके तो नमक खाएं ही नहीं।
  • त्वचा में संक्रमण आदि होने पर रोजाना नीम के पत्तो को पानी में उबालकर नहाएं। जलन और खुजली कम होगी।
  • साफ-सुथरे धुले हुए कपडे पहनें।
  • खट्टी, चटपटी, मीठी चीजों का सेवन ना करें। ये रोग को बढ़ा सकते हैं।
  • अगर त्वचा रोग गीले किस्म का है तो पानी का इस्तेमाल ना करें।
  • गेंदे के फूल में एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-वायरल तत्व होते हैं जो चर्म रोग में लाभ पहुंचाते हैं। गेंदे की पत्तियों को पानी में उबालकर दिन में दो बार चर्म रोग से प्रभावित हिस्से पर लगाएं।
  • अलसी का प्रयोग करके भी त्वचा रोग ठीक होता है। अलसी में ओमेगा 3 एसिड होता है जो पाचन तंत्र को मजबूत करता है और चर्म रोग में राहत मिलती है। इसीलिए अलसी के तेल की 1 से 2 चम्मच का रोजाना सेवन करें।

ये कुछ उपाय हैं जिनकी मदद से त्वचा में होने वाले रोग को ठीक किया जा सकता है। दोस्तों, चर्म रोग बहुत कष्टदायी होता है। इसलिए उसका समय रहते उपचार कराना जरुरी होता है। चर्म रोग एक ऐसी समस्या है जो समय के साथ पुरे शरीर में फैल सकती है। तो बेहतर यही है तो समय रहते इलाज करवा लिया जाए। एक बात और, ये उपाय केवल जानकारी मात्र के लिए हैं किसी भी उपाय का इस्तेमाल करने से पूर्व डॉक्टर को दिखा लें और उनके बताए अनुसार ही इलाज करें। ताकि समस्या से जल्द से जल्द छुटकारा पाया जा सके।