Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

च्यवनप्राश खाने से क्या-क्या फ़ायदे होते है?

च्यवनप्राश खाने के फ़ायदे :- आज के समय की तुलना में पहले के समय का खाना अत्यंत शुद्ध और लाभकारी हुआ करता था. लेकिन आज कल न तो किसी खाने में शुद्धता रही है और न ही वो ताकत. जिसकी वजह से लोगो को खाने से मिलने वाला पोषण अधूरा रह जाता है. शरीर में पोषण की इसी कमी पूरा करने के लिए लोग विभिन्न हेल्थ सप्लीमेंट्स का सहारा लेते है. एक तरफ कोई विटामिन्स और आयरन की टेबलेट्स लेता है तो कोई अगल-अलग प्रोटीन्स ड्रिंक पीता है. इन्ही हेल्थ सप्लीमेंट्स में से एक है च्यवनप्राश. जो इंस्टेंट एनर्जी देने और Immune system को मजबूत करने में मदद करता है.

-- Advertisement --

च्यवनप्राश एक जानी-मानी आयुर्वेदिक औषधि है जिसे बनाने में बहुत सी प्राकृतिक जड़ी-बूटियों का प्रयोग किया गया है. इस औषधि को इसका नाम महर्षि चवन के नाम से मिला है. न केवल बच्चे बल्कि बड़ो के लिए भी ये एक फायदेमंद औषधि है. इसमें cholesterol zero मात्रा में पाया जाता है. आयुर्वेद के अनुसार chyawanprash एक बेहतर Anti Oxident है जो स्वास्थ्य को साफ़ करने में मदद करता है.

आज से नहीं बल्कि पिछले कई सालों से च्यवनप्राश का प्रयोग किया जाता आ रहा है. च्यवनप्राश के फायदों के बारे में आयुर्वेद में भी पढ़ा जा सकता है. यदि छोटे बच्चो को नियमित रूप से chyawanprash दिया जाये तो सामान्य तौर पर होने वाली बीमारियां जैसे सर्दी, खासी, बुखार आदि से जल्दी राहत मिलती है.

च्यवनप्राश क्या है?

Chyawanprash आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों से बना एक हेल्थ सप्लीमेंट है जिसका सेवन लोग अपने स्टैमिना को बढ़ाने के लिए करते है. छोटी से बड़ी उम्र तक के सभी लोग च्यवनप्राश का सेवन करते है. Chyawanprash के नियमित सेवन से महिलाओ और पुरुष दोनों को फ़ायदा मिलता है. इसका स्वाद मीठा, खट्टा और हल्का मसालेदार होता है. इसका रंग हल्का भूरा-काला होता है जो कुछ हद तक फलो के जैम की तरह होता है.

च्यवनप्राश के घटक :-

जैसा की आप सभी जानते है की च्वनप्राश का निर्माण कई सारे प्राकृतिक herbs और पौधों के अर्क से किया जाता है जिनमे औषधीय गुण पाए जाते है. कहा जाता है chyawanprash बनाने का वास्तविक फार्मूला लगभग हज़ारो साल पुराना है. इसके निर्माण में प्रयोग किये जाने वाले herbs और extracts Immunity power को बढ़ा कर शरीर में एनर्जी प्रदान करते है. भारत में हिमालया, झंडू और डाबर जैसी नामी कंपनिया च्यवनप्राश का निर्माण करती है. च्यवनप्राश के मुख्य ingredients निम्न है :-

  • आँवला
  • अश्वगंधा
  • नीम
  • पिप्पली
  • सफ़ेद चन्दन पाउडर
  • तुलसी
  • केसर
  • इलायची
  • अर्जुन
  • ब्राह्मी
  • कुसुम शहद
  • घी

ऐसे तो विज्ञापनों और अपने बड़े-बूढ़ो से इसके बारे में जानकर सभी इसके पूर्ण फायदों से परिचित है लेकिन आज भी कुछ लोग है जो इसके पूर्ण फायदों को नहीं जानते. इसीलिए आज हम आपको च्यवनप्राश खाने के फायदों के बारे में बताने जा रहे है. ताकि आप भी इसके सेवन का लाभ उठा सके.

कितनी मात्रा में लें?

यूँ तो च्यवनप्राश के डिब्बे पर इसके सेवन का मात्रा लिखी होती है लेकिन कई बार अधूरे प्रिंट या किसी अन्य कारण की वजह से लोग इसके सेवन की मात्रा का पता नहीं लगा पाते. परेशान न हो आज हम आपको च्यवनप्राश की dossage की सही मात्रा भी बताये देते है.

ऐसे देखा जाये तो सभी के लिए च्यवनप्राश बेहद फायदेमंद है. लेकिन इसके सेवन की भी कुछ सीमा होती है. एक दिन में 12-24 ग्राम च्यवनप्राश को एक ग्लास गुनगुने दूध में मिलाकर पीना चाहिए. इससे अधिक ये नुकसानसेह भी हो सकता है.

क्योकि इसकी तासीर बेहद गर्म होती है इसीलिए ये पित्त में भी वृद्धि करता है. इसीलिए जिन लोगो को पित्त विकार है उन्हें इसकी कम मात्रा लेनी चाहिए. इसके अलावा इसे पचाने में भी अधिक क्षमता लगती है. इसीलिए डायरिया और पेप्टिक अल्सर में इसका प्रयोग थोड़ा सावधानी से करना चाहिए.

च्यवनप्राश को या तो खाने से आधा घंटे पहले या खाना खाने से एक घंटे बाद ही खाना चाहिए. बड़े लोग इसे दूध और पानी के साथ ले सकते है. 5 वर्ष से कम आयु के बच्चो को chyawanprash नहीं देना चाहिए. बेहतर होगा 10 वर्ष की आयु के बाद ही बच्चो को च्यवनप्राश दें.Sardi Jukam ke karan

च्यवनप्राश के फ़ायदे :-

  • मौसम में परिवर्तन के कारण होने वाले सामान्य इन्फेक्शन्स को ठीक करने में मदद करे.
  • सर्दियों और मानसून के प्रारंभ होने पर बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है ऐसे में chyawanprash का सेवन करने से लाभ मिलता है.
  • इस दौरान इन्फेक्शन और बुखार से पीड़ित लोग यदि च्यवनप्राश का सेवन करे तो आराम मिलता है.
  • च्यवनप्राश के नियमित सेवन से body की फंगल और बैक्टीरियल इन्फेक्शन्स से लड़ने की क्षमता में वृद्धि होती है.
  • यदि आपका पाचन तंत्र कमजोर है तो नियमित रूप से च्यवनप्राश का सेवन करें.
  • ये streamline bowel movements और खाने को पचाने में मदद करता है.
  • इसमें मौजूद दालचीनी और आँवला पेट फूलने की समस्या से निजात दिलाने में मदद करता है.
  • कब्ज में राहत पाने के लिए भी chyawanprash का सेवन फायदेमंद होता है.
  • श्वास से सम्बंधित समस्यायों को दूर करने के लिए भी इसका सेवन किया जा सकता है.
  • इसमें मौजूद जड़ी-बूटियां लंबे समय से चली आ रही और पुरानी श्वास संबंधी समस्याएं ठीक करने में मदद करती है.
  • च्यवनप्राश फेफड़ो की कार्यक्षमता को बढ़ाने में भी मदद करता है.
  • इसके सेवन से त्वचा चमकदार और स्वस्थ रहती है.
  • chyawanprash में विटामिन C और आँवला जैसी कई फायदेमंद जड़ी बूटियां पायी जाती है जो आपकी त्वचा को स्वस्थ रखने में मदद करती है.
  • नियमित रूप से च्यवनप्राश का सेवन करने से बढ़ती उम्र की निशानियो को भी कम किया जा सकता है.
  • इसमें मौजूद केसर आपके complexion को बढ़ाने में भी मदद करता है.
  • खून साफ़ करने के लिए च्यवनप्राश एक बेहतर प्राकृतिक औषधि है.
  • ये हमारे शरीर से सभी टॉक्सिन्स को बाहर निकलता है जिससे खून साफ़ होता है.
  • च्यवनप्राश हमारे प्रकृतिक blood purification process को भी बढ़ावा देता है.

Chyawanprash Khane ke fayde 

  • शायद आप नहीं जानते लेकिन chyawanprash का सेवन करने से यौन कौशल में वृद्धि होती है.
  • साथ ही यौन संबंधी समस्यायों को दूर करने में भी मदद करता है.
  • इसमें मौजूद जड़ी-बूटियां मासिक धर्म को नियमित करती है.
  • च्यवनप्राश में मौजूद आयुर्वेदिक जड़ी बूटियां हमारी तांत्रिक प्रणाली पर अच्छा प्रभाव डालती है.
  • इसके सेवन से तनाव की समस्या को भी दूर किया जा सकता है.
  • chyawanprash का सेवन करने वालो की स्मरण शक्ति बेहद अच्छी होती है.
  • इसमें मौजूद Plant herbs मस्तिष्क की कार्यक्षमता को बढ़ाने में मदद करते है .
  • यदि आपका बच्चा भी पढाई में ध्यान नहीं लगा पाता तो उसे च्यवनप्राश दे.
  • कई लोग अपनी दिनचर्या में बहुत अधिक थक जाते है. यदि आपके साथ भी यही समस्या है तो नियमित रूप से chyawanprash का सेवन करें.
  • इंस्टेंट एनर्जी पाने के लिए ये सबसे अच्छा और फायदेमंद उपाय है.
  • च्यवनप्राश का सेवन करने से शरीर में मेटाबोलिज्म नियंत्रित रहता है जिससे वजन घटाने में मदद मिलती है.
  • हृदय को स्वस्थ रखने के लिए नियमित रूप से च्यवनप्राश का सेवन करें.
  • chyawanprash खाने से खून में cholesterol की बढ़ी हुई मात्रा को कम करने में मदद मिलती है.
  • ये Blood pressure को भी संचालित करने में मददगार है.
  • Chyawanprash के सेवन से बालो और नाखुनो को भी स्वस्थ रखा जा सकता है.
  • इसमें मौजूद anti oxidents समय से पहले सफ़ेद हुए बाल और टूटे हुए नाखुनो को ठीक करे.
  • च्यवनप्राश में vitamin C पाया जाता है जो शरीर को वायरस और बैक्टीरिया से बचाता है.
  • जुखाम और कफ की समस्या में इसका सेवन करने से फ़ायदा मिलता है.
  • Urine infections से ग्रसित व्यक्ति को chyawanprash का सेवन करना चाहिए.
  • च्यवनप्राश Immunity level को boost करने में भी मदद करता है.
Leave a comment