Lifestyle, Pregnancy, Health, Fitness, Gharelu Upay, Ayurveda, Beauty Tips Online News Magazine in Hindi

गर्भावस्था में कब्ज़ होने पर क्या करें?

0

प्रेगनेंसी जहां एक महिला के लिए बहुत ही ख़ुशी का अनुभव होता है। वहीँ साथ ही गर्भवती महिला को इस दौरान बहुत सी शारीरिक परेशानियों का सामना भी करना पड़ सकता है। और अधिकतर महिलाएं प्रेगनेंसी के दौरान कब्ज़ की समस्या का सामना जरूर करती है। और कब्ज़ की समस्या होने के कारण महिला को सीने में जलन, पेट में गैस, उल्टी आने का मन होना, खट्टी डकार, जीभ के स्वाद में गड़बड़ी जैसी समस्या भी हो सकती है।

लेकिन यह कोई ऐसी दिक्कत नहीं है की जिसका कोई समाधान न हो। बल्कि प्रेगनेंसी के दौरान यदि महिला अपने खान पान व् अन्य कुछ छोटी छोटी बातों का ध्यान रखती है तो इससे कब्ज़ की समस्या दूर हो सकती है। तो आइये अब विस्तार से जानते हैं की प्रेगनेंसी में कब्ज़ होने के क्या कारण होते हैं और प्रेग्नेंट महिला किस प्रकार इस परेशानी से निजात पा सकती है।

प्रेगनेंसी में कब्ज़ होने के कारण

गर्भावस्था के दौरान महिला को किसी एक कारण की वजह से ही कब्ज़ की परेशानी नहीं होती है। बल्कि इसके कई कारण हो सकते हैं। तो आइये अब जानते हैं प्रेगनेंसी में कब्ज़ होने के क्या कारण हो सकते हैं।

बॉडी में हार्मोनल बदलाव: गर्भावस्था के दौरान बॉडी में लगातार हार्मोनल बदलाव होते रहते हैं। और इन्ही हॉर्मोनल बदलाव के साथ बॉडी में प्रोजेस्ट्रोन का स्तर बढ़ सकता है, जिसकी वजह से कब्ज़ की समस्या हो सकती है।

पानी की कमी: गर्भवती महिला यदि पर्याप्त मात्रा में पानी का सेवन नहीं करती है तो शरीर में पानी की कमी होने के कारण भी कब्ज़ की समस्या हो सकती है।

आहार के कारण: यदि गर्भवती महिला अपने आहार में फाइबर युक्त चीजों का सेवन कम करती है तो इस कारण भी प्रेग्नेंट महिला की पाचन क्रिया धीमी पड़ सकती है। जिसके कारण प्रेग्नेंट महिला को कब्ज़ जैसी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।

दवाइयों के कारण: आयरन व् अन्य दवाइयां जो महिला प्रेगनेंसी में ले रही होती है कई बार उन दवाइयों के असर के कारण भी महिला को यह दिक्कत हो सकती है।

शारीरिक श्रम में कमी: प्रेगनेंसी के दौरान आराम करना बहुत जरुरी होता है। लेकिन यदि गर्भवती महिला हमेशा रेस्ट ही करती रहती है तो इसके कारण भी शरीर की क्रियाओं पर असर पड़ सकता है। जिसके कारण पाचन क्रिया पर असर पड़ने की वजह से महिला को कब्ज़ जैसी दिक्कत हो सकती है।

शारीरिक बीमारी: यदि प्रेग्नेंट महिला डाइबिटीज़, हदय सम्बन्धी समस्या या अन्य किसी शारीरिक बिमारी से पीड़ित होती है। तो इसके कारण भी महिला को कब्ज़ जैसी दिक्कत प्रेगनेंसी के दौरान अधिक हो सकती है।

प्रेगनेंसी में कब्ज़ से निजात पाने के टिप्स

गर्भावस्था के दौरान कब्ज़ की समस्या होना आम बात होती है लेकिन यदि महिला कुछ आसान टिप्स का ध्यान रखती है। तो इससे गर्भवती महिला को कब्ज़ से राहत पाने में मदद मिल सकती है। तो आइये अब जानते हैं की प्रेगनेंसी में कब्ज़ से राहत पाने के कुछ आसान टिप्स कौन से हैं।

फाइबर युक्त आहार

हरी सब्जियां, संतरा, निम्बू, आंवला, दही, दलिया, दालें, सेब आदि जिन खाद्य पदार्थों में फाइबर की मात्रा मौजूद होती है। प्रेग्नेंट महिला को उनमे में किसी न किसी खाद्य पदार्थ का सेवन जरूर करना चाहिए। क्योंकि फाइबर युक्त आहार का सेवन करने से गर्भवती महिला की पाचन क्रिया को दुरुस्त रहने में मदद मिलती है। जिससे कब्ज़ व् अन्य पेट सम्बन्धी परेशानियों से महिला को बचे रहने में मदद मिलती है।

तरल पदार्थ

प्रेगनेंसी के दौरान गर्भवती महिला को पानी व् अन्य तरल पदार्थों का भी भरपूर सेवन करना चाहिए। क्योंकि ऐसा करने से गर्भवती महिला को कब्ज़ की परेशानी से राहत मिलने के साथ अन्य शारीरिक परेशानियों से बचे रहने में भी मदद मिलती है। और इसके लिए दिन में आठ से दस गिलास पानी पीने के साथ नारियल पानी, फलों के रस आदि का भी भरपूर सेवन करना चाहिए। इसके अलावा निम्बू पानी पीने से भी कब्ज़ से बहुत जल्दी निजात पाने में मदद मिलती है।

दही या छाछ

नियमित प्रेग्नेंट महिला को एक कटोरी दही या छाछ का सेवन भी भोजन के साथ जरूर करना चाहिए। क्योंकि दही या छाछ पेट के लिए बहुत अच्छी होती है, साथ ही दही खाने से खाने को अच्छे से हज़म होने में मदद मिलती है। जिससे कब्ज़ जैसी परेशानी से प्रेग्नेंट महिला को बचे रहने में मदद मिलती है।

खट्टे फल

संतरा, निम्बू, मौसम्बी, आंवला, जैसे फलों का सेवन भी कब्ज़ से राहत पाने में मदद करता है। ऐसे में रोजाना किसी न किसी फल का सेवन जरूर करना चाहिए।

सेंधा नमक

खाने को बनाने के लिए सफ़ेद नमक की बजाय सेंधा नमक का इस्तेमाल करें। सेंधा नमक खाने से पाचन क्रिया को दुरुस्त रहने में मदद मिलती है। जिससे प्रेग्नेंट महिला को इस बचने में मदद मिलती है।

व्यायाम

थोड़ा बहुत व्यायाम करने व् योगासन करने से भी पेट की मांसपेशियों को आराम मिलता है। जिससे पेट में गैस, कब्ज़ जैसी परेशानियों से राहत पाने में मदद मिलती है।

खाने का तरीका

कब्ज़ से निजात पाने के लिए आपको अपने खाने के तरीके पर भी ध्यान देना चाहिए। जैसे की खाने को अच्छे से चबाकर खाना चाहिए। एक ही बार में पेट भरकर खाने से अच्छा थोड़ा थोड़ा करके थोड़ी थोड़ी देर में खाएं। ऐसा करने से खाने को अच्छे से हज़म होने में मदद मिलती है। जिससे कब्ज़ आदि की परेशानी से प्रेग्नेंट महिला को रहत पाने में मदद मिलती है।

तो यह है प्रेगनेंसी में कब्ज़ होने के कारण व् उससे निजात पाने के आसान टिप्स, ऐसे में यदि आप भी माँ बनने वाली है। और आप भी पेट सम्बन्धी दिक्कत से परेशान हैं तो इन आसान टिप्स का इस्तेमाल करके आप आसानी से इस समस्या से निजात पा सकती है।

Leave a comment