कॉपर-टी का इस्तेमाल कैसे किया जाता है?

अनचाही प्रेगनेंसी से बचाव के लिए आज कल मार्किट में बहुत से उपचार उपलब्ध हैं। जैसे की गर्भनिरोधक गोलियां, कं*डो*म, इंजेक्शन, रिंग, आदि। वैसे ही एक और तरीका है जिसका इस्तेमाल करने से महिला अनचाही प्रेगनेंसी के डर से बच सकती है। और वो है कॉपर-टी, इस तरीके का इस्तेमाल करने से महिला प्रेगनेंसी के डर व् तनाव से बच सकती है। और साथ ही अपने पार्टनर के साथ अपने संबंधों को खुलकर एन्जॉय कर सकती हैं। तो आइये अब जानते हैं की कॉपर-टी क्या होती है, और किस तरह इसका इस्तेमाल किया जाता है।

कॉपर-टी क्या होती है?

  • कॉपर टी ताम्बे व् प्लास्टिक से बना एक उपकरण होता है।
  • जिसे इंट्रायूटेरिन डिवाइस भी कहा जाता है।
  • जो टी के आकार का होता है।
  • यह उपकरण महिला के गर्भाशय में फिट किया जाता है।
  • जिससे महिला के अंडे तक पुरुष के शुक्राणु नहीं पहुँच पाते हैं।
  • जिसके कारण महिला का गर्भ नहीं ठहर पाता है।
  • और महिला को अनचाहे गर्भ की समस्या से बचे रहने में मदद मिलती है।

इंट्रायूटेरिन डिवाइस को कितने समय के लिए लगवाया जा सकता है?

  • यदि कोई महिला कॉपर टी लगवाती है तो यह कम से कम तीन व् ज्यादा से ज्यादा दस साल के लिए लगवाई जा सकती है।
  • इसके अलावा पांच साल के लिए भी इसे लगवाया जा सकता है।
  • साथ ही यदि महिला को कॉपर टी लगवाने से कोई दिक्कत हो या महिला गर्भधारण करना चाहती हो।
  • तो महिला अपनी मर्ज़ी से इसे निकलवा भी सकती है।

कॉपर टी का इस्तेमाल कैसे किया जाता है

  • सबसे पहले तो आप कॉपर का इस्तेमाल अपने आप नहीं कर सकते हैं।
  • इसके लिए आपको डॉक्टर की मदद लेनी जरुरी होती है।
  • डॉक्टर्स सबसे पहले एक पतले पाइप में कॉपर टी के दोनों सिरों को नीचे की और झुकाकर डाल देते हैं।
  • उसके बाद इस पाइप को महिला के प्राइवेट पार्ट से गर्भशय तक पहुंचाया जाता है।
  • और वहां जाकर कॉपर टी को वहीँ छोड़ दिया जाता है और पाइप को निकाल लिया जाता है।
  • जैसे ही कॉपर टी को छोड़ दिया जाता है वैसे ही अपने आप यह होनी जगह पर फिट हो जाती है।
  • और फिट होने के बाद यह अपना काम करना शुरू कर देती है।
  • इसके बाद सम्बन्ध बनाने पर जब भी पुरुष के शुक्राणु अंडे तक पहुँचने की कोशिश करते हैं।
  • वैसे ही कॉपर के संपर्क में आते ही नष्ट हो जाते हैं।
  • जिससे निषेचन नहीं हो पाता है और महिला गर्भधारण से बची रहती है।

इंट्रायूटेरिन डिवाइस लगवाने के फायदे

  • महिला को अनचाहे गर्भ से आसानी से बचने में मदद मिलती है और यह एक असरदार उपाय भी है।
  • जब भी महिला गर्भधारण करना चाहती है तब महिला इसे निकलवा सकती है।
  • कॉपर टी का इस्तेमाल करने से महिला को अनचाही प्रेगनेंसी के कारण होने वाले तनाव से बचने में मदद मिलती है।
  • सस्ता होने के साथ लम्बे समय तक महिला को अनचाहे गर्भ के डर से बचाने के लिए यह अच्छा विकल्प है।
  • कॉपर टी लगवाने से महिला को अपने पार्टनर के साथ बिना डर के सम्बन्ध को एन्जॉय करने में मदद मिलती है।

कॉपर टी लगवाने के साइड इफ़ेक्ट

  • इसका इस्तेमाल करने के कारण महिला को हलके फुल्के पेट में दर्द व् ऐंठन की समस्या रह सकती है।
  • कॉपर टी लगवाने के कारण महिला को पीरियड्स के दौरान ज्यादा ब्लीडिंग होने की समस्या हो सकती है।
  • जिन महिलाओं को ताम्बे से एलर्जी होती है उन्हें इसका इस्तेमाल करने के कारण खुजली, रैशेस जैसी समस्या हो सकती है।
  • यदि कॉपर टी अच्छे से नहीं लगाईं जाती है। तो इसके कारण महिला को चोट लगने, घाव होने जैसी समस्या हो सकती है।
  • इस तरीके का इस्तेमाल करने पर भी महिला को यौन संक्रमित रोग का शिकार हो सकती है।

तो यह है कॉपर टी से जुडी कुछ बातें, यदि आप भी अनचाहे गर्भ से बचने के लिए कॉपर टी का इस्तेमाल करने के लिए सोच रही हैं। तो इस बात का ध्यान रखें की कॉपर टी लगवाने के लिए सही डॉक्टर का चुनाव करें, किसी भी ऐसे वैसे डॉक्टर से कॉपर टी न लगवाएं।